शनि धनु में वक्री 2017 , जानें आपके जीवन में क्या बदलाव आएगा

शनि धनु में वक्री 2017

शनि वक्री की तारीखें
शनि ने 26 जनवरी, 2017 को धनु राशि में प्रवेश किया। लेकिन अब शनि 6 अप्रेल से 20 जून तक वक्री रहेगा।

शनि वक्री 2017 धनु में – शनि बदलेगा चाल
शनि – जिसको निरर्थक बातें पसंद नहीं है आैर जो घमंड का विनाश करने वाला ग्रह है, वो गुरू की राशि धनु में 26 जनवरी, 2017 को प्रवेश कर चुका है, लेकिन एक संक्षिप्त जांच के लिए वो फिर से रहस्यमय राशि वृश्चिक में प्रवेश करेगा।

शनि वक्री 2017 – विस्तृत विवरण
जी हां, हम उस चरण के करीब है जब शनि वक्री होगा। वर्ष 2017 के तहत शनि 142 दिन तक वक्री गति से गुजरेगा, जो कि करीब 4 महीने आैर 22 दिन की अवधि होगी। शनि धनु राशि में 6 अप्रेल, 2017 से 20 जून, 2017 तक वक्री होगा आैर इसके बाद ये वृश्चिक राशि में प्रवेश करेगा, लेकिन ये निरंतर 25 अगस्त, 2017 तक वक्री गति में गोचर करेगा। वृश्चिक राशि में इसका असामान्य ठहराव 26 अक्टूबर, 2017 को खत्म होगा जिसके बाद धनु में शनि का गोचर फिर से शुरू होगा।

शनि वक्री 2017 धनु में – शनि के क्रम संशोधन को समझें
ज्योतिष में, शनि का वृश्चिक में गोचर सबसे रहस्यपूर्ण आैर जटिल घटनाआें में से एक है। हालांकि, वृश्चिक शनि के शत्रु मंगल की राशि है, लेकिन शनि इस राशि में सहज महसूस करते है। वृश्चिक राशि को अभिव्यक्त करें तो इनका स्वभाव जिम्मेदार, कठोर, अनुशासनप्रिय होते है आैर इन्हें सामान्यतः अपनी भावनाआें को व्यक्त करना पसंद नहीं है। इस तरह जब शनि इस राशि में आता है तो शनि की प्रक्रिया सामान्य से अलग हो जाती है। यहां बैठकर शनि ज्यादा कठोर हो जाते है आैर लोगों को जिम्मेदारी का अहसास कराते है। शनि लोगों को जीवन की वास्तविक कठिनार्इयों का सामना कराता है। वृश्चिक में शनि का गोचर इस साल जनवरी में समाप्त हुआ था, लेकिन ये सुनिश्चित करना चाहता है कि वृश्चिक में अपने पारगमन के दौरान जो जिंदगी का सबक उसने सिखाया है, उसे ठीक ढंग से समझा गया है। इस कारण, ये वक्री गति से पारगमन करेगा।

वक्री शनि 2017 धनु में – क्या उम्मीद ?
वक्री शनि कुछ अप्रत्याशित बदलाव ला सकता है आैर अद्वितीय विकास हो सकते है। अगर आप कोर्इ नया या महत्वपूर्ण काम या प्रोजेक्ट शुरू करने की योजना बना रहे है, तो सभी विकल्पों पर अच्छे से विचार करें, क्यूंकि शनि आपके दृढ़ संकल्प आैर उद्देश्य की भावना का परीक्षण करने की कोशिश कर सकता है। शनि आपको उन कामों की याद दिलाएगा जिन पर आपने हाल के दिनों में काम करना शुरू किया था, लेकिन ध्यान या रूचि में कमी के कारण उन्हें अधूरा छोड़ दिया था। शनि के वक्री होने के दौरान, स्थिति को बनाए रखना आैर लंबित कार्यों को पूरा करना बेहतर रहेगा। शनि का वक्री गोचर खूब सारी सकारात्मकता के साथ नकारात्मक परिणाम भी लाएगा। वक्री शनि के बारह राशियों पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में जानने के लिए ये लेख पढ़ेः

