मीन राशि में उच्च का शुक्र हुआ अब मार्गीः किस राशि को करेगा निहाल - GaneshaSpeaks
https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

मीन राशि में उच्च का शुक्र हुआ अब मार्गीः किस राशि को करेगा निहाल

मीन राशि में उच्च का शुक्र हुआ अब मार्गीः किस राशि को करेगा निहाल

नवग्रहों में मुख्यमंत्री का स्थान रखने वाला शुक्र ग्रह- कला, वैभव, मौजमस्ती और भावनाओं का कारक है। यह ग्रह जातक को कलात्मक बनाने के साथ ही आकर्षक व्यक्तित्व भी प्रदान करता है। वैदिक ज्योतिष ने इसे ब्राह्मण वर्ण और स्त्री ग्रह कहा है। पत्नी, रोमांस, सवरे व शाम, उत्तम जानकारी, सुंदरता, संगीत, नृत्य,काव्य, सिनेमा जगत, सांस्कृतिक कार्यक्रमों, मौजमस्ती से संबंधित चीजों, फैशन डिजाइनिंग, इंटीरियर डेकोरेशन, वस्त्र, चांदी, इत्र जैसी सुंगधित चीजों, जरी काम, शानदार वस्तुएं, रेस्टोरंट, होटल मैनेजमेंट और रसोई कला सहित हर एक प्रकार की कला पर शुक्र का अधिकार होता है। खासकर कि संबंधों के ऊपर इसका वर्चस्व दिखाई देता है। अगर कुंडली में शुक्र बलवान हो तो ऊपर बतायी गयी चीजों व स्थानों में जातक को शुभ फल दिलाता है। यदि यही शुक्र दुर्बल हो तो शुभ की जगह अशुभ फल देता है।

वर्तमान में, ग्रहों की स्थिति के अनुसार शुक्र अपनी उच्च राशि में विचरण करता है। दिनांक 15-4-2017 से यह वक्री चाल बदलते हुए मार्गी गति करने लगेगा। अशुभ स्थिति में होने पर वक्री शुक्र भी अपने कारकत्व में नकारात्मक परिणाम लेकर आ सकता है। चलिए देखें,15 तारीख के बाद मार्गी होने वाला शुक्र राशि चक्र की बारह अलग-अलग राशियों में कैसा परिणाम दिखाने वाला है।

[कृपया ध्यान देंः ये भविष्यवाणियां चंद्र राशि को ध्यान में रखकर की गई हैं। लेकिन, इसका कुछ प्रभाव लग्न राशि वालों पर भी लागू होंगे]

मेष राशि के लिए शुक्र के मार्गी होने का फल

-शुक्र बारहवें भाव में
इस राशि में शुक्र दूसरे व सातवें भाव का स्वामी बनता है। कौटुंबिक संबंधों और लोक व्यवहार में अच्छा माहौल रहेगा। जहां रूपये-पैसे का सुख उठाएंगे वहीं आकस्मिक खर्चों के लिए भी तैयार रहना होगा। पति या पत्नी यदि किसी आकस्मिक पीड़ा से गुजर रहे हैं तो उसमें सुधार आएगा। विवाह के लिए उत्सुक जातकों के लिए शुभ समय कहा जाएगा। उत्तम दांपत्य सुख का मजा ले सकेंगे। क्या आप रिश्तों के मामले में आैर अधिक स्पष्टता चाहते है, तो खरीदें संबंध एक प्रश्न पूछें – विस्तृत सलाह रिपोर्ट।

