नक्षत्र – स्वाति

स्वाति नक्षत्र का चिह्न अंकुर या कोंपल हैं जो हवा के हल्के झोंके में लहरा रहा हैं | इनके ईष्ट या पीठासीन देव वायु देव हैं जो पवन के देव हैं | ये नक्षत्र नई शुरुआत, अनुकूलनशीलता और विकास को दर्शाता हैं | ये हवा के रुख के साथ मुड़ जाते हैं जो इनके लचीलेपन को प्रदर्शित करता हैं | हालांकि इसका अर्थ कमजोरी और असुरक्षा भी हैं | ये बड़े जीवट होते हैं |स्वाति नक्षत्र देवी सरस्वती से भी अनुबंधित हैं जो विद्या की देवी हैं | इसका मतलब यह है कि इस नक्षत्र वाले संगीत और साहित्य के पुजारी होते हैं | ये अतींद्रिय संवेदी,अंतर्ज्ञानी और धर्मशास्त्र के उस्ताद होते हैं | स्वाति का मतलब पुरोहिती भी होता हैं और ये दार्शनिक और आध्यात्मिक होते हैं | अत: जब इस नक्षत्र में चन्द्रमा हो तो सरस्वती माता की अराधना करना शुभ होता हैं |स्वाति नक्षत्र के लोगो की खासियत यह होती हैं कि ये विपरीत सेक्स के प्रति मुर्छित होने की हद तक आकर्षित होते हैं | पर ये ज्यादा सामाजिक नहीं होते हैं | ये आत्मनिर्भर होते हैं |ये अति आत्मनिर्भरता की वजह से मुसीबत में पड़ जाते हैं | अधिकार के लिए ये बिल्कुल सहिष्णु नहीं होते हैं |ये अड़े हुए, प्रतिरोधक और घमंडी होते हैं | खासकर अगर उनकी स्वतंत्रता जब खतरे में पड़ी हो | ये जकड़े और उथले भी होते हैं | ये सभी का उनकी स्थिति और ताकत के आधार पर आदर करते हैं | पर जो इनको कम करके आंकते हैं उन्हे कभी माफ़ नहीं कर पाते हैं | ये दुसरो की उन्नति से जलते नहीं हैं | लेकिन अपने स्वयं के धन का साझा करने के अनिच्छुक होते हैं | इस नक्षत्र के देव वायु चपलता और अस्थिरता को दिखाते हैं | ये शरीर में वात का भी कारण भी होता हैं |जो शरीर में गड़बड़ी कर सकता हैं जैसे कि पेट फ़ूलना आदि |इन्हे अपनी आंतो और छाती का ख्याल रखना चाहिये | राहु, शुक्र और शनि स्वाति में बहुत शक्तिशाली होते हैं | पेशे में ये व्यापारी, खरीदार, विक्रेता, स्वतंत्र व्यवसायी हो सकते हैं | ये सन्यासी,पुजारी और भक्त भी हो सकते हैं |

It is a good year for remarriage!

List of Nakshatras
अश्विनी भरणी कृतिका रोहिणी मृगशीर्ष आर्द्रा पुनर्वसु पुष्य मृगशीर्ष अश्लेषा मघा मूल पूर्वा फ़ाल्गुनी उत्तरा फ़ाल्गुनी हस्त चित्रा स्वाति विशाखा अनुराधा ज्येष्ठा पूर्वाषाढा उत्तरा षाढा रेवती श्रवण धनिष्ठा शतभिषा अभिजीत पूर्वाभाद्रपद उत्तरा भाद्रपद

स्टार गाइड

दैनिक गाइड

संभावित घटनाओं का संकलन, प्रति घंटा मार्गदर्शन, सटीक समय-सीमा और क्या करें और क्या न करें

लाइफ मीटर

जानिए अपनी शारीरिक और मानसिक स्थिति के विभिन्न पहलुओं का प्रतिशत

अनुकूलता

जानिए दूसरों से आपकी तरंगे कितनी मेल खाती है

Rahu - Ketu Transit