[कृपया ध्यान देंः ये भविष्यवाणियां चंद्र राशि को ध्यान में रखकर की गई हैं। लेकिन, इसका कुछ प्रभाव लग्न राशि वालों पर भी लागू होंगे]

मेष राशि के लिए शनि ग्रह के वक्री होने का फल

– वक्री शनि नौंवे भाव में
शनि वक्री 2017 के दौरान, आप धार्मिक यात्रा पर जाएंगे आैर धार्मिक गतिविधियों में लिप्त रहेंगे। मार्गदर्शक/ गुरू के जरिए लाभ मिलने के संकेत मिल रहे है। गणेशजी का पूर्वानुमान है कि कानूनी मसलें चिंता का कारण हो सकते है। उच्च शिक्षा, अनुसंधान से जुड़ी गतिविधियां आैर वांछित परिणाम प्राप्त करने में विलंब हो सकता है। आपके पिता को सेहत संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इससे पहले कि चीजें नियंत्रण से बाहर हो उस पर त्वरित कार्रवार्इ करें। जब शनि वक्री होगा तब नौकरी या बिजनेस में बदलाव अाने की संभावना है। प्रमोशन में बाधाएं आ सकती है। एेसे में गणेशजी आपको कड़ी मेहनत करने की सलाह देते है। इस अवधि में आपके मित्र आैर शुभचिंतक कम सहयोगी हो सकते है। कुल मिलाकर, ये अवधि कम लाभदायी हो सकती है।

बिजनेस के लिए शनि पारगमन रिपोर्ट से बिजनेस में मार्गदर्शन प्राप्त करें

वृषभ राशि के लिए शनि ग्रह के वक्री होने का फल

– वक्री शनि आठवें भाव में
शनि के वक्री होने की अवधि में अनियमित खाने की आदतें आपकी सेहत पर प्रतिकूल प्रभाव ड़ाल सकती है। नौकरी/कानूनी मसलों में मुश्किलें आैर प्रतिस्पर्धी परीक्षाआें में विफलता के संकेत मिल रहे है। वित्तीय समस्याएं आैर कर्ज में वृद्घि होने की संभावनाएं है, एेसे में गणेशजी आपको खर्चों पर नियंत्रण रखने की सलाह देते है। आपको एक्सीडेंट या आॅपरेशन से गुजरना पड़ सकता है या फिर आग/जलने के कारण आप घायल हो सकते है। आपको मानहानि, अपमान या अवमानना मिल सकती है। उच्च शिक्षा या तीर्थयात्रा में बाधाआें के संकेत मिल रहे है। शनि वक्री 2017 के तहत आर्थिक हानि आैर आकस्मिक खर्चे हो सकते है। वहीं आपके पिता बीमार हो सकते है।

कैरियर के लिए शनि पारगमन रिपोर्ट से कैरियर समाधान पाए

मिथुन राशि के लिए शनि ग्रह के वक्री होने का फल

– वक्री शनि सातवें भाव में
शनि वक्री 2017 की अवधि में , वाहन या प्रोपर्टी खरीदने में विलंब हो सकता है। माता के साथ रिश्ते तनावपूर्ण हो सकते है। पढ़ार्इ में आपकी रूचि कम हो सकती है। वहीं विवाह में विलंब हो सकता है। जब शनि वक्री होगा तब आपके अपने साथी के साथ मतभेद हो सकते है, इस कारण आपकी शादीशुदा जिंदगी स्नेहपूर्ण नहीं रहेगी। गणेशजी आपको अपने जीवनसाथी के साथ अहं के टकराव से बचने की सलाह देते है। आर्थिक मामलों में नुकसान आैर बिजनेस में मंदी आने की संभावना नजर आ रही है। साझेदारी का बिजनेस टूट सकता है। पढ़ार्इ आैर यात्रा के दाैरान बाधाएं आने का पूर्वानुमान है।

