पुष्य नक्षत्र

पुष्य के अंतर्गत जन्म लेने वाले जातक को आसानी से पहचाने जा सकते हैं जैसा कि वे कम भाग्यशाली होते हैं। राशि चक्र का आठंवा सितारा जातक के जन्म डिग्री के आधार पर न केवल अपने जातक के लिए बल्कि जातक के माता पिता तथा अन्य प्रियजनों को परेशान करता है। यह देखा गया है कि जब लग्न भी इस स्टार पर गिर जाते हैं, उसी का प्रभाव बढ़ाया है हो सकता है.) हालांकि एक की जरूरत है अलग रूप नक्षत्र से एक पेशीनगोई बयान के बारे में सावधान होने के लिए, वहाँ असंख्य अन्य कारक हैं जो विषय के पाठ्यक्रम निर्धारित करने के जीवन का अस्तित्व है इस नक्षत्र में जन्म लेने वाले जातक शारीरिक विशिष्टता साफ नहीं प्रदर्शित करते जैसा कि अन्य नक्षत्र में जन्म लेने वाले जातक दिखाते हैं। वे आमतौर पर सुखसंबंधी खुशी का पीछा करने में समर्पित कर देते हैं। दुविधा युक्त मन के साथ उनका अधिकांश कार्य आधे दिल से होता है। वे शायद ही किसी का सम्मान करते हैं लेकिन दूसरों से सम्मान की उम्मीद करते हैं। वे चापलूसी से गिर जाते हैं और प्रतिकूल आलोचना से गुस्सा हो जाते हैं। उनकी यह प्रकृति जीवन में उन्हें कई संदिग्ध परिस्थितियों में डालता है। इस नक्षत्र के जातक को आमतौर पर 15 वर्ष की उम्र तक गरीबी का सामना करना पडता है। उनके जीवन में 33 वर्ष के बाद परिस्थिति आर्श्चयजनक तरीके से बदलती है तथा उनके चारों ओर सकारात्मक विकास होता है। इस नक्षत्र के जातक को अपने स्वास्थ्य के संबंध में सावधान रहने की आवश्यकता है जैसा कि उनको पित्त पथरी,गैस्ट्रिक अल्सर, पीलिया, खांसी एक्जिमा और कैंसर अक्सर उन्हें परेशान कर सकते हैं। इसके अंतर्गत जन्म लेने वाली महिलाओं को भी सांस की समस्याएं और स्तन कैंसर हो सकती है। इस नक्षत्र में पैदा हुई महिलाओं के लिए कुछ चिन्हित अंतर होते हैं। वे आम तौर पर धार्मिक, शांति प्रेमी, सम्मानित, विनम्र, ईमानदार और व्यवस्थित होती हैं। इस नक्षत्र के जातक का विवाह ज्योतिषीय मार्गदर्शन में किया जाना चाहिए जैसा कि इस नक्षत्र में पैदा हुए पुरुष शक्की स्वभाव के होते हैं तथा वे अपने माता पिता से काफी लगाव के कारण उनकी देखभाल में रहते हैं।

List of Nakshatras
अश्विनी भरणी कृतिका रोहिणी मृगशीर्ष आर्द्रा पुनर्वसु पुष्य मृगशीर्ष अश्लेषा मघा मूल पूर्वा फ़ाल्गुनी उत्तरा फ़ाल्गुनी हस्त चित्रा स्वाति विशाखा अनुराधा ज्येष्ठा पूर्वाषाढा उत्तरा षाढा रेवती श्रवण धनिष्ठा शतभिषा अभिजीत पूर्वाभाद्रपद उत्तरा भाद्रपद

Continue With...

Chrome Chrome