आचार्य व्योम

आचार्य व्योम

Experience : 11 वर्ष

Expertise :

कॅरियर मार्गदर्शन, पारिवारिक संघर्ष, गर्भवस्था व गर्भ संस्कार, नौकरी या व्यवसाय से संबंधित मुद्दे, बच्चे से संबंधित मुद्दे आदि।

Abilities

आचार्य व्योम को मानव मनोविज्ञान का व्यापक अनुभव है और उन्होंने नैदानिक मनोविज्ञान (क्लिनिकल साइकोलॉजी) में पीएचडी की है। वे पेशेवर रूप से एक मनोवैज्ञानिक, परामर्शदाता, प्रमाणित सम्मोहन चिकित्सक, एनएलपी प्रैक्टिशनर, वैदिक ज्योतिष के साथ प्राणिक उपचारक हैं। एस्ट्रो-साइकोलॉजी उनका पसंदीदा है। वे आसानी से इस बात को जान सकते हैं किसी की व्यक्तिगत चेतना कहां जकड़ी है, जो उसके विकास को रोक रही है और इसे जन्म कुंडली स्पष्ट रूप से इंगित करती है। अपने चिकित्सीय दृष्टिकोण और वैदिक उपचारों की मदद से, आचार्य व्योम अपने ज्ञान का उपयोग व्यक्ति की भलाई के लिए करते हैं।

Achievements

आचार्य व्योम ने अक्टूबर 2013 में नई दिल्ली स्थित जेएनयू में सम्मोहन और एनएलपी पर आयोजित नौवें राष्ट्रीय सम्मेलन में आयोजन समिति के एक सदस्य के रूप में भाग लिया। इसके अलावा इस वैदिक ज्योतिषी ने मार्च 2011 में डीएसवीवी, शांतिकुंज, हरिद्वार के नैदानिक मनोविज्ञान विभाग द्वारा आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी मनोचिकित्सा में स्वदेशी तकनीक - एक अवधारणा और अनुप्रयोग पर एक पेपर प्रस्तुत किया था। पेपर का शीर्षक "हिप्नोथेरेपी- भारतीय विषय में समीक्षा और केस विश्लेषण" था। आचार्य व्योम ने ज्योतिषियों के लिए "मानव चेतना और ज्योतिष" को बढ़ावा देने के लिए कई प्रशिक्षण सत्र भी आयोजित किए। उन्होंने दिल्ली, गुड़गांव और अहमदाबाद में डीएमआईटी काउंसलिंग के साथ-साथ कई मिडब्रेन एक्टिवेशन वर्कशॉप भी लिए हैं। अंग्रेजी और हिंदी भाषा के अच्छे जानकार आचार्य व्योम ने साप्ताहिक समाचार पत्र में ग्राहकों की चिंताओं के कई समाधान पेश किए हैं।

Background

उन्होंने अपने माता-पिता और अपने गुरु से खासकर वैज्ञानिक आध्यात्मिकता, योग साधना, आयुर्वेद, कर्म का सिद्धांत और मंत्र साधना को देखते हुए बहुत कुछ सीखा है। 24 वर्ष की उम्र में वे अपने गुरु के संपर्क में आए और वहीं से उनकी आध्यात्मिक यात्रा शुरू हो गई है। प्रारंभ में, उन्होंने अपने दादा से अधिकांश ज्ञान प्राप्त किया, जो एक प्रसिद्ध आयुर्वेद आचार्य और शिव साधक थे। उनके दादाजी की वैदिक मंत्रों पर अच्छी पकड़ थी और वे इसका उपयोग समाज कल्याण के लिए कर रहे थे।

Hobbies

वे प्रतिदिन बागवानी और योग खासकर प्रज्ञा योग का आनंद लेते हैं। वे हर हफ्ते "ट्विन हार्ट मेडिटेशन" भी करते हैं, जिससे उन्हें अपनी चेतना को उच्च स्तर पर बढ़ाने में मदद मिलती है। वे वैज्ञानिक अध्यात्म पर आधारित पुस्तकों को पढ़ना पसंद करते हैं।

Reason For Choosing Astrology As Career

उनके गुरु ने उन्हें वह सब कुछ सिखाया जिसका वे वर्तमान में दूसरों की मदद करने के लिए उपयोग कर रहे हैं। ज्योतिष उनके लिए अनसुलझी चीजों में से एक है, जिसे वे और अधिक वैज्ञानिक तरीके से तलाशना चाहते थे। वह कार्ल गुस्ताव जंग (एक स्विस मनोचिकित्सक और मनोविश्लेषक, जिन्होंने विश्लेषणात्मक मनोविज्ञान की स्थापना की थी) के अनुयायी हैं। वे कहते हैं, ज्योतिष मनोवैज्ञानिकों के लिए विशेष रुचि वाला है, क्योंकि इसमें एक प्रकार का मनोवैज्ञानिक अनुभव होता है जिसे हम प्रक्षेपित कहते हैं - इसका मतलब है कि हम मनोवैज्ञानिक तथ्यों को वैसे ही पाते हैं जैसे वह नक्षत्रों में थे। इसने मूल रूप से इस विचार को जन्म दिया कि ये कारक सितारों से निकलते हैं, जबकि वे केवल उनके साथ समकालिकता के संबंध में हैं। वे मानते हैं कि यह एक बहुत ही जिज्ञासु तथ्य है, जो मानव मन की संरचना पर एक अजीबोगरीब प्रकाश डालता है ... कार्ल जी जंग ने 1947 में प्रोफेसर बीवी रमन (आधुनिक भारत में प्रसिद्ध ज्योतिषी) को एक पत्र में लिखा था। वे अभी भी अपने एस्ट्रो-मनोवैज्ञानिक यात्रा पथ पर चल रहे हैं, जो बहुत दिलचस्प है। वे कहते हैं कि ज्योतिष एक उत्कृष्ट उपकरण है

स्टार गाइड

दैनिक गाइड

संभावित घटनाओं का संकलन, प्रति घंटा मार्गदर्शन, सटीक समय-सीमा और क्या करें और क्या न करें

लाइफ मीटर

जानिए अपनी शारीरिक और मानसिक स्थिति के विभिन्न पहलुओं का प्रतिशत

अनुकूलता

जानिए दूसरों से आपकी तरंगे कितनी मेल खाती है