ऋषभ पंत – जानें मैदान का यह आक्रामक खिलाड़ी क्या राष्ट्रीय स्तर पर भी बना पाएगा पहचान !

ऋषभ पंत – जानें मैदान का यह आक्रामक खिलाड़ी क्या राष्ट्रीय स्तर पर भी बना पाएगा पहचान !

ऋषभ पंत भारत के एक एेसे उभरते खिलाड़ी हैं, जिन्हाेंने खेल के मैदान पर अपने हैरतअंगेज प्रदर्शन से सभी को आश्चर्यचकित कर रखा है। इस लेख में, गणेशजी पंत की कुंडली और भविष्य की संभावनाअों का विश्लेषण करके इनकी भविष्यवाणी करते हैं। गणेशजी ये मानते हैं कि पंत की कुंडली में ग्रह इनके पक्ष में हैं, जो इनकी उन्नति और उज्जवल होने के लिए आवश्यक हैं। शक्तिशाली मंगल और उच्च के बुध के कारण इनकी कुंडली प्रबल है। ये दोनों ग्रह चयनित क्षेत्र में उत्कृष्टता प्राप्त करने में मदद करेंगे। गणेशजी के इस लेख को पढ़ें और जानें कि ये खिलाड़ी राष्ट्रीय परिदृश्य पर दीप्तिमान होने में कब सक्षम होगा।

ऋषभ पंत

जन्म दिनांक: 4 अक्टूबर, 1997

जन्म समय: उपलब्ध नहीं

जन्म स्थान: हरिद्वार, यूपी, भारत

सूर्य कुंडली

kundali

हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों द्वारा तैयार अपनी हस्तलिखित जन्मपत्री प्राप्त करें

गणेशजी के अनुसार युवा खिलाड़ी ऋषभ पंत की कुंडली में मंगल जो कि खेल, कार्रवार्इ और ऊर्जा का मुख्य कारक है, अपनी स्वराशि वृश्चिक में शुक्र के साथ बैठा है। दुर्जेय रूप से विराजमान मंगल हमेशा खिलाड़ियों के पक्ष में काम करता है और अत्यधिक ऊर्जा और जोश प्रदान करता है। ये पहलू इन्हें सक्रिय रहने, आक्रामक, दृढ़ संकल्पी और चुनौतियों का सामना करने की ताकत देते हैं। ये प्रतिद्वंद्वियों की पराजित करने की योग्यता को भी दर्शाता है। कुंडली का ये रूप  जवान ‘योद्घा’ की तस्वीर दिखाता है जो कि पूरे विश्व में छा जाने के लिए तैयार है।

गुरू-शनि के बीच परस्पर स्थान परिवर्तनः 

पंत की कुंडली में गुरू और शनि के बीच भावों का आदान-प्रदान हो रहा है। ये मजबूत पहलू इन्हें साधन-संपन्न, व्यवस्थित और हठी बनाते हैं। वास्तव में यह विशेषता इन्हें अधिक व्यावहारिक, सफल और महत पहचान हासिल करने की सहज प्रवृत्ति का आशीर्वाद प्रदान करती है। आक्रामकता के साथ संगठनकारी क्षमताओं से युक्त होने के कारण ये खेल के कर्इ पहलुआें पर एक साथ काम करने में सक्षम हैं। ये पहलू बृहत दृढ़ता और बुद्घि को भी इंगित करता है और इसी कारण ये अपने अनुभवों से जल्दी सीखने में कामयाब रहेंगे।

साथ ही पढ़ें: आगामी वर्ष में कोहली का विराट प्रदर्शन रहेगा जारी !

उच्च का बुध और त्वरित प्रतिक्रियाः 

पंत की कुंडली में उच्च का बुध त्वरित प्रतिक्रिया, बेहतर मानसिक स्थिति के साथ अद्भुत शारीरिक क्षमता, खेल के प्रत्येक पहलू पर स्पष्ट फोकस और अति सतर्क दृष्टिकोण को सूचित करता है। अच्छे स्थान पर बैठे मंगल के साथ बुध का होना जबरदस्त क्षमता का द्योतक है। गणेशजी के अनुसार कुंडली की ये स्थितियां ऋषभ के अपने क्षेत्र में प्रसिद्घि हासिल करने की संभावनाओं को बताती हैं।

अगला उभरता सितारा ? 

इस तरह ये मजबूत कुंडली इंगित करती हैं कि पंथ बेहद प्रतिभाशाली हैं और वो अपने प्रदर्शन द्वारा सबको चकित कर सकते हैं। उनके अंदर निश्चित रूप से ऊंचार्इयों तक पहुंचने और अद्भुत कारनामे कर सकने का सामर्थ्य होने के कारण उनको राष्ट्रीय स्तर पर नाम या प्रसिद्घि पाते देखना कोई आश्चर्य की बात नहीं होनी चाहिए।

वर्तमान परिदृश्य और मुख्य ग्रहों का प्रभावः 

गोचर का गुरू वर्तमान में जन्म के सूर्य और बुध के ऊपर से पारगमन कर रहा है। यह गतिमान गुरू, इनके जन्म के गुरू के साथ ही जन्म के शनि पर भी दृष्टि डाल रहा है। एेसे में वर्ष 2017 इनके कैरियर के लिए अत्यधिक आशाजनक होगा। गणेशजी के अनुसार ऋषभ के लिए आगामी वर्ष बहुत बढ़िया होगा। हमारी विशेष 2017 वार्षिक रिपोर्ट में जानें आपके लिए क्या सहेज कर रखा हुआ है? हालांकि, शनि के पारगमन के कारण, पंत कुछ बाधाओं का सामना करेंगे और वांछित सफलता प्राप्त करने में असफल होने का भी भय है। साथ ही उसके प्रदर्शन में निरंतरता की कमी हो सकती है। लेकिन, इनकी कुंडली को देखते हुए एेसा लगता है कि वो इस लड़ार्इ से बाहर निकलने में सक्षम होंगे और सितंबर, 2017 के बाद भारतीय क्रिकेट टीम में आगामी सितारे के रूप में उभरेंगे। ऋषभ पंत राष्ट्रीय स्तर पर बेहतर सफलता हासिल करेंगे। इनके प्रदर्शन में काफी सुधार होगा और इस बात की भी बहुत अधिक संभावना है कि इन्हें इंटरनेशनल क्रिकेट में अाखिरकार जगह मिल जाए।

इस प्रकार, गणेशजी को लगता है कि आने वाले महीनों में इस खिलाड़ी पर सबकी नजर रहेगी यानि ये सभी के आकर्षण का केन्द्र रहेंगे।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित , 

तन्मय के ठाकर

गणेशास्पीक्स डाॅटकाॅम टीम 

क्या आपके मन में भी जिंदगी के विभिन्न क्षेत्रों को लेकर कुछ सवाल हैं ? तो शंकाआें में क्यूं रहें ? तुरंत ज्योतिषी से बात कीजिए और शंकाओं का समाधान कीजिए।

18 Nov 2016

View All blogs

Follow Us