मंगल का गोचर कुंभ मेंः जानिए किन राशियों पर होगा मंगल का वार इस बार !

मंगल का गोचर कुंभ मेंः जानिए किन राशियों पर होगा मंगल का वार इस बार

बाहरी तौर पर, मंगल आदेश का पालन और साहस का प्रदर्शन करने वाले लोगों को इंगित करता है। मंगल ताकत, कार्रवार्इ और गति का प्रतिनिधित्व करता है।

भीतरी तौर पर, मंगल ग्रह हमारी मानसिक और शारीरिक शक्ति, साहस, रोमांच, दृढ़ता, बिंदासपन, ध्यान, प्रेरणा, उत्साह, आत्मसंयम, उत्तेजना और क्रोध का द्योतक है।

उच्च की राशि मकर में 45 दिनों तक रहने के बाद मंगल 11 दिसम्बर, 2016 से 20 जनवरी, 2017 तक कुंभ में पारगमन करेगा। जिस तरह ये शनि के साथ अदला-बदली करेगा, एेसे में ये पारगमन काफी महत्वपूर्ण होगा। साथ ही, ये केतु के साथ युति भी करेगा। मंगल के इस भ्रमण से कुछ बड़े बदलाव होने की संभावना है। इस लेख में, जानें कि ये पारगमन अापकी पर क्या प्रभाव डालेगा।

*कृपया ध्यान दें: हमारी भविष्यवाणियां मुख्यतः चंद्र पर आधारित हैं, लेकिन इसका परिणाम लग्न राशि के लिए भी लागू होगा।

मेष राशि
आपकी राशि का स्वामी मंगल ग्यारवें भाव में से गोचर करेगा। इस अवधि में आप अधिक आशावादी, आत्मविश्वासी और आनंदित रहेंगे। आप किसी नर्इ चीज में रूचि बढ़ा सकते हैं। आप अपने आत्मसुधार पर ध्यान केन्द्रित करेंगे। अपनी व्यक्तिगत उन्नति के लिए नए अवसरों को तलाशने का ये अनुकूल समय होगा। आपकी ऊर्जा और ताकत उच्च स्तर पर होगी। आपके लिए ये अच्छा होगा यदि आप अपने दोस्तों के साथ किसी प्रकार की तीव्र बहस से बचें, क्यूंकि इससे गलतफहमियां बढ़ सकती हैं। साथ ही, अधिक आक्रामक बनने की कोशिश ना करें।

वृषभ राशि
मंगल दसवें भाव से पारगमन करेगा। अगर आप विस्तार या विकास की तलाश कर रहे हैं, तो ये अच्छा समय होगा। आपको नए उद्यमों में भी सफलता मिलेगी। काम आसानी से पूरे होंगे और आपको विभिन्न मामलों में सफलता मिलने की संभावना है। इस अवधि में कड़ी मेहनत से लाभ मिलने की उम्मीद है। हालांकि, आपके कार्य करने की गति बढ़ने की संभावना है। लेकिन सहकर्मियों के साथ संबंध तनावपूर्ण ना हो, इसको लेकर आपको सावधान रहना होगा। गणेशजी आपको कार्यस्थल पर और खासतौर से सीनियर्स से बातचीत के दौरान सचेत रहने की हिदायत देते हैं। आपको अधिक विनम्र एवं धैर्यशील बनना होगा।

मिथुन राशि
मंगल नाैवें भाव से पारगमन करेगा। इस अवधि में, पिता के साथ बहस और गलतफहमियां पूर्वज्ञात हो रहे हैैं। आपको अपनी सेहत को लेकर सावधान रहना होगा। कुछ अवसरों पर आप चिड़चिड़ा या बेचेन महसूस कर सकते है। दूसरे शब्दों में कहें तो, अपने आत्मसंयम को बनाए रखने में आपको कठिनार्इयां आ सकती है। इस अवधि में आकस्मिक लाभ हो सकते है। आपके प्रतिद्वंदी आपके लिए परेशानियां खड़ी करने की कोशिश कर सकते है, एेसे में अापको सावधान रहना होगा।

