https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

जानें बुध की वक्री चाल आपके जीवन में क्या और कैसे बदलाव लाएगी ?

जानें बुध की वक्री चाल आपके जीवन में क्या और कैसे बदलाव लाएगी ?

मित्रों, साल का वो समय फिर से वापस आ गया है जब बुध वक्री हो जाएगा। 19 दिसंबर, 2016 से 8 जनवरी, 2017 के बीच बुद्धि और तर्क का यह ग्रह रिवर्स गियर में धनु राशि में भ्रमण करेगा। इस बुद्धिशाली ग्रह का पीछे की ओर चलना कम्युनिकेशन, जानकारी को समझने, संचार और गजेट्स के परफॉरमेंस में दिक्कतें खड़ी कर सकता है। इसके अलावा, इस चरण के दौरान इंटरनेट की स्पीड से संबंधित मुद्दे भी छाए रह सकते हैं। देखा जाए तो यह पारगमन कई तरह से हमें प्रभावित कर सकता है। यहां हम आपकी आसानी के लिए चंद्र राशि को आधार मानकर भविष्यवाणियां कर रहे हैं। इसे ध्यान से पढ़ें और इस अवधि के लिए पहले से ही अपने आपको तैयार कर लें।

कृपया ध्यान दें: हालांकि, ये भविष्यवाणियां चंद्र राशि पर आधारित है, पर इसका प्रभाव लग्न राशि के लिए भी लागू होता है।

1) मेष राशि
बुद्धिशाली ग्रह बुध का नौवें भाव से होकर गुजरना आपके लिए यात्रा की संभावनाओं को इंगित करता है। इसकी यात्रा के दौरान आप को आकस्मिक यात्राओं पर जाना पड़ सकता है। सफर शुरू करने से पहले आपको इसके लिए अपने आपको पूरी तरह से तैयार रहना होगा क्योंकि इस यात्रा के दौरान आपको अप्रत्याशित रूप से खर्च उठाने पड़ सकते हैं।

वर्कप्लेस पर, सहयोगियों के साथ मिस-अंडरस्टैंडिंग्स और अन-नेसेसरी आर्ग्यूमेंट्स होने की आशंका है। इसके अलावा, आपको डेली रूटीन में कुछ बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है।

वक्री बुध से बचाव हेतु टिप्स- किसी भी तरह की गड़बड़ी से बचने के लिए आप अपनी एक्टिविटीज कुछ जल्दी स्टार्ट करें। इससे आप अपने सभी काम समय पर खत्म कर सकेंगे।

2) वृषभ राशि
आठवें भाव में बुध का वक्री होना दूसरों के साथ आपके संबंधों के लिहाज से एक अच्छा समाचार नहीं है। आर्थिक रूप से आपको एकाएक लाभ या हानि के आसार हैं। ग्रह के वक्री रहने तक नुकसान के अंदेशे को देखते हुए इन न होने देने के लिए पूरी कोशिश करें। लव लाइफ में सीरियस कम्युनिकेशन इश्यूज रहने वाले हैं जिससे आप दोनों के बीच के सौहार्द पर बुरा असर पड़ने का खतरा है। फैमिली मेंबर की हेल्थ पर ध्यान देने की जरूरत पड़ सकती है।

वक्री बुध से बचाव हेतु टिप्स- इस चरण के दौरान किसी भी प्रकार के टकराव से बचने के लिए आपके लिए अच्छा यही रहेगा कि अपने इमोशन्स या फीलिंग्स को छिपाएं नहीं।

3) मिथुन राशि
मिथुन राशि का स्वामी स्वयं बुध है। इस वक्री होने से अपने आपको व्यक्त करने और लोगों के समक्ष अपनी बात को रखने में समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। पारस्परिक मुद्दे गहराये रहेंगे। इसलिए, दूसरों के साथ बातचीत में स्पष्टता रखें। अपनी बात को साफ तौर पर नहीं बता पाने की वजह से आप लोगों को आप कुछ कोल्ड या रूखे नजर आ सकते हैं। जीवनसाथी या बिजनेस पार्टनर के साथ किसी बात पर मदभेद होने की संभावना रहेगी।

