युवाओं के आइडल तेजस्वी सूर्या की सफलता के पीछे किन ग्रहों का हाथ ?

Tejasvi Surya

साउथ बेंगलुरु से भाजपा सांसद और भाजयुमो के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या हमेशा ही किसी न किसी कारण से चर्चा में बने रहते हैं। देश में सबसे कम उम्र के सांसद बनने के साथ ही वह युवाओं के लिए आइडियल बन गए हैं। तेजस्वी उत्तरप्रदेश के विधानसभा चुनाव को लेकर भी काफी सक्रीय है। बीते दिनों उऩ्होंने गोरखपुर में कांग्रेस और सपा पर जमकर निशाना साधा है। आइए जानते हैं क्या कहती है तेजस्वी सूर्या की सूर्य कुंडली…

तेजस्वी सूर्या की कुंडली में ग्रहों का अच्छा कॉम्बिनेशन

16 नवंबर 1990 को चिकमंगलूर में जन्में तेजस्वी सूर्या की सूर्य कुंडली में सूर्य-चंद्रमा, -केतु और बुध-शुक्र का संयोजन है। हर महत्वपूर्ण ग्रह के साथ एक विपरित ग्रह की युति में है, जो उनके व्यक्तित्व को खुलकर सामने लेकर आता है। हालांकि, हर कोई इतनी जल्दी उनके व्यक्तित्व को पहचान नहीं सकता है। राजनीति को लेकर बात की जाएं, तो आने वाले समय में उनको कुछ ज्यादा ही मेहनत करनी होगी। क्योंकि कुंडली में सूर्य तुला राशि में है, जो कमजोर माना जाता है। राजनीति के लिए सूर्या का अच्छा होना चाहिए, तभी सफलता के शिखर तक पहुंचा जा सकता है। हालांकि, दूसरे ग्रहों का कॉन्बिनेशन उन्हें एक अच्छा वक्ता और लोगों के बीच रखने वाला बनाता है।

(आपकी कुंडली को कौन कमजोर बना रहा है, जानिए हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों से, कॉल करें अभी)

तेजस्वी का भी विवादों से गहरा नाता

भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या का भी विवादों से गहरा नाता रहा है। वह अपने बयानों को लेकर अक्सर विवादों में आ जाते हैं। हाल ही में गोरखपुर में मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी के समर्थन में की गई रैली में भी एक विवादित बयान दे दिया है, जिससे सियासत गरमा गई है। उनके बयान को एक विशेष धर्म के विरुद्ध देखा जा रहा है। वहीं सोशल मीडिया पर लिखे अपने स्टेटमेंट के कारण भी वह सुर्खियों में रहते हैं। बहरहाल, तेजस्वी सूर्याा को बीजेपी में आने वाली पीढ़ी का बड़ा नेता माना जा सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी उनकी तारीफ कर चुके हैं।

( जानिए कैसा रहेगा आपका आने वाला समय, पढ़िए वार्षिक राशिफल 2022)

Follow Us