Xi Jinping की कुंडली में अच्छे योग से मिल रही है इन्हें सफलता…

जिनपिंग

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के 100 सालों के राजनीतिक इतिहास में यह तीसरा ऐतिहासिक प्रस्ताव पारित किया गया है, जिसके पारित होने के बाद चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को और भी लोकप्रियता और राजनीतिक मजबूती मिलेगी। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के इस प्रस्ताव को एक अलिखित संविधान की तरह माना जा रहा है। इस प्रस्ताव में कम्युनिस्ट पार्टी के इतिहास की नए सिरे से व्याख्या और देश के भविष्य की नीतियों का उल्लेख किया गया है। चलिए जानते हैं चीन के इन राष्ट्रपति के सितारे क्या कहते हैं…

शी जिनपिंग का आने वाला समय भी अच्छा 

15 जून 1953 को बीजिंग में जन्में  Xi Jinping की सूर्य कुंडली पर नजर डालें, तो उनकी राशी कर्क है। जो उन्हें किसी एक विचार पर स्टेबल रखती है। इसके अलावा उनकी कुंडली में मिथुन राशि में बुध, सूर्य और मंगल का योग है, जो उनको दृढ़ निश्चयी और विश्लेषणात्मक बनाता है। इसके अलावा उनको सूर्य-मंगल से भी ऊर्जा और मजबूती मिलती है। उनके आने वाले समय की बात की जाए, तो अप्रेल के बाद उनका और भी अच्छा समय आने वाला है। क्योंकि गुरु का ट्रांजिट उनके कर्म स्थान से होगा, जो शनि के सामने से होगा। यह योग उनको और भी मजबूती प्रदान करेगा।

शी जिनपिंग बनाना चाहते हैं देश को और भी मजबूत 

चीन को इतनी ताकत प्रदान करने वालों में तीन नेताओं माओत्से तुंग, डांग श्याओपिंग और तीसरे वर्तमान राष्ट्रपति शी जिनपिंग का नाम लिया जाता है। शी जिनपिंग जिस ऐतिहासिक प्रस्ताव को लेकर आए हैं, उसका मुख्य उद्देश्य चीन को शक्तिशाली देश बनाना और देश में साझा उन्नति लाना है। इस प्रस्ताव के पारित होने से चीन की सत्ता पर शी की पकड़ अनिवार्य रूप से मजबूत हो जाएगी। इस ऐतिहासिक प्रस्ताव के दस्तावेज में पार्टी के पिछले 100 सालों के इतिहास के सारांश के साथ पार्टी की उपलब्धियों और भविष्य की चर्चा की गई है।

प्रसिद्धि, अपयश या धन : आपके लिए भविष्य क्या लेकर आने वाला है? – अभी हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषी से बात करें!

Follow Us