ज्योतिषी से बात कीजिए
X

वृषभ मासिक राशिफल

यह माह (May 2017)

महीने के प्रारंभ में आपके व्यय स्थान में बुध और सूर्य की युति है। व्ययेश और सप्तमेश मंगल लग्न स्थान में है। पंचम भाव में गुरु भी अभी वक्री है। कर्म स्थान में केतु और अष्टम स्थान में वक्री शनि है। व्यापारियों को व्यापार में अधिक ऑर्डर मिल सकेंगे, परंतु आपको मात्रा की तुलना में गुणवत्ता पर ध्यान देना होगा। इस समय विशेष रूप से कोर्ट-कचहरी और सरकारी विषयों में अड़चनों की संभावना रहेगी। प्रतिस्पर्धी या शत्रु आपकी प्रतिष्ठा खंडित करने का प्रयास करेंगे, इसलिए सावधानी रखें। आप में जोश और गुस्सा दोनों अधिक रहेगा जिससे काम में जल्दबाजी होगी। व्यवहार में आवेश अधिक होगा। दांपत्य संबंध में गुस्से पर नियंत्रण रखें। संतान के इच्छुक जातकों के लिए दूसरे सप्ताह में आशाभरा समय रहेगा। विचारों की नकारात्मकता धीरे-धीरे कम होने लगेगी। महीने के मध्य में सूर्य राशि बदलकर आपके लग्न स्थान में मंगल के साथ युति करेगा। यदि यात्रा करने वाले हैं तो सूक्ष्म स्तर पर पूर्वयोजना बनाएं, अन्यथा आप तकलीफ में पड़ जाएंगे। विदेश में स्थित संपर्क फिलहाल अधिक सक्रिय रहेंगे। हृदय और ब्लडप्रेशर संबंधी बीमारी और आकस्मिक चोट लग सकती है। बुजुर्गों द्वारा कमाया गया धन अथवा पैतृक जायदाद के विवाद हल होने की संभावना अधिक रहेगी। विद्यार्थियों की विद्वानों के साथ मुलाकात होगी। पुराना माल-जायदाद बेचना हो तो अभी समय उत्तम कहा जा सकता है। प्रेमीजनों के लिए मध्यम समय रहेगा। महीने के अंतिम दिनों में मंगल राशि बदलकर आपके धन स्थान में आएगा जिसका फल आगामी महीने में अधिक दिखाई देगा।
#

Trending (Must Read)

अधिक जानें वृषभ

Free Horoscope Reports 

वृषभ साप्ताहिक राशिफल – 21-05-2017 – 27-05-2017

वृषभ वार्षिक राशिफल – 2017

वृषभ सुसंगतता

अग्नि तत्व की राशियाँ
भूमि तत्व की राशियाँ
वायु तत्व की राशियाँ

वृषभ राशि के बारे में जानिए

संस्कृत नाम : वृषभ | नाम का अर्थ : बैल | प्रकार : पृथ्वी स्थिर नकारात्मक | स्वामि ग्रह : शुक्र | भग्यशाली रंग : नीला, नीला-हरा | भाग्यशाली दिन : शुक्रवार, सोमवार