https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

कोच के रूप से गोपी तेजी से तरक्की करेंगे और अंतराष्ट्रीय स्तर के खिलाडी़ तैयार करेंगे

कोच के रूप से गोपी तेजी से तरक्की करेंगे और अंतराष्ट्रीय स्तर के खिलाडी़ तैयार करेंगे

वर्ष 2001 में अॉल इंग्लैंड बैडमिंटन का चैंपियनशिप जीतने वाले भारत के स्टार शटलर पुलेला गोपीचंद भारतीय बैडमिंटन टीम के कोच हैं। हाल ही के रियो ओलंपिक खेलों में पीवी सिंधु ने इनके ही संरक्षण में रहते हुए सिल्वर मैडल जीत कर अपने देश भारत को गौरवान्वित किया। ये अपने प्रशंसकों के बीच गोपी के नाम से मशहूर हैं और हैदराबाद में गोपीचंद बैडमिंटन अकादमी चलाते हैं। इन्होंने साइना नेहवाल, पीवी सिंधु, पारूपल्ली कश्यप, श्रीकांत किदाम्बी, अरूंधति पंटावने, गुरूसांर्इ दत्त आैर अरूण विष्णु जैसे खिलाडियों को प्रशिक्षण देेकर मानो जैसे विजेताआें की पूरी टोली ही बना दी। गोपी को वर्ष1999 में अर्जुन अवार्ड, वर्ष 2009 में द्रोणाचार्य अवार्ड आैर वर्ष 2014 में देश के सर्वोच्च सम्मान पदम भूषण से नवाजा गया। अपने खेल के दिनों में यानीकि वर्ष1996 से लेकर2000 तक ये एक अजेय राष्ट्रीय खिलाड़ी रहे। गणेशजी, भारत के मुख्य बैडमिंटन कोच-गोपीचंद की कुंडली का अध्ययन करते हुए यह भविष्यवाणी करते हैं इनके किस्मत के सितारे अभी बुलंद हैं। ये देश के युवा प्रतिभाओं को प्रशिक्षण देकर भविष्य के लिए आैर भी महान खिलाड़ी तैयार करेंगे।

पुलेला गोपीचंद
जन्म तिथि: 16 नवंबर, 1973
जन्म स्थान: नागंड्ला प्रकासम, आन्ध्र प्रदेश, भारत

पुलेला गोपीचंद की सूर्य कुंडली

kundali

गोपी की सूर्य कुंडली का ज्योतिषीय विश्लेषण एवं भविष्यवाणी

भारत के शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी व कोच, पुलेला गोपीचंद की सूर्य कुंडली में ताकत और जीवन शक्ति का ग्रह मंगल अपनी स्वयं की मेष राशि में विराजमान है। इसकी दृष्टि आत्मकारक ग्रह बुध और सूर्य पर पड़ रही है। इसलिए, ये संसाधन संपन्न, दृढ़ निश्चयी, व्यवस्थित और ऊर्जावान हैं। कुंडली के इन कारकों की वजह से ये एक कोच के रूप में युवा खिलाड़ियों के प्रदर्शन का स्तर ऊपर उठाने में सक्षम रहेंगे। विश्व मंच के लिए और भी खेल प्रतिभाओं को तैयार कर सकेंगे। वक्री मंगल और वक्री बुध के बीच परस्पर दृष्टि होना यह भी इंगित करता है कि खेल में नए आयामों को स्थापित करने का सामर्थ इनमें है। खिलाड़ियों के भीतर खेल के विभिन्न दृष्टिकोणों का पता लगाने की क्षमता पैदा करते हैं ताकि वे उनमें से सबसे मजबूत उपायों का चयन कर सकें।

गोचर का गुरू इन्हें एक कोच के रूप में अधिक से अधिक ऊंचाईयां हासिल कराने में मदद करता रहेगा। हालांकि, कर्क राशि में गोचर का राहु और धनु राशि में गोचर का शनि इनके लिए कुछ बाधाएं, विवाद और समस्याएं पैदा कर सकता है। बहरहाल, मई 2018 इनके कड़े परिश्रम का लाभ मिलना इनको शुरू हो जाएगा। ये टोक्यो ओलंपिक में भारत के लिए स्वर्ण पदक की संभावनाओं को मजबूत करने का प्रयास करेंगे। कोच पुलेला गोपीचंद की बैडमिंटन अकादमी जल्दी ही फलेगी-फूलेगी और और विश्व स्तरीय बैडमिंटन खिलाड़ियों को तैयार करेगी। ये कोचिंग प्रयोजन के लिए अधिक से अधिक प्रतिभाओं को आकर्षित करने में सक्षम रहेंगे। इनके प्रयासों से देश को विश्वस्तरीय बैडमिडटन कोच प्राप्त होंगे।

तो इस प्रकार से हम देखते हैं कि ये सारी ग्रहों की अनुकूल स्थितियां इनके लिए बैडमि़ंटन में जीत की स्थिति पैदा करती है।

आगामी वर्ष में आपका अपने कैरियर में प्रदर्शन कैसा रहेगा? क्या प्रोफेशनल लाइफ में आपको किसी समस्या का सामना करना पड़ रहा है? इन सभी चीजों का मार्गदर्शन प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारी करियर रिपोर्ट आगामी 1 वर्ष के लिए आपके जीवन की झाकी प्रस्तुत कर सकती है। शीघ्र ही आॅर्डर करें!

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
तन्मय के ठाकर
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

Follow Us