गुरु गोचर 2021 – जानें बृहस्पति के कुंभ राशि में जानें पर कैसा होगा आप पर इसका प्रभाव

गुरु गोचर 2021 – जानें बृहस्पति के कुंभ राशि में जानें पर कैसा होगा आप पर इसका प्रभाव

गुरु का राशि परिवर्तन कुंभ राशि पर प्रभाव

अप्रैल की 6 तारीख को देव गुरु बृहस्पति का कुंभ राशि में गोचर होने वाला है, गुरु का राशि परिवर्तन 2021 राशिचक्र की विभिन्न राशियों को प्रभावित करने वाला है। किसी कुंडली में गुरु के मुख्य प्रभाव अपने स्थान के अलावा पांचवें, सातवें और नवें स्थान पर प्रमुख रूप से देखने को मिलते हैं। कुंभ राशि में गुरु का प्रवेश 2021 अन्य सभी राशियों के साथ कुंभ को प्रमुख रूप से प्रभावित करने वाला है। राशि चक्र की राशियों पर गुरु गोचर के प्रभाव जानने के क्रम में हम फिलहाल कुंभ राशि पर पड़ने वाले प्रभावों का आकलन करेंगे।

कुंभ कुंडली में गुरु की स्थिति

गुरु का आगामी गोचर मकर से कुंभ राशि में होने वाला है। कुंभ राशि परिवर्तन के दौरान गुरु लगभग 6 महीनों से अधिक समय कुंभ राशि में रहने वाले है। कुंभ लग्न कुंडली में गुरु पहले अर्थात लग्न स्थान पर ही गोचर कर रहे हैं। वैदिक ज्योतिष में पहले अर्थात लग्न को तनुभाव या देहभवन के नाम से भी जाना जाता है। आइए कुंभ राशि में गुरु के प्रवेश से कुंभ राशि के लोगों पर पड़ने वाले प्रभावों का आकलन करें।

गुरु का राशि परिवर्तन: कुंभ के कॅरियर और फाइनेंस पर प्रभाव

कुंभ राशि में गुरु का प्रवेश 2021 कुंभ राशि के लोगों के कॅरियर और फाइनेंशियल स्टेबिलिटी के हिसाब से काफी सकारात्मक और लाभदायक नजर आता है। जो लोग नौकरी की तलाश कर रहे हैं, उन्हें 14 अप्रैल से 16 जून 2021 के बीच नए अवसर मिल सकते हैं। सरकारी नौकरी के लिए आवेदन करने वाले छात्रों को सफलता मिलने की संभावना है। पेशेवर कर्मचारियों को मध्य अप्रैल से मध्य जुलाई के बीच प्रमोशन या अप्रेजल मिलने की पूरी संभावना है। इस दौरान आपको 16 जुलाई से 17 अगस्त 2021 तक अपने वरिष्ठ और उच्च अधिकारियों के साथ किसी भी प्रकार की बहस में पड़ने से बचना चाहिए और उनके साथ बेहतर संबंध बनाए रखने का प्रयास करना चाहिए। उपरोक्त चरण आपके लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए आपके रास्ते में कई प्रकार की बाधाएं पैदा कर सकता है, हालांकि आपको परेशान नहीं होना चाहिए,  क्योंकि यह मुश्किलों भरा दौर आपको एक सकारात्मक नोट पर अपने लक्ष्य को पूरा करने में मदद भी करेगा। एक पुरानी कहावत है कि आपकी आय आपको अमीर नहीं बनाती, बल्कि आपकी खर्च करने आदतें आपकी आर्थिक स्थिति को बयां करती हैं। गुरु राशि परिवर्तन 2021 कुंभ राशि की आर्थिक स्थिति के लिए एवरेज नजर आता है। इस राशि परिवर्तन के दौरान छोटे या बड़े व्यवसायों से जुड़े व्यक्तियों को सलाह दी जाती है कि जून के बाद के समय में आपको अधिक धैर्य और शांति के साथ काम करना चाहिए। इससे आपको अपनी आर्थिक स्थिति बेहतर करने में हेल्प मिलेगी। आपको जल्दबाजी में निर्णय लेने से बचना चाहिए, वरना भविष्य में आपको आर्थिक नुकसान उठाने पड़ सकते हैं। शेयर बाजार से जुड़ों को इस दौरान निवेश करने के अच्छे और नए अवसर प्राप्त होंगे। इस दौरान संपत्ति या जमीन में निवेश करने की भी अच्छी संभावनाए नजर आती है। गुरु गोचर काल 2021 विदेशी निवेशकों के लिए भी उचित समय होगा। कॅरियर और आर्थिक मोर्चे पर गुरु राशि परिवर्तन का यह दौर कुंभ राशि के लोगों के धीरे – धीरे लेकिन निरंतर लाभ प्राप्त करने और वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने में मददगार होगा।

