शनि का मकर में गोचर, तुला राशि पर प्रभाव और समाधान

शनि का मकर में गोचर, तुला राशि पर प्रभाव और समाधान

वैदिक ज्योतिष के अनुसार सबसे प्रभावी ग्रहों में से एक शनि 23 जनवरी 2020 को अपनी मौजूदा राशि धनु को छोड़कर मकर में प्रवेश करने वाला है। ग़ौरतलब है कि शनि को एक राशि चक्र पूरा करने में लगभग 30 सालों का समय लगता है। शनि का मकर में गोचर इसलिए भी खास है, क्योंकि मकर, शनि की स्वराशि है। शनि का मकर में गोचर ढाई सालों के लिए होने वाला है, इस हिसाब से में शनि अप्रैल तक रहेंगे। इस दौरान वह राशि चक्र की प्रत्येक राशि को प्रभावित करेंगे। लेकिन फिलहाल हम शनि के मकर में गोचर का तुला राशि पर पड़ने वाले प्रभावों का अध्ययन करेंगे।

वैदिक ज्योतिष पद्धति से तुला जन्म कुंडली देखने पर पता चलता है, कि शनि चौथे व पांचवें भाव का स्वामी है। चौथा भाव ज़मीन-जायदाद, माता, सुख, वाहन, उच्च शिक्षा, घरेलू जीवन और घनिष्ठ प्रेम को दर्शाता है। शनि का मकर में गोचर के दौरान आप कुछ विलासी वस्तुओं की ओर आकर्षित हो सकते हैं, जिससे खर्च बढ़ने की संभावना है। शनि का मकर गोचर आपके व्यापार पर भी विपरीत प्रभाव डालने वाला है। हालांकि इस दौरान आपके द्वारा अपनाया गया सकारात्मक दृष्टिकोण दुष्प्रभावों को कम करके उचित फल देने में भी समर्थ है। वैदिक ज्योतिष के अनुसार शनि किसी सख्त शिक्षक की तरह आपको कड़ी मेहनत और अनुशासित करने का काम करता है।

बीते ढाई साल और शनि

प्रत्येक ढाई साल में राशि परिवर्तित करने वाले शनि ने साल 2017 में वृश्चिक से धनु में प्रवेश किया था। इस गोचर के साथ ही आपने जीवन में कई तरह की राहत महसूस की होगी। आपने खुद को आर्थिक रूप से निर्भर और स्थिर पाया होगा। ऐसा शनि का धनु में गोचर 2017 के कारण संभव हो पाया, 2017 में शनि के धनु में प्रवेश के साथ ही तुला राशि जातकों पर जारी शनि की साढ़े साती खत्म हो गई थी। इस समयावधि के दौरान आपने जीवन में कुछ नया और बेहतर प्राप्त  किया होगा। यह समयावधि आपके जीवन के लिए एक सकारात्मक दौर रहा होगा। शनि का धनु में गोचर 2017 की समयावधि में आपने अपनी संवाद शैली में भी आमूलचूल बदलाव देखें होंगे। फिलहाल 2020 शनि का मकर में गोचर होने वाला है। आइए जानने की कोशिश करते हैं कि तुला राशि पर इसके क्या प्रभाव पड़ने वाले हैं।

शनि का मकर में गोचर तुला राशि पर पड़ने वाले प्रभाव

शनि का मकर में गोचर 2020 तुला राशि जातकों के जीवन में कुछ कठिनाइयाँ लेकर आने वाला है। लेकिन आपको इन परिस्थितियों को सकारात्मक दृष्टिकोण से देखने की जरूरत है। इस दौरान अपनाया गया सकारात्मक रूख समय के साथ आपको लक्ष्य के और नज़दीक पहुंचाने का काम करेगा।

शनि का मकर में गोचर का करियर पर प्रभाव

शनि का मकर में गोचर 2020 के दौरान आप अपने करियर को ढलान पर पाएंगे।

आपको अपनी मेहनत का उचित परिणाम प्राप्त करने में अधिक समय लगेगा।

इस दौरान आपको अपनी नौकरी में ट्रांसफर का भी सामना करना पड़ सकता है।

शनि का मकर में गोचर 2020 के दौरान आप अपने करियर को ढलान पर पाएंगे।

इस समायावधि में स्मार्ट वर्क करें और धैर्य बनाने रखे, इससे आपको उचित परिणाम मिल सकते है।

इस दौरान उच्च अधिकारियों से टकराव की स्थिति बन सकती है। इसके पीछे आप पर बढ़ रहा वह कार्यभार है जिसके कारण आप हतोत्साहित महसूस कर रहे है।

इस दौरान आप अपने पेशेवर जीवन में भी कठिन दौर का सामना करने वाले है, आपकी अपने सहकर्मियों या वरिष्ठ अधिकारियों से निर्धारित लक्ष्यों काे प्राप्त नहीं कर पाने या किसी अन्य संदर्भ में बहस हो सकती है।

