https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

केंद्रीय बजट 2019 की भविष्यवाणी: गणेशा द्वारा बजट का पूर्वानुमान

केंद्रीय बजट 2019 की भविष्यवाणी: गणेशा द्वारा बजट का पूर्वानुमान

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला पूर्ण बजट 5 जुलाई को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पेश करेंगी। निर्मला सीतारमण देश की पहली महिला वित्त मंत्री हैं। हालांकि पूर्व पीएम इंदिरा गांधी ने वित्त मंत्रालय अपने पास रखा था। मोदी सरकार के दूसरी बार सत्ता में आने के बाद अब देश के लोगों की उम्मीद उनसे बहुत बढ़ गई है। फरवरी में पीयुष गोयल अंतरिम बजट पेश कर चुके थे। उस समय सरकार ने इशारा किया था कि छोटे करदाताओं का बहुत ध्यान रखा जाएगा। देखते सितारे इस बजट में आम लोगों के लिए क्या लाए हैं-

भारत की कुंडली

kundali

बजट की तारीख 5 जुलाई के दिन ग्रहों की स्थिति

kundali

बजट के लिए ज्योतिषीय भविष्यवाणी

– देश की कुंडली में सूर्य चतुर्थ राशि में है और बजट के दिन सूर्य का गोचर मिथुन राशि में राहु के साथ राहु के ही नक्षत्र आर्द्रा में होगा। यह स्थिति बता रही है कि वित्त मंत्री गोल्ड पॉलिसी, पब्लिक सेक्टर यूनिट्स और टैक्स में कुछ मजबूत और कड़े निर्णय ले सकती है।

– देश की कुंडली के चंद्र, बुध, शनि, सूर्य और शुक्र के उपर से बजट वाले दिन चंद्र, मंगल और बुध का ट्रांजिट होगा। मतलब उस समय कुंडली में तीसरा और नवां स्थान बलवान होगा। यह बताता है कि रेलवे, पोस्ट ऑफिस, प्रिंट मीडिया, ट्रांसपोर्टेशन, टेलीकॉम आदि में कुछ बड़ा परिवर्तन देखने को मिल सकता है।

– इन सबके बीच देखने वाली बात यह है कि जन्म का मंगल07.27 डिग्री का है। वहीं बजट के दिन शुक्र 07.49 अंश का होगा। इससे स्पष्ट रहेगा कि मीडिया, फैशन, एंटरटेनमेंट, लग्जरी इलेक्ट्रॉनिक आइटम, रेडिमेड कपड़े, धागे, ज्वेलरी, परफ्यूम के लिए मूवमेंट रहेगा।

– बजट के दिन बृहस्पति शुभ फलदाता रहेंगे, जो सातवें भाव में परिभ्रमण करेंगे। वहां जन्म की कुंडली में केतु विराजमान है। पब्लिक सेक्टर, पार्टनरशिप, विदेश नीति, एफडीआई, विदेशी व्यापार के लिए कुछ न्यू नीतियां सामने आ सकती है। इंश्योरेंस और पब्लिक हेल्थ पर भी इसका असर दिखेगा।

– भारत की कुंडली में बुध पुष्य नक्षत्र में था। खास बात यह है कि इस साल बजट 2019 में भी बुध पुष्य नक्षत्र में रहने वाले हैं। बैंकिंग सेक्टर के लिए चेंज वाले संकेत हैं। बैंक फ्रॉड, बैंकरप्सी के लिए कड़े नियम बनाए जा सकते हैं।

– चंद्रमा का अश्लेषा नक्षत्र में बुध और मंगल के साथ युति बनाना भी अच्छा संकेत है। वित्त मंत्री टैक्स में रिबेट, विदेश व्यापार, फिक्स डिपॉजिट पर ब्याज कुछ संकेत मिल सकते ।

– खास बात और आपको बताएं बजट के दिन शनि 23.25 और केतु 23.38 डिग्री पर है। इससे क्रूड ऑयल, पेट्रोलियम, रबर, टायर, स्टील, आइरन, लेदर, पेस्टीसाइड, काली लिक्विड चीजों के लिए कोई ऐसी पॉलिसी बन सकती है, जो कन्फ्यूजन क्रिएट करेगी।

बजट में गरीब तबकों का रखेंगे ध्यान

बजट के दिन बृहस्पति का गोचर पहले भाव पर दृष्टि डाल रहा है। वहीं नवीं दृष्टि से मंगल पर दृष्टि रहेगी। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि गरीब तबकों के हितों का बहुत ध्यान रखा जाएगा। कम बजट वाले अफोर्डेबल घर, सेनिटेशन, गावों में बिजली, पानी की समस्या पर काफी पैसा लगाया जा सकता है। वहीं इसका सीधा फायदा एजुकेशन इंडस्ट्री को भी दिख रहा है। कई बड़े कॉलजों में सीटें बढ़ाई जा सकती है। शनि-केतु भी अग्नितत्व की राशि धनु से गुजर रहे है, जो बृहस्पति की राशि है। इससे सरकार की आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए अच्छी योजनाओं की उम्मीद की जा सकती है।

शेयर बाजार पर दिखेगा असर

इस समय राहु भारत की कुंडली के वित्त भाव से गुजर रहा है। जो देश के लोगों में फाइनेंस प्लानिंग को लेकर उलझन बनाए रखेगा। वहीं बाजार में भी बजट के महीने में 15,16 और 30 को कुछ बड़ा फ्लक्चुएशन देखने को मिल सकता है।

आचार्य धर्माधिकारीगणेशास्पीक्स डॉट कॉम

ये भी पढ़ें-
मंगल गोचर: मंगल का कर्क राशि में गोचर, पढ़िए आपकी राशि के क्या हाल

उच्च राशि में पहुंचे हैं राहु, जानिए आप पर क्या हो रहा है असरसकारात्मक फल भी देता है राहु, पढ़िए कैसे