वक्री बुध से बचाव हेतु टिप्स- मन में कुछ भी संदेह मत रखें, उसे तुरंत ही क्लीयर कर लें। इससे आप गलतफहमियों से दूर रह पाएंगे।

4) कर्क राशि
इस अवधि के दौरान आप खोजी रहेंगे। कार्यस्थल पर नवीन उपायों को अमल में लाएंगे। आपके लिए यह अच्छा रहेगा कि किसी भी एक्टिविटी को शुरू करने से पहले आप उसकी पहले रूपरेखा बना लें, नहीं तो आप उसी काम को बार-बार करने में अापका अधिकांश समय निकल जाएगा। आप को मौसमी बीमारियों के होने का खतरा हो सकता है, इसलिए स्वास्थ्य की अच्छी तरह से देखभाल करें। मनोरंजक क्रियाओं में आपके पैसे खर्च होने की संभावना को देखते हुए आपको अपने खर्चों को अंकुश में रखना चाहिए।

वक्री बुध से बचाव हेतु टिप्स- इस अवधि को पार करने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि आप सोच-समझकर अपना कदम बढ़ाएं और अपने आसपास चल रही चीजों के प्रति चौकन्ने रहें।

5) सिंह राशि
आपको अपने फाइनेंस का रख-रखाव अच्छे तरीके से करना चाहिए। इसकी वजह यह है कि वक्री बुध आपके पैसों के मामलों पर अपना सीधा असर डाल सकता है। परिवार के किसी भी मुद्दे को समझदारीपूर्वक शांत मन से निपटाने की जरूरत है। चल रहे मसलों से आंख बंद कर लेने पर आगे जाकर चीजें भयावह मोड़ ले सकती हैं। आपके परफॉरमेंस में भी उतार-चढ़ाव देखने को मिलेगा। आपके लिए अच्छा यही होगा यदि आप अटकलों से संबंधित मामलों को जरा सावधानी से डील करेंगे।

वक्री बुध से बचाव हेतु टिप्स- फाइनेंसियल डीलिंग्स में केयरफुल रहें। कमिटमेंट तभी करें जब आप इन्हें पूरा कर सकें।

6) कन्या राशि
आपकी राशि के अधिपति यानीकि बुध के वक्री होने से आपका ज्यादातर समय घर में बीतने की संभावना रहेगी। एक तरह से यह चरण आपको अपने करियर की योजना बनाने के लिए एक नया अवसर प्रदान करेगा। सीनियर्स के साथ काम करते समय विनम्र बनें। काम को करते वक्त अपने ऊपर ज्यादा अत्याचार नहीं करते हुए समुचित आराम करने का परामर्श है।

वक्री बुध से बचाव हेतु टिप्स- जब तक बुध आपका मार्गी नहीं हो जाता, तब तक किसी प्रकार के नए प्रोजेक्ट्स शुरू करने से बचें।

7) तुला राशि
इस अवधि के कार्यशील रहने तक आपके भाग्य में उतार-चढ़ाव की संभावना है। इम्पोर्टेन्ट मैटर्स में भाग्य के अधीन होकर कोई काम मत करें। आंतरिक इच्छाएं उभरकर सतह पर आ सकती हैं। इस चरण के दौरान आप अपनी लेखनी के माध्यम से मन की गहनतम भावों को व्यक्त करता हुआ पाएंगे। भाई-बहन के साथ कम्युनिकेशन प्रोब्लेम रहेंगी।

वक्री बुध से बचाव हेतु टिप्स- अपने प्रयासों को फेल नहीं होने देने के लिए हर चीज के प्रति क्लैरिटी रखें। इसके अलावा आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आपको अपने जो भी मेल या मैसेज अपने क्लाइंट्स को भेजने हैं उसे समय पर पहुंचाया जा सकें।

8) वृश्चिक राशि
सही समय का लाभ उठाने पर आपको चमत्कारिक रूप से आपको लाभ होने के योग हैं। लेकिन, खर्चे भी काफी होंगे। फ्रेंड्स के सहायक रहने के बावजूद उनके साथ पैसों का संबंध नहीं रखना आपके हित में रहेगा। इसके अलावा, आप यदि कुछ नया करने की योजना बना रहें हैं तो आपको फाइनेंसियल आस्पेक्ट्स को लेकर काफी सजग रहना होगा। इस पीरियड में आपको कुछ छिपे सीक्रेट्स पता चल सकते हैं।

