https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

गुरु गोचर 2021 – बृहस्पति के कुंभ में गोचर के कारण कैसा होगा तुला राशि पर इसका प्रभाव

गुरु गोचर 2021 – बृहस्पति के कुंभ में गोचर के कारण कैसा होगा तुला राशि पर इसका प्रभाव

गुरु का कुंभ गोचर तुला राशि पर प्रभाव

कुंभ में गुरु का प्रवेश 2021 के एक बड़े हिस्से को प्रभावित करने वाला है। फिलहाल मकर राशि में गोचर कर रहे गुरु आगामी 6 अप्रैल 2021 को शनि की राशि कुंभ में प्रवेश करेंगे। गुरु का इस राशि परिवर्तन राशिचक्र की तमाम राशियों पर अपना शुभ अशुभ प्रभाव छोड़ने वाला है। गुरु के राशि परिवर्तन 2021 के प्रभाव को हम राशि के अनुसार जान रहे हैं, इसी क्रम में हम फिलहाल तुला राशि पर गुरु गोचर के प्रभावों को जानेंगे।

तुला कुंडली में गुरु की स्थिति

तुला लग्न कुंडली में राशि परिवर्तन कर रहे गुरु कुंडली के पांचवें भाव में जाने वाले हैं। कुंडली का पांचवां भाव संतान और विद्या का स्थान है, गुरु इस भाव के स्वभाविक स्वामी या कारक है। आइए जानते हैं, गुरु का तुला कुंडली के पांचवें भाव में मौजूद रहना तुला राशि के लोगों के लिए कितना कारगर रहने वाला है।

गुरु का राशि परिवर्तन: तुला के कॅरियर और फाइनेंस पर प्रभाव

गुरु का कुंभ राशि गोचर 2021 तुला राशि के लोगों के कॅरियर और वित्त के संबंध में अनुकूल समय होगा। इस चरण के दौरान गुरु तुला कुंडली के 5 वें में मौजूद रहेगा, जो गुरु का स्वभाविक हाउस है। तुला कुंडली के पांचवें भाव में गोचर कर रहें गुरु सातवीं दृष्टि से ग्यारवें और नवीं दृष्टि से लग्न को प्रभावित कर रहे है। कुंडली के पांचवें भाव से लाभ और लग्न पर गुरु की दृष्टि तुला राशि के लोगों के लिए कई प्रकार के अनुकूल परिणाम की संभावनाओं को दिखाता है। इस दौरान आप किसी प्रकार की लंबी यात्रा पर जा सकते हैं। जो लोग मार्केटिंग के क्षेत्र में काम कर रहे हैं उन्हें व्यवसाय से संबंधित यात्राएं करने का मौका मिल सकता है। यह उन उम्मीदवारों के लिए अनुकूल समय होगा, जो सरकारी नौकरी की तलाश कर रहे हैं। विदेशी कंपनियों से जुड़े लोग भी लाभ अर्जित कर सकते हैं। यह चरण उन लोगों के लिए सकारात्मक परिणाम ला सकता है जो लॉन्गटर्म निवेश करने की योजना बना रहे हैं। जो छात्र आईलेट्स की परीक्षा के लिए दे रहे हैं, उन्हें सकारात्मक परिणाम मिलने की संभावना है। राजनेताओं से अपेक्षा की जाती है कि वे हाल के चुनावों के संबंध में वांछित परिणाम प्राप्त करेंगे। जो लोग व्यावसायिक निवेश करने की योजना बना रहे हैं, उन्हें जून के बाद निवेश करने की सलाह दी जाती है। शेयर बाजार से संबंधित लोगों को वित्तीय लाभ प्राप्त होने की संभावना है, लेकिन इस दौरान आपको अनावश्यक खर्च भी करने पड़ सकते हैं। नौकरी तलाशने वालों को मई और जून के महीने में वांछित काम के अवसर मिल सकते हैं।

उपाय – तुला राशि वालों को अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए शनिवार को तैलीय खाद्य पदार्थों का दान करना चाहिए। छात्रों को ओम नमो भगवते वासुदेवाय नमः मंत्र का पाठ करना चाहिए।

गुरु का राशि परिवर्तन: तुला के लव और रिलेशन पर प्रभाव

गुरु गोचर के दौरान आपको अपने प्यार और रिश्ते में मिक्स्ड परिणाम मिलने की संभावना है। आपको अस्थायी अच्छे या बुरे समय से निपटना पड़ सकता है। यदि आप किसी रिलेशन में हैं, तो आपको एक-दूसरे का समर्थन करने की सलाह दी जाती है। जब तक गुरु कुंभ राशि में मौजूद हैं तब तक आपको अपने संबंधों को लेकर अधिक सावधानी बरतनी चाहिए।। आपको अपने शब्दों का ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि इससे आपके साथी की भावनाओं को ठेस पहुंच सकती है। अगस्त के बाद का समय आपके लिए अनुकूल हो सकता है। यह चरण पिता – पुत्र के संबंधों में सेंध लगा सकता है। आपको अप्रैल से नवंबर तक अपने पड़ोसियों के साथ संबंधों को बनाए रखने के लिए विशेष ध्यान रखने की जरूरत है। तुला राशि के लोगों को आपने पड़ोसियों के साथ संबंधों में समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए आपको अपने शब्दों के प्रति अधिक जागरूक रहने और उन्हे सावधानी के साथ उपयोग करने की सलाह दी जाती है। प्रेमियों और वैवाहिक दंपत्तियों को एक दूसरे के लिए त्याग और बलिदान करने का प्रयास करना चाहिए। बुजुर्गों को परिवार के अन्य सदस्यों के साथ अपने संबंधों की बेहतर देखभाल करनी चाहिए।