कर्क राशि
मंगल आपकी राशि से आठवें भाव में पारगमन करेगा। ये पारगमन सहयोगी नहीं होगा, एेसे में आपको बहुत मेहनत करनी होगी और सकारात्मक रहना होगा। भावनात्मक और मानसिक रूप से परेशान रहने के कारण आप दैनिक पेशेवर कार्यों पर ध्यान केन्द्रित करने में सक्षम नहीं हो सकते। अगर आप रचनात्मक क्षेत्र से जुड़े हैं तो आप बहुत सारी बाधाओं का सामना कर सकते हैं। नए विचारों के साथ आगे बढ़ना आपको मुश्किल कार्य लग सकता है। इस पारगमन के कारण लव लाइफ गंभीर रूप से प्रभावित हो सकती है। गणेशजी की सलाह है कि अपने व्यक्तिगत मसलों का प्रभाव कार्यस्थल पर अपने प्रदर्शन पर ना पड़ने दें।

साथ ही पढ़ेंः जानें शुक्र का मकर राशि में आना आपके जीवन को कैसे रंगीन…

सिंह राशि
मंगल सातवें भाव से पारगमन करेगा। इस चरण में, आपकी आक्रामकता और क्रोध का स्तर बढ़ सकता है, एेसे में आपको शांत बने रहने के लिए बेहतर प्रयास करने होंगे। अगर आप अपने गुस्से और आवेग को नियंत्रित करने में सक्षम नहीं हुए, तो अनावश्यक बहस और विवाद हो सकते है। इसके अलावा, आने वाले दिनों में आपके जीवनसाथी और व्यापार साझेदार से आपके रिश्ते कुछ परेशानियों के साक्षी बनेंगे।

कन्या राशि
मंगल आपकी कुंडली के छठें भाव से पारगमन करेगा। इस चरण में अाप चुनौतियों का बेहतर ढंग से सामना करने में सक्षम होंगे और उन्हें दुश्मनों के पाले में फेंकने में सक्षम होंगे। आप अत्यधिक जुझारू मोड़ में होंगे और कर्इ कार्यों को यथासंभव पूरा करना पसंद करेंगे। हालांकि, आप अपना बेहतर प्रदर्शन करने की पूरी कोशिश करेंगे, लेकिन कार्यस्थल पर कुछ आकस्मिक स्थितियां सामने आकर आपको हतोत्साहित कर सकती है। ये सुनिश्चित करें कि आप अपने आप को अत्यधिक ना थकाएं।

क्या आप मांगलिक है? क्या मंगल दोष आपकी जिंदगी में परेशानी का कारण है? इस बारे में जानें हमारी मांगलिक दोष रिपोर्ट से, वो भी बिल्कुल मुफ्त !

तुला राशि
मंगल पांचवें भाव में से पारगमन करेगा। रिश्तों और उससे संबंधित मामलों को लेकर ये पेचीदा समय होगा। दैनिक जिंदगी में विलम्ब और बाधाएं हो सकती है। अपनी निजी और पेशेवर जिंदगी को संतुलित करने की कोशिश करें। इस चरण में विद्यार्थी व्याकुलता का सामना कर सकते हैं। उनमें एकाग्रता की कमी हो सकती है। दोस्तों और करीबी लोगों के साथ वैचारिक मतभेद हाेने की संभावना है। अपने जीवनसाथी की सेहत पर ध्यान देने की आवश्यकता हो सकती है।

वृश्चिक राशि
मंगल चौथे भाव में से पारगमन करेगा। ये विशेष पारगमन आपकी जिंदगी की राह में चुनौतियों के संकेत देता है। इस चरण के दौरान कुछ असंतोष आपके घर की शांति और समरसता को प्रभावित कर सकते हैं। शारीरिक जोखिम में शामिल गतिविधियों को टालें और सुरक्षा को अपनी पहली प्राथमिकता दें। अपने पद और प्रतिष्ठा को लेकर सावधान रहें और किसी के भी साथ झगड़ा और तर्क-वितर्क करने से बचें। इस अवधि में संपत्ति से जुड़े विवाद हो सकते हैं। मातृ पक्ष के रिश्तेदारों से कुछ परेशानियां होने की संभावना है। अपनी माँ की सेहत का खास ख्याल रखें। अपने पेशे से जुड़ी चीजों को हल्के में ना लें।