वैवाहिक समस्याआें के समाधान के लिए शनि पारगमन रिपोर्ट का लाभ उठाए

कर्क राशि के लिए शनि ग्रह के वक्री होने का फल

– वक्री शनि छठें भाव में
अनियमित समय पर भोजन करना सेहत संबंधी परेशानियों का कारण हो सकता है। एेसे में गणेशजी आपको खाने का निश्चित समय निर्धारित करने आैर साथ ही जंक फूड ना खाकर सिर्फ पौष्टिक भोजन ही खाने की सलाह देते है। नौकरी में परेशानी, कानूनी मसलों आैर आर्थिक समस्याआें के संकेत मिल रहे है। आप प्रतिस्पर्धी परीक्षाआें में विफल हो सकते है आैर आप पर कर्ज बढ़ सकते है। हालांकि, आपको दिल छोटा नहीं करना चाहिए आैर अगली बार बेहतर परफोमेंस देने के लिए दुगुने प्रयास करने चाहिए। शनि के वक्री होने की अवधि में शादीशुदा जोड़े के अलगाव या तलाक की संभावना नजर आ रही है। वहीं विवाह की योजना बनाने वाले अविवाहितों को बाधाआें का सामना करना पड़ सकता है। बिजनेस पाटर्नरशिप खत्म हो सकती है।

कैरियर के लिए शनि पारगमन रिपोर्ट से कैरियर की परेशानियों का जवाब पाए

सिंह राशि के लिए शनि ग्रह के वक्री होने का फल

– वक्री शनि पांचवें भाव में
वक्री शनि का फल आपको ये मिलेगा कि शेयर बाजार से जुड़ी गतिविधियों में मिलने वाला फायदा कम हो सकता है। एेसे में गणेशजी आपको शेयर बाजार में ना खेलने की सलाह देते है, आैर अगर आप एेसा नहीं कर सकते तो कम से कम सुरक्षित तरीके से निवेश करें। संतान के जन्म में भी विलंब के संकेत मिल रहे है। नौकरी में बदलाव या वर्तमान नौकरी हाथ से जाने की संभावना है। आपकी कमार्इ में भी गिरावट आ सकती है। वहीं बिजनेस साझेदार आपको धोखा दे सकता है। प्रेम संबंधों में ब्रेकअप या निराशा मिलने के संकेत मिल रहे है। एेसे में अपनी तरफ से, चीजों को नियंत्रण में रखने की कोशिश करें। यानि अत्यधिक गुस्सा आने पर भी बहस से बचें।

समृद्घि से जुड़े मामले चिंता का कारण है ? तो समृद्घि के लिए शनि पारगमन रिपोर्ट खरीदें

कन्या राशि के लिए शनि ग्रह के वक्री होने का फल

– वक्री शनि चतुर्थ भाव में
वक्री शनि के प्रभाव के कारण प्रतिष्ठा या स्थिति में हानि होने की संभावना है। सभी कार्यों में विफलता आैर सरकारी कामकाज में बाधाएं आ सकती है। घर या वाहन खरीदने के मामलों में विलंब हो सकता है। माता के साथ रिश्ते में सामंजस्यता की कमी आ सकती है। विद्यार्थियों की पढ़ार्इ में रूचि कम हो सकती है, लेकिन गणेशजी आपको शिक्षा की महत्वता को समझने आैर पढ़ार्इ पर अधिक ध्यान केन्द्रित करने की सलाह देते है। गर्भवती महिलाअों के गर्भपात की संभावना है, एेसे में इस संबंध में सावधानी बरतें आैर नियमित जांच कराए। बच्चों से अलगाव, सट्टेबाजी/शेयर बाजार में नुकसान आैर प्यार के मामलों में असफलता का पूर्वानुमान है।