वृषभ राशि के लिए शुक्र के मार्गी होने का फल

-शुक्र ग्यारवें भाव में
इस राशि का स्वामी शुक्र है। सभी राशियों में चंद्र व शुक्र को भावना प्रधान राशि कहा जाता है। कुंडली चक्र के अनुसार शुक्र अपनी उच्च राशि यानी मीन राशि में भ्रमण करता है। सामान्य तौर पर स्वास्थ्य के अच्छे रहने पर भी कफ प्रधान व्यक्तियों को सर्दी और फ़्लू से अपना बचाव करना होगा। बुजुर्गों, बड़े भाई और मित्रों की ओर से लाभ मिलेगा। जरूरत पड़ने पर उनकी ओर से आपको पर्याप्त मार्गदर्शन की भी आशा रख सकते हैं। मामा से अच्छे संबंध रहेंगे। मौसमी और पेट से संबंधित बीमारियां आपको कष्ट पहुंचा सकती हैं। क्या आप जानना चाहते है कि आपकी कुंडली में सितारे आपकी निजी जिंदगी को लेकर क्या कहते है ? तो निजी जीवन प्रश्न पूछे – विस्तृत सलाह रिपोर्ट का लाभ उठाए।

मिथुन राशि के लिए शुक्र के मार्गी होने का फल

-शुक्र दसवें भाव में
शुक्र इस राशि से दसवें स्थान में भ्रमण करते हुए सुख स्थान पर अपनी दृष्टि डालेगा। आपको मकान-वाहन सुख मिलेगा। किसी नए निवेश की संभावना अाकार ले सकती है। धंधे में नए अवसर मिलेंगे। संतान के तबीयत का ध्यान रखें। प्रेम संबंधों के लिए मिश्रित फलदायी समय कहा जाएगा। विद्यार्थी वर्ग को अच्छा फल प्राप्त होगा। सुख-सुविधा के पीछे खर्च होंगे। प्रेम संबंधों में प्रगाढ़ता बढ़ेंगी। अपने पसंदीदा साथी के साथ मुलाकात में अवरोध आएगा। क्या आपकी वित्तीय स्थिति में सुधार आएगा ? इसका जवाब जानने के लिए खरीदें समृद्घि एक प्रश्न पूछें रिपोर्ट।

कर्क राशि के लिए शुक्र के मार्गी होने का फल

-शुक्र नवम भाव में
आपकी राशि से त्रिकोण स्थान में उच्च का शुक्र आपको अच्छा फल दे जाएगा। आकांक्षाओं के पूरे होने की अवधि रहेगी। कलाजगत से जुड़े जातकों के लिए यह समय फलदायी बीतने की संभावना है। आर्थिक लाभ की संभावना अधिक रहेगी। आप अपने साहस से आगे बढ़ेंगे। माता से फायदा होगा, पर माता की तबीयत में निरंतर बदलाव आनेे के आसार हैं। अटके हुए धन की प्राप्ति संभव है। नए कार्य शुरू करने में भी अनुकूलता रहेगी। कौटुंबिक मोर्चे पर कुछ मतभेदों की संभावना रहेगी। आर्थिक रूप से वर्ष 2017 अापके लिए कैसा रहेगा, इस बारे में जानने के लिए खरीदें 2017 वित्त रिपोर्ट।

सिंह राशि के लिए शुक्र के मार्गी होने का फल

-शुक्र आठवें भाव में
शुक्र के आपकी राशि से अष्टम स्थान में भ्रमण करने से उसका परिणाम मध्यम रूप से मिलने का अंदेशा है। कामकाज में आपकी व्यस्तताएं बढ़ेंगी। छोटी-बड़ी मुसाफिरी के योग हैं। छोटे भाई-बहन और पड़ोसियों के साथ सुमेल बढ़ेगा। अंतः प्रेरणा से आप सफतापूर्वक कामों को अंजाम देंगे। वसीयत के कामों के निपटारे की अवधि होगी। धन प्राप्ति में वृद्धि होगी। शुक्र के कारकत्व में आए व्यापारों से वास्ता रखने वाले जातकों के कारोबार में तेजी आएगी। क्या आप अपने कैरियर के बारे में आैर अधिक जानना चाहते है ? तो खरीदें कैरियर एक प्रश्न पूछें रिपोर्ट।

