नक्षत्र – मघा

रंग : क्रीम
भाग्यशाली अक्षर: म

मघा नक्षत्र का चिह्न एक शाही सिंहासन वाला कमरा होता हैं और इसके ईष्ट देव पूर्वज होते हैं | यह उज्जवल चमकता सितारा होता हैं | राजा,रईस और दुनिया के प्रख्यात नेता इस नक्षत्र के तहत पैदा होते हैं |ये सांसारिक शक्ति से परिपूर्ण रहते हैं और ये इन्हे दंभी और अभीमानी बना देता हैं | ये नक्षत्र निजी महत्वकाक्षां को दर्शाता हैं | और इसका सिंहासन वाला कमरा कूटनीति और समारोहिक भव्यता की ओर इंगित करता हैं |यह महान और प्रतिष्ठित लोगो और घटनाओं को प्रदर्शित करता हैं | ये कई विषयों में पारंगत हो सकते हैं और इसका पारितोषिक श्रेष्ठ गुणी जन से प्राप्त करते हैं |इस नक्षत्र के लोग निस्वार्थ और गंभीर होते हैं और अपने नौकरी या व्यवसाय में बहुत अच्छा प्रदर्शन करते हैं |उसमें भी जिसमे कुटिलता और चालाकी की आवश्यकता होती हैं | ये अपने धरोहर और विरासत से जुड़े रहते हैं | पूर्वज भी परंपरा और विरासत देने वाले होते हैं |यह जानी पहचानी भारतीय परम्परा हैं | ये भी उपहार देने में विश्वास करते हैं बजाय कि ये बदले में कुछ आशा रखें | ये उपहार इस पर निर्भर करता हैं कि उस समय कौन सा ग्रह इस नक्षत्र में विराजमान हैं | यह अवसर भी प्रदान करता हैं | उदाहरण के लिए यदि दसवें घर में मघा नक्षत्र हैं तो कैरियर के अनेक अवसर सामने आयेंगे | यदि इस नक्षत्र में चंद्रमा हैं तो यह शाही तरीके के अवसर प्रदान करता हैं |जैसे कि अनेक नौकर चाकर और विपरीत सेक्स के लिए आकर्षण |यह भगवान और पूर्वजों की पूजा करने का इच्छुक बना देता हैं |सूर्य और मंगल ग्रह इसे कामयाब बनाते हैं जबकि शनि,राहु और केतु बाधा पंहुचाते हैं |इस नक्षत्र में जन्में हुए जातक अस्थमा से पीड़ित हो सकते हैं या रक्त से सबंधित बीमारी हो सकती हैं | ये बड़ी कंपनियों और संगठनों, कानून, उच्च न्यायालय, इतिहास, पुरातत्व, परंपरा को बनाए रखने (विश्वविद्यालयों, समाजिक संस्थान, क्लब), आदि में कार्य कर सकते हैं |

सभी 28 नक्षत्रों की सूची
अश्विनी भरणी कृतिका रोहिणी मृगशीर्ष आर्द्रा पुनर्वसु पुष्य अश्लेषा मघा पूर्वा फ़ाल्गुनी उत्तरा फ़ाल्गुनी हस्त चित्रा स्वाति विशाखा अनुराधा ज्येष्ठा मूल पूर्वाषाढा उत्तरा षाढा श्रवण धनिष्ठा शतभिषा पूर्वाभाद्रपद उत्तरा भाद्रपद रेवती अभिजीत

स्टार गाइड

दैनिक गाइड

संभावित घटनाओं का संकलन, प्रति घंटा मार्गदर्शन, सटीक समय-सीमा और क्या करें और क्या न करें

लाइफ मीटर

जानिए अपनी शारीरिक और मानसिक स्थिति के विभिन्न पहलुओं का प्रतिशत

अनुकूलता

जानिए दूसरों से आपकी तरंगे कितनी मेल खाती है

Banner Title