उपाय – कुंभ राशि के लोगों को अपनी वित्तीय स्थिति को मजबूत करने के लिए भगवान विष्णु की पूजा करनी चाहिए। उन्हें विष्णु जी की प्रतिमा पर फूल और मिठाई चढ़ाकर विष्णु सहस्रनाम पढ़ना चाहिए। संभव हो तो गुरुवार का व्रत रखना चाहिए, और आंखें बंद कर भगवान श्री हरी का ध्यान करना चाहिए। 

गुरु का राशि परिवर्तन: कुंभ राशि के लव और रिलेशन पर प्रभाव

कुंभ राशि में गुरु का प्रवेश 2021 कुंभ राशि के लोगों के लिए प्रेम और स्नेह को जीने का समय हो सकता है। गुरु के कुंभ राशि में रहने के दौरान आपमें से कई लोगों के जीवन में नए साथी से जुड़ने की संभावना है। यदि हम यह कहें कि वह आपको  वांछित जीवनसाथी हो सकता है तो भी उसमें कोई गलत बात नहीं होगी। गुरु गोचर 2021 के दौरान कुंभ राशि के लोग अपने किसी खास के साथ गुणवत्तापूर्ण समय बिता सकते हैं। आप अपने साथी की पसंद और नापसंद के बारे में जानने का प्रयास करेंगे और उन्हें निरंतर खुशियां देने का प्रयास करेंगे। आपको अपने साथी का भी भरपूर साथ मिलेगा, जिससे आपके रिश्ते में प्यार और स्नेह का एक शानदार तालमेल देखने को मिलेगा। जुलाई और अगस्त में महिलाओं को अपनी सास के साथ संबंधों का ध्यान रखना चाहिए क्योंकि आप दोनों तर्क – वितर्क में लिप्त हो सकते हैं। कुंभ राशि वालों को घर में शांतिपूर्ण संबंध बनाए रखने के लिए अपने बच्चों के साथ – साथ बड़ों के साथ भी मित्रतापूर्ण व्यवहार करना चाहिए। आपको अपने पड़ोसियों के साथ गपशप करते हुए अपना आपा नहीं खोना चाहिए, अन्यथा, आप उनके साथ अपने संबंधों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। बेचलर्स को जून से सितंबर के महीने में एक विवाह के वांछित प्रस्ताव प्राप्त हो सकते हैं।

उपाय – अपने प्रियजनों परिवार के साथ अपने रिश्तों को संयमित और निरंतर बनाए रखने के लिए बड़ों को महामृत्युंजय मंत्र का पाठ करना चाहिए। जबकि बच्चों को स्वर और विद्या की देवी मां सरस्वती की प्रार्थना करना चाहिए। बच्चों और छात्रों को ‘या देवी सर्वभूतेषु बुद्धि रूपेण संस्थिता नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः मंत्र का जाप करना चाहिए।