कन्या राशि के लिए शुक्र के मार्गी होने का फल

-शुक्र सातवें भाव में
आपकी राशि से सातवें स्थान में स्थित उच्च का शुक्र आपके लिए लाभदायक रहेगा। भाग्यवृद्धि होगी। धार्मिक कामकाज में शिरकत करेंगे। तीर्थ स्थान की यात्रा होगी। नए संबंध विकसित होंगे। भागीदारी के कार्यों से लाभ होगा और किसी नए करार से जुड़ने की संभावना बलवती होगी। शादी के लिए उत्सुक जातकों की किसी योग्य व्यक्ति से मिलने की संभावना है। वरिष्ठ लोगों की तबीयत चिंता का कारण बन सकती है। मित्रों के साथ विवाद रहने की शंका है। कुल मिलाकर, इस समय आप व्यस्त रहेंगे। कोर्इ भी प्रश्न पूछें रिपोर्ट खरीदें आैर अपने किसी भी तरह के मसलें का समाधान पाए

तुला राशि के लिए शुक्र के मार्गी होने का फल

-शुक्र छठें भाव में
इस राशि का स्वामी छठें स्थान में अपनी उच्च राशि में विचरण करेगा। हेल्थ के छोटे-मोटे खर्च लगे रहने का अंदेशा है। मोटापे, डायबिटीज और कफ जैसी समस्याओं में स्वास्थ्य के प्रति सावधानी रखें। ननिहाल व ससुराल पक्ष से सुख मिलेगा। आप इस समय अपने शौक को पूरा करने के लिए धन खर्च करने से भी नहीं चूकेंगे। क्या आप ये जानने को लेकर उत्सुक है कि वर्ष 2017 में आपकी वित्तीय स्थिति कैसी होगी ? तो खरीदें 2017 वित्त रिपोर्ट।

वृश्चिक राशि के लिए शुक्र के मार्गी होने का फल

-शुक्र पंचम भाव में
शुक्र के अपनी उच्च राशि व त्रिकोण स्थान (पंचम स्थान) में भ्रमण करना वृश्चिक राशि धारक जातकों के लिए मध्यम फलदायी साबित होगा। लग्न और प्रेम संबंधों में अनुकूलता बढ़ेंगी। विपरीत लिंगी सदस्यों के साथ आपका मिलना-जुलना बढ़ेंगा। पार्टनरशिप में हुए निवेश के बढ़ने के आसार रहेंगे। सुख-सुविधा के पीछे खर्च की संभावना है। इस समय दौरान संतान से जुड़ी चिंता हल्की होगी। लाभ की संभावनाएं बली होंगी। कोर्ट-कचहरी के मामलों में सावधानी रखनी होगी। लाभ के रास्ते में आने वाली रूकावटें अब दूर हो जाने की संभावना है। क्या आप शादी की योजना बना रहे है ? तो विवाह एक प्रश्न पूछेंः विस्तृत सलाह रिपोर्ट से विशेषज्ञ मार्गदर्शन प्राप्त करें।

धनु राशि के लिए शुक्र के मार्गी होने का फल

-शुक्र चौथे भाव में
शुक्र इसके लग्न स्थान से चौथे स्थान यानी सुख स्थान में भ्रमण करता है। जातक को पारिवारिक सुख मिलने का संकेत है। इस राशि के स्वामी की दृष्टि काफी शुभ असर डालती है। मकान-वाहन से संबंधित काम पूरे होंगे। उच्च अधिकारियों द्वारा फायदा मिलेगा और उनका हाथ आपके सर पर होने से आपके कई काम आसानी से पूरे हो जाएंगे। प्रोफेशनल मोर्चे पर उल्लेखनीय प्रगति की आशा है। अपने काम से संतुष्ट रहेंगे। कलाजगत से जुड़े जातकों को विशेष लाभ मिलने की संभावना है। रोग व शत्रुओं की ओर से कष्ट मिलने का समाचार मिलने की आशंका को देखते हुए सचेत रहने की सलाह दी जाती है। मान-सम्मान में बढ़ोत्तरी होगी। घर के बड़े लोगों की ओर से लाभान्वित हो सकते हैं। अपने कैरियर के बारे में जानने के लिए खरीदें 2017 कैरियर रिपोर्ट

