https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

Xi Jinping का आजीवन शासन चीन को अस्थिर कर देगा? गणेशा से जानिए

Xi Jinping के जिंदगीभर चीनी राष्ट्रपति बनने से क्या स्थिर रह पाएगा चीन

1960 और 70 के दशक में आधुनिक चीन के निर्माता माओत्से तुंग के पास सारी शक्तियां और अधिकार थे। मौजूदा दौर में सर्वोपरि चीनी नेता, शी जिनपिंग उन्हीं के नक्शेकदम पर चलते दिखाई दे रहे हैं। चीन की विधायिका ने देश के राष्ट्रपति पद के लिए दो कार्यकाल की सीमा को हटाने वाला एक कानून पारित किया है, जिसने शी जिनपिंग को जीवनभर के लिए चीन का संभावित शासक बना दिया गया है। इसका चीन और दुनिया पर क्या असर पड़ेगा? यह जानने के लिए पढि़ए गणेश ज्योतिष विश्लेषण…

Xi Jinping के शासन में मजबूत सरकार

चीन शनि महादशा के अंतिम चरण से गुजर रहा है, जो उग्र सुधारवादी परिवर्तन और पूर्ण परिवर्तन की ओर इशारा करता है। इसके अलावा बृहस्पति की अंतर्दशा आंतरिक राजनीति में प्रभुत्व के लिए गहन और छिपे हुए संघर्ष का संकेत देती है। क्या आप अपने करियर में संघर्षों का सामना कर रहे हैं? बड़े, सकारात्मक परिवर्तन करने के लिए हमारे विशेषज्ञों से सटीक मार्गदर्शन प्राप्त करें।

चीन सुपर पावर स्टेटस के लिए कड़ी मेहनत करेगा

इसके अलावा मंगल सातवें भाव और शनि आठवें भाव में है। ये दोनों ग्रह दसवें भाव को देख रहे हैं। यह चीन की सुपर पावर बनने की प्रबल इच्छा की ओर इशारा करते हैं। शी जिनपिंग इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करेंगे। भारत-चीन संबंधों के बारे में भी पढ़ें।

विपक्ष की आवाजों को दबा देंगे Xi Jinping

मिथुन राशि में मंगल और सूर्य के साथ मजबूत बुध की युति इस ओर इशारा करती है कि शी जिनपिंग चतुराई से और निर्धारित तरीके से शासन करेंगे। वे देश पर अपना दबदबा कायम करने में सक्षम होंगे। अपनी ताकत को बढ़ाने के साथ ही वे राजनीतिक विरोध का सफाया करेंगे।

क्या आप अपनी नौकरी बदलने की योजना बना रहे हैं? क्या आपने सोचा है कि यह सही फैसला है या नहीं? विशेषज्ञ मार्गदर्शन प्राप्त करके अपनी सभी शंकाओं का अंत करें।

Xi Jinping का रणनीति से अन्य देश होंगे फिक्रमंद

राहु का कर्क राशि में गोचर इस ओर इशारा करता है कि चीन की आंतरिक राजनीति मीडिया और बाहरी दुनिया के सामने नहीं आई है। चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की कुंडली भी पार्टी में बड़े फेरबदल की ओर इशारा करती है। भ्रामक राहु सत्तारूढ़ सरकार की राह में मुसीबत बन सकता है। आंतरिक विद्रोह और तनाव हो सकता है। अलगाववादी आंदोलन मजबूत हो सकते हैं, खासकर 11 मार्च 2019 के बाद। अप्रेल 2019 और अक्टूबर 2019 के बीच की अवधि शी जिनपिंग के लिए चुनौतीपूर्ण हो सकती है। ये सारे घटनाक्रम दुनिया के अन्य प्रमुख देशों को चिंता में डाल सकते हैं।

अपने व्यक्तिगत समाधान प्राप्त करने के लिए! ज्योतिषी से अभी बात करें।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

Follow Us