https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

नक्षत्र – भरणी

भरणी मेष राशि के पहले 30 डिग्री में आता है

रंग: रक्त लाल
भाग्यशाली अक्षर: ल
खगोलीय नाम: 35 एरीटिस

भरणी राशि चक्र में दूसरा सितारा है। इस सितारे के अंतर्गत जन्म लेने वाले मध्यम कदकाठी के, काफी बड़ी गर्दन और सुंदर आँखों वालों वाले होते हैं। उनको भौंवें मोटी होती हैं और दांत की पंक्ति आड़े तिरछे होते हैं। यद्यपि वे दिल से अच्छे होते हैं लेकिन वे अपने मुखर स्वभाव के कारण लोगों द्वारा नापसंद किए जाते हैं। वे कभी भी अपनी राय को नहीं छिपाते भले ही उससे उनका रिश्ता खराब हो। वे कभी भी चापलूसी के माध्यम से लाभ नहीं प्राप्त करते। वे हमेशा सही इरादे से आलोचना के लिए तैयार रहते हैं तथा कमान व नेतृत्व के लिए पैदा हुए हैं। हालांकि इस नक्षत्र के अंतर्गत जन्म लेने वाले जातक अफवाहों के कारण अक्सर काफी समय बेकार करते हैं। इस नक्षत्र के अंतर्गत जन्म लेने वाली महिलाएं अपने पति पर पूरा नियंत्रण रखती है यदि वे अनाड़ी होते हैं। वे किसी भी प्रकार के कार्य के लिए अनुकूल होते हैं। जीवन आमतौर पर उनके लिए 33साल की उम्र के बाद एक सकारात्मक मोड़ लाता है। इस नक्षत्र के अंतर्गत जन्म लेने वाले लोग आमतौर पर खानपान में काफी कमजोर होते हैं। वे शायद ही कभी भी किसी बड़ी बीमारी से ग्रस्त होते हैं। भरणी नक्षत्र के अंतर्गत जन्में महिलाओं को मासिक धर्म की समस्याएं और रक्ताल्पता की शिकार होती हैं। इन लोगों के लिए सूर्य की अवधि आमतौर पर चिंता की बात होती है।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

Follow Us