https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

नक्षत्र – पूर्वाषाढा

रंगः काला
भाग्यशाली अक्षरः ब और ज

पुर्वाषाढा नक्षत्र के इष्टदेव, जो आठ वसुओं में से एक है, और पवित्र जल के देवता हैं | इसका प्रतीक एक सूप, होता हैं जिसका प्रयोग अनाज को भूसी से अलग करने के लिए किया जाता हैं | यह नक्षत्र रचनात्मक उपचार और पोषण करने वाला होता हैं |जिस तरह नदी बह कर समुद्र में मिल जाती हैं उसी तरह से ये जिससे मिलना हैं उसकी खोज में निकल जाते हैं |इस नक्षत्र के अंतर्गत जन्में जातकों में अपने आपको निरंतर सुधारने की इच्छा रहती हैं | इस नक्षत्र का अर्थ युद्ध की घोषणा भी होता हैं |इस नक्षत्र का एक और नाम भी हैं अपराजित, जिसका अर्थ हैं जिसे कोई हरा नहीं सके | इसलिए, पुर्वाषाढा नक्षत्र के लोग निडर, आक्रामक और टकराने वाले होते हैं | लेकिन कई मामलों में, जब ये साहसी होने का नाटक करते हैं, ये वास्तव में उस स्तर तक नहीं पहुँच पाते हैं जब तक कि परिस्थितियों या लोगो द्वारा मजबूर नहीं कर दिए जाते हैं | ये निश्चितता में कमी की वजह से चाहते हैं कि समस्याएं बस किसी तरह गुजर जाए | ये अपनी कमियों को देखने में विफल हो जाते हैं और आलोचनात्मक हो जाते हैं | पुर्वाषाढा में उपस्थित चंद्रमा इंगित करता हैं कि इनसे बहस में कोई नहीं जीत सकता हैं | ये बेहद जिद्दी होते हैं और अगर उकसाया जाय तो बहसबाजी पर उतारु हो जाते हैं | और नफ़ा नुकसान के बारे में सोचे बिना निर्णय ले लेते हैं | ये दूसरों के लिए बहुत कुछ करते है बिना किसी बदले की उम्मीद के, तो भी इनकी निंदा होती हैं | इनका अपने दोस्तों के साथ मजबूत लगाव होता हैं | लेकिन इन्हे अजनबियों के माध्यम से अधिक लाभ होता हैं | ये भगवान से डरने वाले, विनम्र, ईमानदार और द्वेष और पाखंड से कोसो दूर होते हैं | इनकी धर्म और अनुष्ठान में रुचि होती हैं | इस नक्षत्र के जातक पानी (नदियों और समुद्र) द्वारा यात्रा को बढ़ावा देते हैं | इन्हे यौन संबधो की ज्यादतियों से भी बचना चाहिए | इन्हे गर्भाशय और मूत्राशय से संबंधित रोगों से सावधान रहना चाहिए | पेशे से, पुर्वाषाढा नक्षत्र के लोग शिपिंग, नौकायन, समुद्री जीवन और पानी की उपयोगिताओं से संबंधित कार्य करते हैं |

With Ganesha’s Grace,
Dharmeshh Joshi,
www.GaneshaSpeaks.com

Follow Us