धनु राशि
मंगल तीसरे भाव से पारगमन करेगा। आपको अपने कार्यों में सफलता प्राप्त होने की संभावना है। इस अवधि में आपके आत्मविश्वास को बढ़ावा मिलने की संभावना है। आप इस बात के साक्षी बनेंगेे कि लोग आपको अच्छी तरह से समझ रहे है और आपकी सहायता करने के लिए तैयार है। साथ ही आप दूसरों से सम्मान भी प्राप्त करेंगे। यात्रा के जरिए लाभ मिलने के संकेत मिल रहे है। आपके अधिकतर कार्य फलदायक साबित होंगे।

साथ ही पढ़ें: बुध का धनु में प्रवेश, जानें क्या बदलाव लाएगा आपकी जिंदगी में

मकर राशि
मंगल दूसरे भाव में से पारगमन करेगा। ये आपकी सामान्य जिंदगी के लिए लाभदायक होगा। आपको अपने सहयोगियों के जरिए लाभ होगा। आय के नए स्रोतों से भी आपको लाभ मिलने की आशा है। आप सामान्य से अधिक आशावादी और सुरक्षित महसूस कर सकते हैं। आराम और सुधार के लिए खर्च होने की संभावना है। घरेलू मोर्चे पर माहौल कुछ हद तक अस्थिर रहने से आपके लिए अच्छा यही होगा कि आप व्यंग्यात्मक टिप्पणियों से बचें।

कुंभ राशि
मंगल आपके लग्न में से पारगमन करेगा। अाप अधिक दृढ़ निश्चय और आत्मविश्वास से काम करेंगे। पर आपको आत्मविश्वास और अहंकार के बीच के भेद को समझना होगा। इसे ध्यान में रखकर ही दूसरों के साथ व्यवहार करें। अपनी सेहत पर ध्यान देने की जरूरत होगी और बुखार जैसी समस्याएं उत्पन्न होने की भी आशंका रहेगी। जल्दबाजी में गाड़ी चलाने से बचना होगा। एक्सीडेंट, चोट और घाव मुमकिन है। इन दिनों आप जो भी गतिविधि करते हैं उसको लेकर आपको सतर्क रहना होगा। धन-संबंधी लेनदेन में सावधानी बरतें।

मीन राशि
मंगल दसवें भाव में से पारगमन करेगा। कार्यस्थल पर गतिविधियों का रेला होगा और पेशे से जुड़े मामलों में आपको भाग्य से अच्छा सहयोग प्राप्त होगा। ये बेहतर होगा कि फालतू मामलों में आप अपना समय और उर्जा बर्बाद ना करें। आपको अपने दैनिक कार्यों की अच्छी तरह से योजना बनानी होगी। पैर या टखने पर चोट लगने की संभावना है, एेसे में सावधान रहें। आपके द्वारा कही गई किसी बात का गलत अर्थ निकालने की संभावना को देखते हुए आपको बातचीत के दौरान भी बहुत सावधानी बरतनी होगी।

गणेशजी के अाशीर्वाद सहित,
मालव भट्ट
(स्पेशल इनपुट: आदित्य सांर्इं)
गणेशास्पीक्स डाॅटकाॅम टीम

जरूर पढ़ें !

गणेशास्पीक्स द्वारा शनि पर विशेष

1) शनि का धनु राशि में गोचर – जानें इसका अपने जीवन पर अच्छा-बुरा प्रभाव

2) जानिए शनि की साढ़े साती से जुड़े दिलचस्प पहलू !

13 Dec 2016

View All blogs

Follow Us