उपाय – तुला राशि के लोगों को मानसिक शांति प्राप्त करने के लिए योग या ध्यान साधना करने की सलाह दी जाती है। आपको शिव पंचाक्षर मंत्र ओम नमः शिवाय का जाप करना चाहिए।

गुरु का राशि परिवर्तन: तुला के स्वास्थ्य पर प्रभाव

गुरु का राशि परिवर्तन का दौर तुला राशि के लोगों के लिए सामान्य स्वास्थ्य की संभावना को दर्शाता है। इस दौरान आपको गैस, एसिडिटी की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता हैं, इसलिए आपको मसालेदार और तैलीय भोजन करने से बचना चाहिए। यदि संभव हो तो केवल ताजे घर के बने खाद्य पदार्थ खाएं। जिन लोगों की अतीत में बैलून एंजियोप्लास्टी हुई थी, वे अपने स्वास्थ्य को लेकर अधिक गंभीर होना चाहिए। जो लोग अधिक वजन वाले हैं, उन्हें अपना वजन कम करना चाहिए। छात्रों का स्वास्थ्य अच्छा रहेगा, लेकिन इसे बनाए रखने के लिए, आपको उचित नींद लेनी चाहिए, उचित समय पर भोजन का पालन करके आप खुद को तनाव मुक्त रख सकते हैं। अप्रैल और मई के महीने में आपको तनाव हो सकता है, लेकिन आपको चिंतित होने से बचना चाहिए। शिशुओं अर्थात जन्म से 8 वर्ष की आयु के बच्चों का स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। गर्भवती महिलाओं को सलाह दी जाती है कि वे घर के बने खाद्य पदार्थ खाकर अपने स्वास्थ्य की देखभाल करें। इसके अलावा, आपके शरीर में पानी का स्तर कम हो सकता है, इसलिए आपको दिन में अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए। 35 – 48 वर्ष की आयु की महिलाओं को स्त्री रोग की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। जो महिलाएं आने वाले महीनों में शिशुओं की उम्मीद कर रही हैं, उन्हें मानसिक तनाव हो सकता है और इसकी वजह से आपको पीठ दर्द, पैर में दर्द और मांसपेशियों में दर्द हो सकता है। जो लोग प्रमुख स्वास्थ्य मुद्दों से निपट रहे हैं, उन्हें अपने स्वास्थ्य पर उचित ध्यान देने की आवश्यकता है और यदि संभव हो तो आपको एक देख-रेख के लिए किसी को नियुक्त करना चाहिए। परिवार नियोजन करने के लिए यह उपयुक्त समय नहीं है, ऐसा करने का सही समय जून से सितंबर के बीच है।

उपाय – महिलाओं को मां दुर्गा की पूजा करने की सलाह दी जाती है और बड़ी महिलाओं को विष्णु शास्त्र पढ़ना चाहिए। छात्रों को मंत्रों का उच्चारण करते हुए देवी सरस्वती की पूजा करनी चाहिए।

श्री गणेशजी की कृपा के साथ

गणेशास्पीक्स डॉट कॉम/हिंदी

जानिए मेष राशि के लोगों पर गुरु के राशि परिवर्तन का प्रभाव, क्लिक करें यहां

वृषभ राशि के लिए क्या उपहार लाना वाला है गुरु का राशि परिवर्तन

मिथुन राशि के लिए राशि परिवर्तन करके नवें भाव में जाएंगे गुरु, पढ़िए कुंभ के गुरु का प्रभाव यहां

गुरु नीच राशि से बाहर जाकर अब कुंभ में ट्रांजिट करेंगे, कर्क राशि के लोगों के लिए होगा विशेष प्रभाव

सिंह राशि के लोगों के लिए गुरु के राशि परिवर्तन का प्रभाव, क्लिक करें यहां

कन्या राशि के लिए क्या उपहार लाना वाला है गुरु का राशि परिवर्तन

गुरु नीच राशि से बाहर जाकर अब कुंभ में ट्रांजिट करेंगे, वृश्चिक राशि के लोगों के लिए होगा विशेष प्रभाव

धनु राशि के लोगों के लिए गुरु के राशि परिवर्तन का प्रभाव, क्लिक करें यहां

मकर राशि के लिए क्या उपहार लाना वाला है गुरु का राशि परिवर्तन

कुंभ राशि के लिए राशि परिवर्तन करके पहले भाव में आएंगे गुरु, पढ़िए कुंभ के गुरु का प्रभाव यहां

गुरु नीच राशि से बाहर जाकर अब कुंभ में ट्रांजिट करेंगे, मीन राशि के लोगों के लिए होगा विशेष प्रभाव

17 Feb 2021

View All blogs

Follow Us