गुरु का राशि परिवर्तन: कुंभ के स्वास्थ्य पर प्रभाव

किसी कुंडली के पहले स्थान पर बैठे बृहस्पति अपने स्थान से पांचवें, सातवें और नवें भाव पर दृष्टि डालते हैं। इस भावों का संबंध संतान, विवाह और भाग्य से होता है। कुंडली में इस स्थिति का अर्थ है कि यह आपके दीर्घकालिक स्वास्थ्य संकटों को ठीक करने में आपकी सहायता करेगा। जबकि अप्रैल, मई और जून के महीने संतान प्राप्ति की चाह रखने वाले लोगों के लिए अच्छे रहने वाले हैं। कुंभ राशि के युवाओं के लिए गुरु गोचर 2021 का दौर स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से काफी बेहतर रहने की उम्मीद है, इससे उन्हें अपनी पढ़ाई में सुधार करने में मदद मिलेगी। हालांकि दिल की बीमारियों से जुड़े लोगों को इस दौरान अपने घर में ही रहने का प्रयास करना चाहिए। कुंभ राशि वालों को अच्छी नींद लेनी चाहिए, अन्यथा आप अपने मानसिक स्वास्थ्य को बिगाड़ सकते हैं।  हालांकि कुंभ लग्न कुंडली में इस दौरान होने वाले अन्य कुछ गोचर आपके लिए नुकसानदायक हो सकते हैं। इस दौरान आपको थोड़ी सावधानी और सतर्कता के साथ आगे बढ़ने का प्रयास करना चाहिए। 15 से 35 वर्ष के लोगों को 7 जुलाई से 25 जुलाई 2021 तक स्वास्थ्य से जुड़ी कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है उन्हें त्वचा से जुड़ी कुछ समस्याओं से जूझना पड़ सकता है।

उपाय – अपनी फिटनेस और शरीर के वजन को बनाए रखने के लिए कुंभ राशि के लोगों को नियमित व्यायाम करना चाहिए। इस गोचर के प्रभाव को कम करने के लिए आपको सोमवार का उपवास रखना चाहिए और दूध या जल चढ़ाकर भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए। बच्चों को स्वस्थ रहने के लिए भगवान गणेश की पूजा करनी चाहिए।

श्री गणेशजी की कृपा के साथ

गणेशास्पीक्स डॉट कॉम/हिंदी

ये भी पढ़ें-

जानिए मेष राशि के लोगों पर गुरु के राशि परिवर्तन का प्रभाव, क्लिक करें यहां

वृषभ राशि के लिए क्या उपहार लाना वाला है गुरु का राशि परिवर्तन

मिथुन राशि के लिए राशि परिवर्तन करके नवें भाव में जाएंगे गुरु, पढ़िए कुंभ के गुरु का प्रभाव यहां

गुरु नीच राशि से बाहर जाकर अब कुंभ में ट्रांजिट करेंगे, कर्क राशि के लोगों के लिए होगा विशेष प्रभाव

सिंह राशि के लोगों के लिए गुरु के राशि परिवर्तन का प्रभाव, क्लिक करें यहां

कन्या राशि के लिए क्या उपहार लाना वाला है गुरु का राशि परिवर्तन

तुला राशि के लिए राशि परिवर्तन करके पांचवें भाव में जाएंगे गुरु, पढ़िए कुंभ के गुरु का प्रभाव यहां

गुरु नीच राशि से बाहर जाकर अब कुंभ में ट्रांजिट करेंगे, वृश्चिक राशि के लोगों के लिए होगा विशेष प्रभाव

धनु राशि के लोगों के लिए गुरु के राशि परिवर्तन का प्रभाव, क्लिक करें यहां

मकर राशि के लिए क्या उपहार लाना वाला है गुरु का राशि परिवर्तन

कुंभ राशि के लिए राशि परिवर्तन करके पहले भाव में आएंगे गुरु, पढ़िए कुंभ के गुरु का प्रभाव यहां

गुरु नीच राशि से बाहर जाकर अब कुंभ में ट्रांजिट करेंगे, मीन राशि के लोगों के लिए होगा विशेष प्रभाव

17 Feb 2021

View All blogs

Follow Us