देखिए सिंगर सोनू निगम के लिए कैसा रहेगा साल 2017-2018 !

सोनू निगम

पार्श्व गायक, सोनू निगम ने अपनी मधुर आवाज में भावुक गीत गाकर दुनिया भर में संगीत प्रशंसकों को मंत्रमुग्ध किया है। विशेषकर उन्होंने हिंदी और कन्नड़ भाषा में गाने गाए हैं। सोनू निगम ने बंगाली, गुजराती, तमिल, मराठी, तुलु, असमी, उड़िया, नेपाली, मैथिली और कई अन्य भाषाओं में भी अपने गाने से सबको मंत्रमुग्ध किया है। क्या आप अपने कैरियर में आगे बढ़ना चाहते हैं ? तो आप अपनी कुंडली हमारे ज्योतिषों से पढ़वाकर अपने भविष्य को इस दिशा में सुरक्षित कर सकते हैं। हमारी रिपोर्ट में आप अपनी सफलता के लिए आवश्यक जानकारियां व उपाय पाएंगे। करियर संभावनाएं रिपोर्ट खरीदकर अपने कैरियर के भविष्य को जानिए और आगे बढ़ें।

कुछ समय पहले तक सोनू निगम को बॉलीवुड में सबसे ज्यादा पैसा कमाने वाला गायक माना जाता था। उन्होंने 10 विभिन्न भाषाओं में 2000 से ज्यादा गाने गाए हैं। प्लेबैक गायन के अलावा, सोनू निगम ने शास्त्रीय, पॉप, रॉक गानों और गज़ल्स गाकर लोगों के दिल को गुदगुदाया है। इन्होंने राष्ट्रीय फिल्म, स्टार स्क्रीन, फिल्मफेयर, और बॉलीवुड मूवी जैसे कई पुरस्कार जीते हैं। सोनू निगम ने हाल ही में अपना जन्मदिन मनाया। इस आर्टिकल में गणेशजी सोनू निगम की जन्मकुंडली के अाधार पर भविष्यवाणी प्रस्तुत कर रहे हैं। आइये देखें-

सोनू निगम

जन्म तिथि: 30 जुलाई 1973

जन्म समय: उपलब्ध नहीं

जन्म स्थान: फरीदाबाद, हरियाणा, भारत

सोनू निगम की सूर्य कुंडली

kundali

हमारे विशेषज्ञों द्वारा बनायी गई जन्मपत्री / जन्मकुंडली प्राप्त करें।

ज्योतिषीय अवलोकन:

क्या कहते हैं जन्म के ग्रह

सोनू निगम की कुंडली के अनुसार इनका जन्म कर्क लग्न में हुआ है। लग्नेश लग्न में स्वगृही है और धनेश सूर्य के साथ युति बना रहा है। सोनू के सूर्य व चंद्रमा दोनों ही युवा अवस्था के हैं। पंचमेश तथा कर्मेश मंगल कर्म स्थान में मेष राशि में स्थान बलि और स्वगृही भी है। मंगल बाल्यावस्था का है। पराक्रमेश तथा व्ययेश बुध व्यय स्थान यानी बारहवें स्थान में (मिथुन राशि) में स्वगृही है। बुध, केतु और शनि ये तीनों ग्रह युति में हैं। बुध मृत्यु स्थान में है। भाग्येश व षष्ठेश गुरु सातवें स्थान में (मकर राशि) वक्री है। सुखेश व लाभेश शुक्र कुण्डली के दूसरे स्थान यानी धन स्थान में(सिंह राशि) में है। सप्तमेश व अष्टमेश शनि बारहवें स्थान में (मिथुन राशि) में विरामजान है।

ग्रहों के आशीष से संगीत क्षेत्र में उत्कृष्ट कैरियर मिला

सोनू निगम की कुंण्डली में लग्नेश चंद्र न केवल युवा अवस्था व स्वगृही का है बल्कि कुंडली में इसकी स्थिति स्वकेंद्रीय भी बन रही है। इसके अतिरिक्त इनका सूर्य युवा अवस्था का है। चंद्र व सूर्य के ऊपर गुरु की पूर्ण दृष्टि पड़ती है जिससे इनका मधुर कंठ है। साथ ही शुक्र व मंगल का नवपंचम योग भी बनता है। इसके प्रभाव से ये भावपूर्ण गीत गाने में समर्थ हैं। सोनू निगम सॉन्ग बरबस सभी के दिल को गुदगुदा देते हैं। शनि के नक्षत्र का सूर्य इनके अावाज को और भी परिपक्व बनाता है। स्थान बली, स्वगृही और वर्गोत्तम मंगल सोनू के जीवन में सफलता के उच्च शिखरों को सर करने के लिए इनके लिए आर्शीवाद स्वरुप होता है।