शनि गोचर का व्यापार-व्यवसाय पर प्रभाव

व्यापारी वर्ग व्यापारिक परिस्थितियों से असंतुष्ट रहने वाले है।

इस दौरान आपको अपने व्यवहारिक दृष्टिकोण से गोचर के नकारात्मक प्रभावों को कम करना चाहिए।

व्यापारिक परिस्थितियों के कारण आप अधीर हो जाएंगे, जिससे आप में विफलता की भावना उत्पन्न होगी।

इस दौरान आपके व्यापारिक सहयोगियों से मतभेद होंगे। जिससे आपके लिए विपरीत परिस्थितियां निर्मित होंगी।

आपको अपनी व्यापारिक योजनाओं को पूरा करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। कार्यों को पूरा करने में जरूरत से अधिक समय लगेगा।

इस दौरान आपको अपने सहकर्मियों के साथ व्यापार के उन पहलुओं पर विचार करना चाहिए, जिससे व्यापार के विस्तार और विकास में मदद मिले।

शनि गोचर का आर्थिक स्थिति पर प्रभाव

शनि मकर में गोचर के दौरान आर्थिक स्थिरता के लिए आपसे अनुशासित रहने की मांग करता है।

हालांकि यह समयावधि दीर्घकालिक निवेश के लिए एकदम उपयुक्त और इस समय आपको अपने पिछले निवेश से अच्छे नतीजे मिलने की भी संभावना है।

शनि के मकर में गोचर के दौरान आप विलासिता की ओर आकर्षित रहेगा, फलस्वरूप आप इन पर खर्च करेंगे। इस परिस्थिति के कारण आपके आय-व्यय में बढ़ा अंतर उत्पन्न होने की संभावना है।

हालांकि शनि गोचर का यह दौर आपको लंबे समय के लाभ भी प्रदान करेगा, इसके गुज़र जाने के बाद आप खुद को अधिक संयमित, धैर्यवान और अनुशासित पाएंगे। यदि आप शनि की सख्त सीख को सकारात्मक दृष्टिकोण से लेते हुए सही अनुभव ग्रहण कर पाएं।

शनि गोचर का निजी जीवन पर प्रभाव

इस दौरान आपको अपने बड़े बुजूर्गों की बात मानने की सलाह है, धैर्य बनाए रखें और जल्दबाजी में कोई भी निर्णय लेने से बचें।

आपके रिश्तों में पूर्व में आई परेशानियां पुनः सिर उठा सकती है, जिससे आपकी निराशा का स्तर बढ़ने की पूरी संभावना है। इस तरह की परिस्थिति आपके जीवन की कठिनाइयों को और बढ़ाने वाली है।

इस गोचर के दौरान आपके और आपके साथी के बीच कुछ ग़लतफ़हमियाँ पैदा हो सकती है, जिससे आपके रिश्ते पर नकारात्मक प्रभाव पड़ने की संभावना है। इसलिए आपको ऐसी परिस्थितियों  से सावधानी और सलीके से निपटना चाहिए।

शनि का 2020 मकर गोचर आपसे अपने प्रेम या वैवाहिक संबंध पर सामान्य सेे अधिक ध्यान देने की मांग करता है। इस दौरान आपको अपने साथी के साथ किसी भी ऐसे मुद्दे पर विचार करने से बचना चाहिए जिससे बहस की स्थिति निर्मित हो।

अपने जीवन में शनि के दुष्प्रभावों से बचने और उसके प्रभाव को कम करने के लिए समाधान प्राप्त करें हमारे ज्योतिषी विशेषज्ञों से अभी!

शनि गोचर का स्वास्थ्य पर असर

इस दौरान आप अपनी मां के स्वास्थ्य को लेकर भी चिंतित रह सकते है।

इस दौरान रक्तचाप और दिल से जुड़ी अन्य समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है।

इस समयावधि में आपको अपने और अपनी माता के स्वास्थ्य की लगातार जांच करवाते रहना चाहिए। क्योंकि बीमारी का इलाज़ करने से अधिक उसे न पनपने देना समझदारी है।

मकर में शनि का गोचर 2020 आपको मानसिक तनाव देने वाला है, जो आगामी समय में स्वास्थ्य समस्या की बड़ी वजह बन सकता है। इस दौरान आपको व्यायाम और योग के माध्यम से आत्म शांति प्राप्त करने की कोशिश करना चाहिए।

निष्कर्ष – 2020 में शनि का गोचर आपको नकारात्मक प्रभावों के माध्यम से आगामी जीवन को बेहतर बनाने के लिए प्रेरित करता है। इस दौरान बरता गया संयम और धैर्य दीर्घावधि में आपको अपने लक्ष्यों तक पहुंचाने में मददगार साबित होगा।

अपने व्यक्तिगत समाधान प्राप्त करने के लिए, एक ज्योतिषी विशेषज्ञ से बात करें अभी!

गणेशजी की कृपा से,

गणेशस्पीक्स.कॉम टीम

19 Dec 2019

View All blogs

Follow Us