वक्री बुध से बचाव हेतु टिप्स- जीवन में परिवर्तनों को स्वीकार करते हुए सकारात्मकता के साथ चीजों को गले लगाएं।

9) धनु राशि
रिश्ते और करियर एेसे दो क्षेत्र है जिसके इस पारगमन के दौरान प्रभावित होने की संभावना है। आपके द्वारा किए गये प्रयासों का कोई ठोस परिणाम नहीं मिलेगा। लेकिन इससे हताश होने के बजाय अपना मनोबल ऊंचा रखें। इस बीच आप और आपके साथी के बीच छोटी-मोटी बातों के लेकर वाकयुद्ध युद्ध छिड़ने की संभावना है। विचार भिन्नता की वजह से आपकी राय किसी मसले को लेकर अलग भी रह सकती है। किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच पाने से अनिर्णय की स्थिति रहेगी।

वक्री बुध से बचाव हेतु टिप्स- पर्सनल एवं प्रोफेशनल लाइफ के बीच बैलेंस बनाने का प्रयास करें।

10) मकर राशि
जीवन के इस चरण में आपकी उन्नति की राह में रूकावटें आती रहेंगी। यहां तक कि सीधा-सादा काम भी समय खराब होने से बोझिल नजर आएगा। कुछ भी नया करने में दिलचस्पी नहीं लेंगे। पिता की ओर से परेशानियों के संकेत हैं। हायर एजुकेशन हासिल कर रहे जातकों का अनजानी विपत्तियों से साक्षात्कार होगा। त्वचा से संबंधित व्याधियों के उत्पन्न होने के खतरे को देखते हुए आपको सावधान रहने की चेतावनी दी जाती है। शाकाहारी आहार की जीवन शैली का अनुसरण करते हुए हरी पत्तेदार सब्जियों का उपभोग करें तथा खाने-पीने और आचार-विचार में स्वच्छता के सिद्धांत को महत्व दें।

वक्री बुध से बचाव हेतु टिप्स- अपनी स्किन की रक्षा करें और अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखें। इसके अलावा, आप को अपने जीवन में आध्यात्मिकता का विकास करना चाहिए।

11) कुंभ राशि
इस पारगमन के बुरे प्रभाव से आपके अपने दोस्तों के साथ रिश्ते खराब होने की आशंका है। आपको ड्राइविंग
और ट्रैवलिंग देख-संभलकर करने की जरूरत है। यदि आप स्टूडेंट है तो आपको अपने कोर्स को पूरा करने का अवसर मिलेगा। यदि आपकी कोई महत्वपूर्ण वस्तु या फाइल खो गई है तो वह इस दौरान वापस मिलने के योग हैं।

वक्री बुध से बचाव हेतु टिप्स- दूसरों से आप जिस चीज का भी वादा करें, उसे आप पूरा करें।

12) मीन राशि
निजी मामलों में अनिश्चितताओं के संकेत हैं। इससे आपके संबंध बिगड़ने का खतरा है। ट्रिकी सिचुएशन्स में तुरंत प्रतिक्रिया देने की बजाय आपको सिचुएशन को अच्छी तरह से एनालाइस करने की कोशिश करना चाहिए। किसी झगड़े की समस्या को देखते हुए फॉर्मल कम्युनिकेशन में केयरफुल रहें। कामकाज में तरह-तरह के झंझटों के रहने की वजह से आपको डेडलाइन के भीतर अपने टार्गेट को पूरान करने में दिक्कतें आ सकती हैं।

वक्री बुध से बचाव हेतु टिप्स- वक्री बुध के कुप्रभाव से अपना बचाव करने के लिए तोल-मोल कर बोलें। इससे आपको दूसरों के विचारों को समझने में मदद मिलेगी।

क्या आप जानते हैं कि आपके जन्म नक्षत्र या सितारे आपकी पर्सनालिटी व व्यवहार पर बहुत बड़ा इन्फ्लुएंस डालते हैं? अब अपनी जन्म नक्षत्र रिपोर्ट बिल्कुल फ्री पाएं !

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

Follow Us