धन-संपत्ति की समस्याआें के समाधान के लिए शनि पारगमन रिपोर्ट प्राप्त करें

तुला राशि के लिए शनि ग्रह के वक्री होने का फल

– वक्री शनि तीसरे भाव में
शनि वक्री 2017 के तहत यात्रा के दौरान एक्सीडेंट से बचने के लिए सावधान रहें। साथ ही किसी कागजात पर हस्ताक्षर करते समय सतर्क रहें आैर उस पर लिखे शब्दों को बहुत सावधानी से पढ़े। वक्री शनि के प्रभाव के कारण आपके साहस/आत्मविश्वास में कमी आ सकती है। वहीं, भार्इ-बहिन के साथ संबंध तनावपूर्ण हो सकते है,जो आपका मनोबल गिरा सकता है। वक्री शनि के फल के कारण पढ़ार्इ के दौरान छोटी दूरी की यात्राआें आैर बाधाआें के संकेत मिल रहे है। जबकि काम का अत्यधिक भार मानसिक तनाव बढ़ा सकता है। उच्च शिक्षा में विलंब हो सकता है। घर को बदलने/बेचने या घर से दूर होने की संभावना है। आप माता के प्यार से वंचित हो सकते है।

कैरियर के कुछ मसलों से परेशान है ? तो कैरियर के लिए शनि पारगमन रिपोर्ट खरीदें

वृश्चिक राशि के लिए शनि ग्रह के वक्री होने का फल

– वक्री शनि दूसरे भाव में
वक्री शनि के प्रभाव के तहत, घरेलू मसलें बढ़ने आैर परिजनों के साथ असामंजस्यपूर्ण रिश्तों के संकेत मिल रहे है। गणेशजी आपको खासकर शनि के वक्री होने के चरण में किसी भी परिस्थिति में बहस से बचने की सलाह देते है , अन्यथा मामला बढ़ सकता है आैर नियंत्रण से बाहर हो सकता है। आमदनी से अधिक खर्च हो सकते है। हालांकि, आपको अत्यधिक खर्च करने की प्रवृत्ति को भी नियंत्रित करना होगा। शनि के वक्री होने पर आंख से संबंधित बीमारियां आैर यात्रा के दौरान परेशानियां अाने की संभावना है। एेसे में अपनी आंखों का अच्छे से ख्याल रखें, लेकिन चिकित्सक देखरेख में। वहीं अगर आवश्यक हाे तो चश्मा लगा लें।

क्या आर्थिक हालात आपके तनाव का कारण है ? तो समृद्घि के लिए शनि पारगमन रिपोर्ट खरीदें

धनु राशि के लिए शनि ग्रह के वक्री होने का फल

– वक्री शनि पहले भाव में
वक्री शनि 2017 के प्रभाव के कारण आप अपने सोचने का तरीका बदल सकते है। इसके अलावा, त्वरित निर्णय लेते समय अाप कुछ कठिनार्इयों का सामना कर सकते है। गणेशजी की सलाह है कि नियमित रूप से मेडिटेशन करें क्यूंकि ये आपकी विचार प्रक्रिया को स्पष्टता प्रदान करेगा आैर आप बेहतर निर्णय लेने में सक्षम होंगे। वक्री शनि के कारण पैसे कमाने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी। माता के साथ संबंध तनावपूर्ण हो सकते है। विद्यार्थियों का पढ़ार्इ में कम मन लगेगा। घर/वाहन खरीदने के मामलों में विलंब हो सकता है, एेसे में आपको धैर्य रखने की जरूरत होगी।

आर्थिक मामलों से परेशान ना हो, समृद्घि के लिए शनि पारगमन रिपोर्ट खरीदें

के लिए शनि ग्रह के वक्री होने का फल

– वक्री शनि बारहवें भाव में
वक्री शनि के फल से आपके विदेश की यात्रा करने की संभावना है। हालांकि आपके बीमार पड़ने की संभावना है आैर अस्पताल में भर्ती हो सकते है। वित्तीय मसलें चिंता का कारण हो सकते है। आपकी कमार्इ से अधिक खर्चे होंगे आैर वक्री शनि के प्रभाव के कारण कुछ अनावश्यक आैर महंगी चीजें खरीदने का लालच बढ़ सकता है। लेकिन गणेशजी आपको इस तरह की प्रवृत्ति से बचने की सलाह देते है। वक्री शनि के कारण कर्इ बार अनिर्णय की स्थिति बन सकती है। घरेलू परेशानियां बढ़ सकती है आैर जो पारिवारिक रिश्तों में असामंजस्यता ला सकती है। एेसे में ये सुनिश्चित करें कि आप अपनी पारिवारिक जिम्मेदारियों को लेकर संवेदनशील रहेंगे। शनि के वक्री होने पर आंख से संबंधित परेशानियों के भी संकेत मिल रहे है।

