ज्योतिषी से बात कीजिए
X

वृषभ – वृषभ अनुकूलता

वृषभ – वृषभ अनुकूलता

वृषभ – वृषभ अनुकूलता
बैल के प्रतीक चिन्ह का प्रतिनिधित्व करनेवाले वृषभ अपने कोमल, समझदारी, जमीन से जुड़े और सहृदय स्वभाव के कारण जाने जाते हैं। वृषभ जातक हमेशा ईमानदार और विश्वसनीय होते हैं। पैसे के प्रति सतर्क होने की विशेषता के कारण वे जीवन की अच्छी चीजों का आनंद उठाते हैं। वे शारीरिक और भावनात्मक दोनों ही तरह से पूर्ण होते हैं। हालांकि यह कहानी का अंत नहीं है। वृषभ जातक जिद्दी और अड़ियल होते हैं। यह उनकी विशेषता है जो अनुकूलता में समस्या पैदा करती है जो कि असल में अनावश्यक है।

वृषभ पुरुष और वृषभ महिला के बीच अनुकूलता
वृषभ पुरुष और वृषभ महिला जिद और लचीलेपन की आपसी कमी के कारण घरेलू समस्याएं आ सकती हैं। उनकी राशि हमेशा उनसे यह चाहती है कि वे अपने व्यक्तिगत निर्णय पर टिके रहें। लेकिन यह अंत नहीं है, क्योंकि दोनों में प्रेम के रिश्ते को संजोने और एकांत का आनदं उठाने का एक सुन्दर स्वभाव है।

सुसंगतता

अग्नि तत्व की राशियाँ
भूमि तत्व की राशियाँ
वायु तत्व की राशियाँ

वृषभ व्यवसाय और करियर

यह सप्ताह

व्यवसायिक मोर्चे पर प्रगति करेगे। पर शत्रु और गुप्त दुश्मन आपके खिलाप जंग छेड़ने की प्लानिंग करेंगे। हालांकि, काम की कटिबद्धता की वजह से वे आपके सामने अधिक देर तक टिक नहीं पाएंगे। आयात-निर्यात के कार्यों, जन्मभूमि से दूर काम…

वृषभ प्रेम और संबंध

यह सप्ताह

आपके पंचम स्थान पर शुक्र की सीधी दृष्टि पड़ती है। 28 और 1 के दिन चंद्र, शुक्र के साथ युति में आ जाएगा। इनका शुभ स्थानों पर आना लव रिलेशन के लिए शुभ संदेश दे रहा है। सार्वजनिक जीवन में विपरीत लिंगियों के साथ निकटता बढ़ेंगी। शादी के लिए…

वृषभ धन और वित्त

यह सप्ताह

आपकी काम के प्रति निष्ठा व समर्पण के कारण प्रारंभिक समय में आवक कम रहेगी। 28 व 1 तारीख के रोज लाभ स्थान पर चंद्र का रहना आपको आर्थिक लाभ करा सकता है। खासकर कि नौकरी कर रहे लोगों को पुरस्कार या इंसेंटिव और पगार वृद्धि की संभावना है।…

वृषभ शिक्षा और ज्ञान

यह सप्ताह

आपके पंचम स्थान में गुरू के कारण आप पढ़ाई में अच्छी तरह से ध्यान लगा सकेंगे। पर गुरू के वक्री होने से आपको अपेक्षित परिणाम के लिए ज्यादा जोर लगाना पड़ेगा। विदेश में पढ़ाई के उद्देश्य से जाने के इच्छुक जातकों को सप्ताह के मध्य में…

वृषभ स्वास्थ्य

यह सप्ताह

स्वास्थ्य के मामले में विचार करें तो शुरू-शुरू में आपके क्षमता से अधिक कार्य करने से शारीरिक थकान और सुस्ती की फरियाद रहेगी। 2व3 के रोज चंद्र व्यय स्थान में रहेगा। इस समय के दौरान मंगल के व्यय स्थान में आने से आकस्मिक चोट,रक्त…

आवधिक भविष्यवाणी