https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

नक्षत्र – रेवती

रंगः बादामी
भाग्यशाली अक्षरः ड और स

जोरेवती नक्षत्र का प्रतीक एक ड्रम होता हैं जो समय को चिह्नित करने के लिए प्रयोग किया जाता है, और इसके इष्टदेव पूशा होते हैं जो अदिति के बारहवें पुत्र हैं जो पोषण और सुरक्षित यात्रा के देव हैं | रेवती नक्षत्र प्रगति और जो भी चीज गतिशील है जैसे कि समय के लिए जिम्मेदार होता हैं | इस नक्षत्र के साथ जुड़े लोग शीघ्रता से प्रगति कर लेते हैं | आतिथ्य और यात्रा के दौरान सुरक्षा भी इस नक्षत्र से संबंधित है | चूंकि पूशा देवताओं के गायों के रक्षक है, ये अच्छे पालक बनते हैं | ये गायों के रक्षक गोपाल और पशुपति पशुओं के देख भाल करने वाले से भी संबंधित रहते हैं | रेवती नक्षत्र के व्यक्तियों में मानवीय गुण होते हैं और ये बड़े दिल वाले होते हैं, इनमें मनुष्यों और पशुओं दोनो के प्रति दया भावना होती हैं | ये भगवान से डरने वाले, धार्मिक और सभी नक्षत्रों के धर्मी होते हैं | ये वीर, मृदुभाषी, ईमानदार, और थोड़े गर्म स्वभाव के होते हैं | हालांकि ये अपने सिद्धांतों पर जीते हैं और दूसरों की आलोचना पर ध्यान नहीं देते हैं | इनका विरोध करने से ये आसानी से आहत हो जाते हैं | इसके अलावा, ये लंबे समय के लिए कोई रहस्य नहीं रख सकते हैं और समय से पहले निष्कर्ष पर पंहुच जाते हैं | पानी या जल क्षेत्र के पास रहने से इन्हे फ़ायदा हो सकता हैं | रेवती नक्षत्र में चन्द्रमा आने से ये सुंदर अंग, शील, और बातों के लिए नम्रता और सामग्री की इच्छा में कमी को दिखाता हैं | चाँद रेवती के साथ अपनी यात्रा प्रारंभ करके एक बार फिर से पूरा चक्र प्रांरभ करता हैं | जिस तरह से जन्म मरण का चक्र चलता हैं | इस नक्षत्र में जन्में जातक उत्कृष्ट मेजबान बनते हैं और इस अनुदान का उन्हें भारी पुरस्कार अगले जन्म के लिए मिलता हैं | ये ज्यादातर बाल रोगों से प्रभावित होते हैं | और इनके पेट, कमर, और एड़ियों से सबंधित रोग भी हो सकता हैं | इन्हे पेचिश, दंत समस्या, पेट के अल्सर और कान की समस्या आदि का संकट आ सकता हैं | ये आम तौर पर सामाजिक और धार्मिक कार्यकर्ता, अधिवक्ता, सलाहकार, बैंक के अधिकारी, शिक्षक, प्रोफेसर, ज्योतिष, कवि और लेखक, ट्रेवल एजेंट, आदि के रूप में काम करते हैं |

गणेशजी के आशीर्वाद सहित
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

Follow Us