https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

अरविन्द केजरीवाल के भविष्य को लेकर गणेशजी की ज्योतिषीय भविष्यवाणी

अरविन्द केजरीवाल के भविष्य को लेकर गणेशजी की ज्योतिषीय भविष्यवाणी

देश को भ्रष्टाचार मुक्त करने के लक्ष्य के साथ राजनीति में उतरे अरविन्द केजरीवाल पर भी पाॅलिटिक्स का नशा यूं सिर चढ़कर बोलेगा ये किसी ने सोचा भी नहीं था। आज केजरीवाल पर ना सिर्फ विपक्षी पार्टियां बल्कि उनकी खुद की पार्टी के कार्यकर्ता बागी होकर उन पर बड़े-बड़े लांछन लगा रहे है। आैर यही कारण है कि केजरीवाल के समर्थकों की संख्या लगातार घटती जा रही है। जबकि दिसम्बर 2013 में सीएम बनने के बाद केजरीवाल ने 49 दिन बाद उस पद को छोड़ दिया था। लेकिन इसके बावजूद जनता का उनके प्रति विश्वास बना रहा आैर यही कारण था कि पूरे देश में मोदी लहर होने के बावजूद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने देश की राजधानी में एक बार फिर भारी विजय हासिल की। लेकिन हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों आैर नगरपालिका चुनाव में आप को मिली हार ने ये साबित कर दिया कि अब केजरीवाल की सामाजिक छवि पर भ्रष्टाचार के दाग लग चुके है जिन्हें साफ करना दिल्ली सीएम के लिए काफी मुश्किल है। तो अब केजरीवाल के लिए आगे की राह कैसी रहेगी ? क्या वे कानूनी मसलों से उभर पाएंगे ? या उनके पार्टी का अस्तित्व पूरी तरह खत्म हो जाएगा ? अगर आपके मन में भी इस तरह के सवाल चल रहे है तो आइए इनका जवाब जानते है गणेशजी जिन्होंने केजरीवाल की कुंडली का विश्लेषण कर उन पर प्रमुख भविष्यवाणियां की हैः

अरविन्द केजरीवाल
जन्म-दिनांकः 16-8-1968
जन्म-समयः 07:30 (अनिश्चित)
जन्म-स्थानः सिवनी, भिवानी जिला, हरियाणा

सूर्य कुंडली

kundali

हमारे विशेषज्ञों द्वारा तैयार अपनी हस्तलिखित जन्मपत्री प्राप्त करें

शक्तिशाली राजयोग केजरीवाल को बड़ी महत्वाकांक्षा प्रदान करेगा
केजरीवाल का जन्म सिंह लग्न में हुआ है। उनकी कुंडली की प्रमुख विशेषता की बात करें तो दूसरे आैर ग्यारवें भाव का स्वामी बुध, पांचवें भाव का स्वामी गुरू आैर दसवें भाव का स्वामी शुक्र लग्न में है जो की काफी पावरफुल राजयोग बनाता है। राजयोग का प्रभाव ही केजरीवाल को एक उत्साही आैर जोशीला नेता बनाता है जो कि हमेशा ध्यान आकर्षित करने का प्रयास करता है। साथ ही, ये केजरीवाल को बेहद महत्वाकांक्षी बनाता है।

ग्रहों का समूह शानदार कैरियर के संकेत देता है
केजरीवाल की कुंडली के त्रिकोण स्थान में पांच ग्रहों की युति है। उनकी कुंडली में सूर्य आत्मकारक है। इसलिए उनके पास प्रभावशाली नेतृत्व गुण आैर व्यापक अपील है। जब तक वे दिल्ली की राजनीति पर अपना ध्यान केन्द्रित रखेंगे, यथार्थ धरातल पर बनें रहेंगे आैर भ्रष्टाचार में लिप्त नहीं होंगे तब तक उनका राजनीतिक कैरियर अच्छा रहेगा। लेकिन आपका कैरियर कैसा होगा ? इस बारे में जानने के लिए खरीदें 2017 कैरियर रिपोर्ट।