विवाह के लिए शनि पारगमन रिपोर्ट खरीदें आैर जानें शनि वक्री का आपके विवाह पर क्या प्रभाव पड़ेगा

कुंभ राशि के लिए शनि ग्रह के वक्री होने का फल

– वक्री शनि ग्यारवें भाव में
वक्री शनि 2017 के प्रभाव से आपकी सभी इच्छाएं पूरी होगी। आप जो भी काम हाथ में लेंगे उसमें आपको सफलता मिलेगी। इसलिए, गणेशजी आपको उन सब कामों को हाथ में लेने की सलाह देते है जिन्हें आप पिछले लंबे समय से टाल रहे थे, क्यूंकि शनि वक्री की अवधि उन कार्यों के तार्किक निष्कर्ष तक पहुंचने के लिए अनुकूल है। विदेश की यात्रा लाभदायी होगी। स्वास्थ्य संबंधी मसलें हल होंगे। हालांकि, आपको अपनी सेहत को हल्के में नहीं लेना चाहिए आैर नियमित जांच करानी चाहिए। वित्तीय समस्याआें में कमी आने से आप राहत महसूस करेंगे, लेकिन अत्यधिक खर्चीले ना बनें।

वक्री शनि आपकी आर्थिक स्थिति को काफी प्रभावित कर सकता है, वित्तीय मार्गदर्शन के लिए पाए समृद्घि के लिए शनि पारगमन रिपोर्ट

मीन राशि के लिए शनि ग्रह के वक्री होने का फल

– वक्री शनि दशम भाव में
शनि वक्री के प्रभाव के तहत आप अपने पेशे में परेशानियों का सामना कर सकते है। वहीं गणेशजी आपको अपने सहकर्मियों आैर सुपीरियर्स के साथ बहस से बचने की सलाह देते है, अन्यथा उनके साथ आपके संबंध खराब हो सकते है आैर आपकी पेशेवर प्रगति रूक सकती है। वहीं नौकरी में प्रमोशन पाने में बाधाआें के संकेत मिल रहे है। हालांकि, अपना समय धैर्यपूर्वक निकाले, क्यूंकि आपके प्रयासों का प्रतिफल अवश्य मिलेगा। कोर्इ भी काम को पूरा करने में कठिनार्इयां आने का पूर्वानुमान है। वक्री शनि की अवधि में आपको निश्चित लक्ष्य पाने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। सरकारी कामकाजों में विफलता या विलंब की संभावना है।

अपने कैरियर को लेकर चिंतित है ? तो कैरियर के लिए शनि पारगमन रिपोर्ट खरीदें

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
संघप्रिय सदानशिवकर (संगमजी)
(स्पेशल इनपुट: आदित्य सांर्इं)
गणेशास्पीक्स डाॅटकाॅम टीम

ग्रहों के पारगमन से जुड़े अन्य लेख पढ़ना ना भूलें

1. शनि का धनु में गोचरः कुछ बड़े बदलाव के लिए हो जाए तैयार

2. साल 2017 में गुरू कन्या राशि में वक्री और आपका किस्मत…

3. जानिए शनि की साढ़े साती से जुड़े दिलचस्प पहलू !

4. 2017 में शनि का गोचर : जानें 12 राशियों पर इसका प्रभाव

5. देखो शुक्र आये मीन राशि में: जानें किस राशि के लिए क्या Good News लाये ?

6. मंगल गोचर 2017: मंगल मेष में, जानें बारह राशियों पर प्रभाव

15 Mar 2017

View All blogs

Follow Us