मकर राशि के लिए शुक्र के मार्गी होने का फल

-शुक्र तीसरे भाव में
उच्च का शुक्र मकर राशि से तीसरे स्थान में भ्रमण करता है। भाग्य वृद्धि और प्रेम संबंधों की संभावना मजबूत होगी। पसंदीदा साथी के साथ सुमेल रहेगा। छोटी-बड़ी मुसाफिरी का योग बनेगा। ऊपरी अधिकारियों के साथ मतभेद नहीं होने पाए इसका जरा ध्यान रखना। तबीयत के प्रति सचेत रहें। परेदश जाने की इच्छा रखते हैं तो इस समय ग्रहों का साथ आपके साथ है। कलाजगत से जुड़े जातकों को शुभ फल की प्राप्ति होगी। छोटे भाई-बहनों से मुलाकात का योग बनेगा। उनके साथ कम्युनेशन भी बढ़ेंगा। निकटवर्ती लोगों के साथ आनंद से जीवन यापन कर सकेंगे। क्या आप प्यार के मामलों को लेकर परेशान है ? तो इसका समाधान पाए प्रेम एक प्रश्न पूछें – विस्तृत सलाह रिपोर्ट से।

कुंभ राशि के लिए शुक्र के मार्गी होने का फल

-शुक्र दूसरे भाव में
आपकी राशि से दूसरे स्थान पर उच्च के शुक्र का गुजरना आर्थिक मोर्चे पर बढ़िया फल दे जाएगा। परिवार में किसी नए सदस्य का आगमन होगा। मेहमानों का तांता लगा रहेगा। विवाह या संतान सुख के लिहाज से उत्तम समय कहा जाएगा। गुप्त संबंध बनने के भी संकेत मिलते हैं। पति-पत्नी के बीच मतभेद रहेंगे। फंसे पैसों की प्राप्तियां हो सकती हैं। नए मकान या वाहन की खरीदी के योग बनते हैं। पर आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति सावधानी रखनी होगी। विशेष रूप से गले, थाइराइड, जीभ में छाले पड़ने और गुप्त बीमारियों इत्यादि होने की आशंकाएं बहुत बढ़ जाएंगी। इस समय के दौरान शुक्र प्रधान कार्यों में जातक अधिक प्रगति करके आर्थिक फायदा हासिल कर सकता है। ग्रहों का विन्यास वर्ष 2017 के लिए क्या संकेत देता है ? इसका जवाब पाने के लिए खरीदें 2017 वार्षिक रिपोर्ट।

मीन राशि के लिए शुक्र के मार्गी होने का फल

-शुक्र पहले भाव में
आपकी राशि में शुक्र का भ्रमण आपकी संवेदनशीलता को बढ़ा देगा। भावनाओं के बढ़े-चढ़े होने की वजह से आप दूसरों से कुछ ज्यादा ही अपेक्षाएं रखेंगे। उम्मीदों के पूरे नहीं होने पर खिन्नता व निराश मन में घर कर सकती है। दांपत्य जीवन में भी मधुरता रहेगी। चोटों व दुर्घटनाओं से अपना बचाव करें। वसीयत की संपत्तियों में आ रहे अवरोध अब मिट सकते हैं। ससुराल पक्ष से लाभ होने के आसार हैं। गूढ़ ज्ञान की ओर उत्सुकता बढ़ेगी। जो लोग पहले से ही किसी रोग की गिरफ्त में हैं उनको इस समय काफी सचेत रहना होगा अन्यथा तबीयत खराब हो जाने का डर रहने की संभावना है। जिंदगी के विभिन्न क्षेत्रों में चीजें किस तरह अाकार लेगी। इस संबंध में मार्गदर्शन आैर समाधान पाने के लिए 2017 विस्तृत वार्षिक रिपोर्ट का लाभ उठाए।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
बिंदु पंड्या
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

ये अन्य लेख पढ़ना भी ना भूलें
1. बुध रहेंगे वक्री मेष राशि मेंः क्या अाप अपने बुद्धिबल से आगे बढ़ सकेंगे? जानें राशिफल
2. शनि का धनु में गोचरः कुछ बड़े बदलाव के लिए हो जाए तैयार
3. जानिए शनि की साढ़े साती से जुड़े दिलचस्प पहलू !
4. 2017 में शनि का गोचर : जानें 12 राशियों पर इसका प्रभाव

Follow Us