सितारों का नकारात्मक प्रभाव आकस्मिक पतन दर्शाता है
केजरीवाल की कुंडली में सूर्य लग्न का स्वामी है आैर बारहवें भाव में नीच के मंगल के साथ विराजमान है। ग्रहों की ये स्थिति उन्हें अति-आत्मविश्वासी आैर दूसरों पर हावी होने वाला बनाती है। उन्हें ज्यादातर झगड़ालू दृष्टिकोण के लिए जाना जाता है। इसके अलावा, छठें भाव का स्वामी नीच का शनि,भाग्य के नौवें स्थान में बारहवें भाव के स्वामी चंद्र के साथ उनकी कुंडली में मजबूत नकारात्मक प्रभाव ड़ालता है। ये उनके राजनैतिक कैरियर में काफी अधिक संघर्ष आैर कठिनार्इयों को दर्शाता है। ये उसे अाकस्मिक पतन की आेर उन्मुख करता है। जिसका प्रमाण हमें हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों आैर दिल्ली म्यूनिसिपल काॅरपोरेशन पोल्स में देखने को मिला।

राहु की काली छाया पब्लिक इमेज पर पड़ेगी
दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल वर्तमान में गुरू की महादशा आैर शुक्र की अंतर्दशा से प्रभावित है। हालांकि लग्न में गुरू-शुक्र की युति प्रगति के अनुकूल है। इस युति के ऊपर से राहु का वर्तमान गोचर उनकी सामाजिक छवि में अाकस्मिक पतन के संकेत देता है। वहीं राहु आठवें भाव में उपस्थित है आैर उसका कारक ग्रह गुरू पर गोचर के राहु का भ्रमण है। इस कारण केजरीवाल की जिंदगी में संघर्ष आैर चिंताएं बढ़ेंगी। कर्इ गलतफहमियां, समस्याएं आैर संदेह उनकी पब्लिक इमेज को नुकसान पहुंचा सकता है। वहीं कर्क राशि में राहु का गोचर भी केजरीवाल के लिए मुश्किल रहेगा। उनकी पार्टी में झगड़े होंगे आैर उनके पार्टी के कार्यकर्ता पब्लिकली उनके खिलाफ जाएंगे। आैर जिस तरह से हम देख रहे है कि उनके पार्टी कार्यकर्ता उनकी छवि पर लांछन लगा रहे है। वर्ष 2017 में सितारे आपके भविष्य को लेकर क्या संकेत देेते है, इस बारे में जानें 2017 वार्षिक रिपोर्ट से।

कानूनी मसलें राजनैतिक कैरियर को पहुंचाएंगे नुकसान
राहु का कर्क राशि में गोचर जन्म के सूर्य आैर मंगल पर होगा जो कि कानूनी मसलों में उलझने के संकेत देता है जिसके कारण उनके राजनैतिक कैरियर को गंभीर नुकसान हो सकता है। गोचर का गुरू उसे कुछ हद तक मदद कर सकता है लेकिन इंडियन पाॅलिटिक्स में अपनी छवि, विश्वसनीयता आैर अधिकार को हासिल करना केजरीवाल के लिए बहुत कठिन या यूं कह सकते है लगभग असंभव होगा। अपनी पार्टी के भीतर वे भावनात्मक असफलता आैर विस्फोटक परिस्थितियों का सामना कर सकते है। वैसे देखा जाए तो वर्तमान में भी केजरीवाल आैर उनकी पार्टी के सदस्य सभी जगह से जैसे दिल्ली पुलिस,सीबीआर्इ, इंकम टैक्स, पंजाब पुलिस आैर चुनाव आयोग की विभिन्न जांच-पड़ताल के घेरे में है। बल्कि दिल्ली सरकार की अपनी एंटी-करप्शन ब्रांच भी दिल्ली सीएम पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रही है। एेसे परिदृश्य में, यह असंभव नजर अा रहा है कि केजरीवाल एक साफ-सुथरे राजनीतिज्ञ के रूप में अपनी छवि बचा सकते है।

क्या जिंदगी के कुछ क्षेत्रों को लेकर आपके दिमाग में कुछ सवाल है ? तो एक्सपर्ट गाइडेंस आैर स्मार्ट सोल्यूशन पाने के लिए ज्योतिषी से बात कीजिए।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
तन्मय के ठाकर
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

ये लेख पढ़ना भी ना भूलेंः
– लोकेश नायडू पर गणेशजी की भविष्यवाणियां: जानें क्या कहते है सितारे
– गणेशजी से जानें, राहुल गांधी का राजनीतिक भविष्य कैसा हाेगा
– यूपी सीएम योगी आदित्यनाथः जानिए ज्योतिषीय दृष्टि से कैसा रहेगा कार्यकाल
– पंजाब चुनाव 2017 भविष्यवाणी: जानें आम अादमी पार्टी की संभावनाआें के बारे में

Follow Us