विराट कोहली को संघर्ष करते हुए आगे बढ़ना होगा - गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम - GaneshaSpeaks
https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

विराट कोहली को संघर्ष करते हुए आगे बढ़ना होगा – गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

विराट कोहली को संघर्ष करते हुए आगे बढ़ना होगा

भारतीय क्रिकेट का नया चेहरा बनकर उभर रहे युवा क्रिकेटर विराट कोहली इस महीने की ५ तारीख़ को २७ साल पूरे कर २८ वर्ष में कदम रख रहे हैं। भारतीय क्रिकेट प्रेमियों के दिलों में राज करने वाले युवा क्रिकेटर विराट कोहली बतौर टेस्ट कप्तान दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपनी पहली घरेलू टेस्ट सीरीज खेलने जा रहे हैं। मगर, यह सीरीज विराट कोहली के लिए बेहद महत्वपूर्ण होने जा रही है, क्योंकि कोहली के नेतृत्व में भारतीय टीम उस टीम का सामना करने जा रही है, जो पिछले नौ सालों में एक भी टेस्ट सीरीज नहीं हारी है। वैसे भी विराट कोहली का टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण बड़ा संघर्षशील रहा है। भारतीय क्रिकेट टीम ने जून और जुलाई २०११ में वेस्टइंडीज का दौरा किया था। इस दौरे दौरान भारतीय टीम में अनुभवहीन खिलाड़ियों का चुनाव किया गया था क्योंकि सचिन तेंदुलकर को विश्राम दिया गया था। साथ ही,गौतम गंभीर और वीरेंद्र सहवाग चोट के कारण टीम से बाहर थे। विराट कोहली टेस्ट टीम में तीन नए खिलाड़ियों में से एक थे। भारतीय टीम ने टेस्ट सीरीज तो १-० से जीत ली। मगर, विराट कोहली ने इस सीरीज के दौरान ५ पारियों में सिर्फ ७६ रन बनाए। मगर, अब विराट कोहली के पास अच्छा अनुभव है एवं टेस्ट क्रिकेट टीम की कप्तानी कर रहे हैं। फिर भी उनके भविष्य को लेकर उनके प्रशंसकों को उत्सुकता तो बनी हुर्इ है कि आखिर आगे क्या होगा ? इसी सवाल को ध्यान में रखते हुए गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम के ज्योतिषविदों ने विराट कोहली की जन्म कुंडली का अध्ययन किया।


विराट कोहली – भारतीय क्रिकेटर
जन्म तिथि – 5 नवंबर1988
जन्म समय – अज्ञात
जन्म स्थान – दिल्ली, भारत

सूर्य कुंडली

kundali

ध्यानार्थ – भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली का सही जन्म समय उपलब्ध नहीं होने के कारण गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम के ज्योतिषविदों ने उनके जन्म स्थान एवं जन्म तिथि को ध्यान में रखते हुए सूर्य कुंडली का निर्माण किया तथा निम्नलिखित फलकथन भी उसी के आधार पर है।

महत्वपूर्ण ज्योतिषीय विश्लेषण –
गुरू विराट कोहली के केतु पर से पारगमन कर रहा है एवं धनु राशि में स्थित शनि पर दृष्टि डालेगा। 11 अगस्त 2016 तक गुरू कुंभ में स्थित राहु पर दृष्टि डालेगा। जनवरी 2016 तक राहु विराट के शुक्र पर पारगमन करेगा, जो कन्या राशि में है एवं केतु उनके मंगल पर से पारगमन करेगा। इस समय के पश्चात राहु केतु अर्द्ध वापसी चरण में होंगे। शनि उनके गुरू पर दृष्टि डालेगा, जो वृषभ में है। इसके अलावा शनि आगे पूरे वर्ष दौरान केतु पर दृष्टि डालेगा।

ज्योतिषीय भविष्यवाणी :-
गणेशजी महसूस कर रहे हैं कि विराट कोहली की एकाग्रता एवं सख्त मेहनत उनको जबरदस्त सफलता दिला सकती है। हालांकि, उनको अपनी मजबूत लय में आने के लिए कड़ा संघर्ष करना होगा। गणेशजी की सलाह है कि विराट कोहली को धैर्य रखते हुए ध्यानपूर्वक खेलना चाहिए।

क्या भावी समय में भारतीय क्रिकेट टीम की जीत में कोहली का योगदान होगा ?
गणेशजी विराट कोहली की कुंडली का गहन अध्ययन करते हुए महसूस कर रहे हैं कि जनवरी 2016 तक विराट कोहली को मुश्किल परिस्थितियों का सामना करना पड़ेगा। उनकी अगुवार्इ में भारतीय क्रिकेट टीम जीत दर्ज करने में मुश्किल महसूस करेगी। हालांकि, उपरोक्त समय अवधि के बाद विराट कोहली अपने असली रंग में आएंगे एवं भारतीय टीम को बहुत वक्त के दायरे से बाहर निकालने के लिए अपनी प्रतिभा का पूरा दोहन करेंगे। सशक्त शनि की तरफ से विराट कोहली को काफी मदद मिलेगी एवं कोहली अपनी कमियों को दूर करने में सफल होंगे।

कुल मिलाकर कहें तो जनवरी 2016 के बाद का समय विराट कोहली के लिए काफी अच्छा है एवं एक बेहतरीन खिलाड़ी के रूप में अपनी पहचान बनाने में सफल होंगे।

गणेशजी विराट कोहली को शुभेच्छाएं देते हैं।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित
रंतीदेव ए उपाध्याय
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

Follow Us