नक्षत्र – धनिष्ठा

रंगः हल्का ग्रे
भाग्यशाली अक्षरः ज

धनिष्ठा नक्षत्र के पीठासीन देव वसु हैं जो आठ वैदिक देव हैं, और इसका प्रतीक एक ड्रम और बांसुरी हैं | इस नक्षत्र को ‘स्वर समता के नक्षत्र ‘ के रूप में भी जाना जाता हैं | चूंकि वसु उत्कृष्टता और उपकार के पर्याय हैं अत: इसके जातक अपार धन और संपत्ति का प्रबंधन करते हैं | यह नक्षत्र मूल्यवान वस्तुओं, जवाहरात और कीमती धातु, नियमों और दान और आदेश की क्षमता का स्वामीत्व करता हैं | जबकि ड्रम लय और संगीत से जुड़ा हुआ होता हैं | यह लड़ाई और कलह का प्रतीक भी हो सकता है खासकर अगर हानिकारक प्रभाव जुड़ा हुआ हो तो | इस नक्षत्र के लोग दुबले शरीर वाले , बहुमुखी प्रतिभा, बुद्धि, कई क्षेत्रों में विशेषज्ञता हासिल किए हुए होते हैं | इन्हे यात्रा करना, विविध रुचि रखना और नई बातें जानने को उत्सुक रहना अच्छा लगता हैं | ये सामरिक योजनाकार, और अच्छे शिक्षाविद और दूसरों की अपेक्षाओं पर खरे उतरते हैं | इनमें जमा करने और संसाधनों को इकट्ठा करने की शक्ति निहीत होती हैं | ये कई रहस्यों के संरक्षक होते हैं, ये उत्कृष्ट गुप्त सेवा कर्मी हो सकते हैं | ये वाद विवाद में सख्त विरोधी साबित हो सकते हैं, और बदला लेने के लिए हमेशा प्रतीक्षा कर सकते हैं | ड्रम संगीत और नृत्य के लिए इनकी क्षमता और प्यार की ओर इंगित करता हैं | ये समय के बड़े पक्के होते हैं, और सही समय पर सही जगह में होते हैं | लेकिन ये अपने भीतर एक खालीपन महसूस करते हैं, क्योंकि ड्रम और बांसुरी दोनों अन्दर से खोखलें होते हैं |धनिष्ठा नक्षत्र के लोग लगातार इस शून्य को भरने की कोशिश में लगे रहते हैं , और इससे वैवाहिक और अन्य रिश्तों में समस्या उत्पन्न होती हैं |जीवन शक्ति में कमी ,कमजोरी,रक्ताल्पता और खांसी आदि से इनके स्वास्थ्य के लिए खतरा हो सकता हैं | इन्हे मेरूदंड और मलाशय का ख्याल रखना होगा | पेशे से ये दवा और सर्जरी के साथ, अचल संपत्ति, संगीत (ताल), ड्रम,मंत्रोच्चार आदि कार्य कर सकते हैं |

सभी 28 नक्षत्रों की सूची
अश्विनी भरणी कृतिका रोहिणी मृगशीर्ष आर्द्रा पुनर्वसु पुष्य अश्लेषा मघा पूर्वा फ़ाल्गुनी उत्तरा फ़ाल्गुनी हस्त चित्रा स्वाति विशाखा अनुराधा ज्येष्ठा मूल पूर्वाषाढा उत्तरा षाढा श्रवण धनिष्ठा शतभिषा पूर्वाभाद्रपद उत्तरा भाद्रपद रेवती अभिजीत

स्टार गाइड

दैनिक गाइड

संभावित घटनाओं का संकलन, प्रति घंटा मार्गदर्शन, सटीक समय-सीमा और क्या करें और क्या न करें

लाइफ मीटर

जानिए अपनी शारीरिक और मानसिक स्थिति के विभिन्न पहलुओं का प्रतिशत

अनुकूलता

जानिए दूसरों से आपकी तरंगे कितनी मेल खाती है

Banner Title