क्या कहते हैं गोचर के ग्रह

गोचर कुंडली में भ्रमण कर रहे ग्रहों की चाल को देखकर मालूम होता है कि लग्नेश चंद्र चौथे घर में (तुला राशि) में है। पंचमेस और कर्मेश मंगल देह भवन (कर्क राशि) में है। पराक्रमेश व व्ययेश बुध दूसरे स्थान (सिंह राशि) में है। भाग्येश व षष्ठेश गुरु तीसरे स्थान (कन्या राशि) में है। सुखेश व लाभेश शुक्र बारहवें स्थान की मिथुन राशि में है। सप्तमेश व अष्टमेश शनि पांचवें स्थान (वृश्चिक) राशि में है। छायाग्रह राहु दूसरे स्थान (सिंह राशि) में तथा केतु आठवें स्थान(कुंभ राशि) में गतिशील है।

कैसा रहेगा सोनू का आगामी वर्षः

भाग्यवृद्धि के लिए अवसर

सूर्य कुंडली के हिसाब से लग्न से तीसरे स्थान में भ्रमणशील गुरु 12 सितंबर 2017 तक सोनू निगम को भाग्यवृद्धि से जुड़े स्वर्णिम अवसर प्रदान करता रहेगा। सार्वजनिक जीवन में भी इनको ख्याति मिलेगी। इनकी कमाई बढ़ेंगी। दिनांक12 सितंबर 2017से तुला राशि का गुरु इनके पंचमेश व कर्मेश मंगल को अपनी पूरी दृष्टि से देखेगा। गुरु की कृपा दृष्टि इनको कार्यक्षेत्र में प्रगति करने के लिए कल्याणकारी कहीं जाएगी। ध्यान दें कि इसी गुरु की दृष्टि कुंडली के बारहवें स्थान पर भी पड़ेगी। कुंडली के अनुसार इस स्थान के विदेश स्थान होने से सोनू को विदेश प्रवास पर जाना पड़ेगा जिससे इनको यश प्राप्ति भी होगी। ग्रह सोनू निगम की कमाई में वृद्धि का संकेत देते हैं। लेकिन, निरंतर बदल रही ग्रह स्थितियां इनकी कमाई को भी इस समय अटका सकती है। लेकिन, अगर आप अपनी वित्तीय स्थिति के बारे में जानना चाहते हैं, तो हमारी निशुल्क 2017 वित्त रिपोर्ट प्राप्त करें। इसके जरिए आपको वांछित मार्गदर्शन मिलेगा।

अक्टूबर – नवंबर 2017 – मिश्र फलदायी समय

26 अक्टूबर 2017 तक लग्नेश चंद्र से पांचवें स्थान में भ्रमण कर रहा वृश्चिक राशि का शनि सोनू निगम के लिए निजी और व्यावसायिक जीवन में उन्नति के द्वारा खोलेगा। इसके बाद, 28 नवंबर 2017 तक धनु राशि का शनि इनके लिए मध्यम रुप से फलदायी कहा जाएगा। 27अगस्त 2017 तक कर्क राशि में भ्रमण कर रहा मंगल कुंडली के लग्नेश तथा धनेश सूर्य के ऊपर से भ्रमण करेगा। इस भ्रमण से जातक का आर्थिक जीवन अच्छा रहेगा। दिनांक 27अगस्त 2017 से लेकर13 अक्टूबर 2017 तक सिंह राशि का मंगल कार्यक्षेत्र में शुभ परिणाम प्रदान करेगा। 13 अक्टूबर 2017 से 29 नवंबर 2017 तक कन्या राशि का मंगल निजी और व्यावसायिक क्षेत्र में मध्यम परिणाम देगा। ये भी हो सकता है कि इसके बाद काम में किसी प्रकार का विघ्न या अवरोध आए।

प्रोफेशनल जीवन में सफलता के योग

दिनांक 29 नवंबर2017 से 16 जनवरी2018 तक तुला राशि के मंगल से सोनू को कैरियर में अधिक सफलता मिलने की संभावना रहेगी। 16 जनवरी 2018 से 7 मार्च 2018 तक वृश्चिक राशि का मंगल इनको वित्तीय लाभ दिलाता रहेगा। इनका प्रोफेशनल जीवन भी अधिक मजबूत बनेगा।

मार्च-अगस्त 2018 की अवधि शारीरिक व मानसिक रुप से संघर्ष का समय

7 मार्च 2018 से 1 मई 2018 तक धनु राशि का मंगल भ्रमणवश आएगा। मंगल के भ्रमण के दौरान सोनू को स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना पड़ेगा। 18 अगस्त 2017 से कर्क राशि का राहु और मकर के केतु की वजह से अनावश्यक मानसिक दुविधाएं और उद्वेग रहा करेगा। आरोग्यता को प्राथमिकता देनी पड़ेगी। ग्रहों की हलचलें से इनके निजी जीवन में उथल-पुथल की स्थिति से इंकार नहीं किया जा सकता है।

कुल मिलाकर, सोनू निगम के लिए यह समूचा वर्ष प्रगतिकारक कहा जाएगा।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,

प्रकाश पंडया

गणेशास्पीक्स डाॅटकाॅम टीम

परेशानियों से शीघ्र मुक्ति पाने के लिए, ज्योतिषी से बात कीजिए

07 Aug 2017

View All blogs

Follow Us