संजय लीला भंसाली की रचनात्मक क्षमता व जोश में कमी आएगी ! - GaneshaSpeaks
https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

संजय लीला भंसाली की रचनात्मक क्षमता व जोश में कमी आएगी !

संजय लीला भंसाली की रचनात्मक क्षमता व जोश में कमी आएगी !

फिल्म निर्माता, निर्देशक, पटकथा लेखक और संगीतकार संजय लीला भंसाली फिल्म ‘बाजीराव मस्तानी’ की अपार सफलता के साथ अपने करियर को एक नए मुकाम पर ले जा चुके हैं। संजय लीला भंसाली ने वर्ष 1989 में फिल्म परिंदा से बतौर सहायक निर्देशक फिल्म जगत में कदम रखा। सलमान ख़ान, मनीषा कोर्इराला एवं नाना पाटेकर अभिनीत फिल्म ‘खामोशी- द म्युजिकल’ से बतौर निर्देशक अपनी पारी शुरू की। इसके बाद संजय लीला भंसाली ने ‘हम दिल दे चुके सनम’, ‘देवदास’, ‘ब्लैक’, ‘राउडी राठौर’, ‘गोलियों की रासलीला राम लीला’, ‘मैरीकाॅम’, ‘गब्बर इज बैक’ जैसी हिट सुपरहिट फिल्में दी। फिल्मी दुनिया में एक लंबा सफर तय कर चुके संजय लीला भंसाली का भावी सफर कितना सुखद रहेगा ? जानने के लिए गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम के ज्योतिषविद ने उनकी सूर्य कुंडली का अध्ययन में किया एवं पाया कि : –

संजय लीला भंसाली : फिल्म निर्माता-निर्देशक
जन्म तिथि : 24 फरवरी 1963
जन्म समय : पता नहीं
जन्म स्थान : मुंबई, महाराष्ट्र, भारतसूर्य कुण्डली

kundali

भारतीय फिल्म निर्माता निर्देशक संजय लीला भंसाली का सही समय उपलब्ध नहीं होने के कारण, उनकी तिथि के आधार पर सूर्य जन्म कुंडली का निर्माण किया एवं निम्न भविष्यवाणी इसके आधार पर की गर्इ है।

महत्वपूर्ण ज्योतिषीय भविष्यवाणियांःगोचर के बृहस्पति की दृष्टि कुंभ राशि में लग्न के सूर्य और बृहस्पति पर 11 अगस्त 2016 तक पड़ेगी। इसके अलावा, ये शुक्र पर भी दृष्टि करेगा। इसके बाद बृहस्पति कन्या राशि में से पारगमन करेगा। गोचर के शनि की दृष्टि मकर राशि में लग्न के बुध, शनि और केतु पर लगभग पूरा वर्ष रहेगी। शनि का पारगमन धनु राशि में से होगा। इसके अलावा केतु जुलार्इ 2017 तक कुंभ राशि में जन्म के सूर्य, गुरू एवं चंद्र पर से पारगमन करेगा।

ज्योतिषीय भविष्यवाणियांः

क्या महत्वपूर्ण ग्रह केतु से प्रभावित है?‘बाजीराव मस्तानी’ के निर्देशक की कुंडली के अधिकतर ग्रह वर्ष पर्यन्त केतु व शनि से प्रभावित रहेंगे। गणेशजी देख रहे हैं कि ‘खामोशी- द म्युजिकल’ जैसी फिल्म बना चुके संजय लीला भंसाली केतु के नकारात्मक प्रभाव के कारण अपनी ऊर्जा व रचनात्मक क्षमता का सही तरीके से दोहन नहीं कर पाएंगे। इतना ही नहीं, उन्हें अपने विचारों व योजनाओं को क्रियान्वित करने में बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। इसके अलावा, कुछ प्रोजेक्टों को पूरा करने में विलंब का सामना करना पड़ सकता है।

क्या ये कुशल निर्देशक संवेदनशील रहेगा ?आगामी महीनों में कुछ विशेष ग्रहीय हलचलों के कारण संजय लीला भंसाली को क्रोध अधिक आएगा। इतना ही नहीं, देवदास के निर्देशक काम के प्रति असंतोष को अप्रिय ढंग से व्यक्त कर सकते हैं। इससे इनकी सृजनात्मक कल्पना पर बुरा असर पड़ सकता है। लेकिन, एक सकारात्मक बात यह है कि ये अपने आने वाले कार्यों में विशिष्ट तत्वों का कुशलता से मिश्रण करने में समर्थ रहेंगे।

हालांकि, वित्तीय मामलों में काफी सतर्क रहने की जरूरत रहेगी क्योंकि ग्रह अनुकूल नहीं हैं। उन्हें आगामी परियोजनाओं में होने वाले खर्च की पूरी पूरी जानकारी पहले से रखनी होगी। इसके अलावा, गणेशजी की सलाह है कि संजय लीला भंसाली को एक समय पर एक ही काम करना चाहिए अन्यथा नुकसान भुगतना पड़ सकता है। निर्देशन और संगीत रचना में संजय लीला भंसाली अच्छा कर सकते हैं। हालांकि, बातौर फिल्म निर्माता उनको ग्रहों का सहयोग नहीं मिलेगा।

गणेशजी आगे कहते हैं कि फरवरी के अंत में मंगल वृश्चिक राशि में से पारगमन करेगा जबकि इसकी दृष्टि कुंभ राशि में स्थित ग्रहों पर पड़ेगी। इस समय भंसाली अपनी अगली बड़ी परियोजना के लिए जोशोखरोश से तैयारी शुरू कर सकते हैं। हालांकि, उनको अपने भव्य प्रोजेक्ट के लिए अधिक समय लग सकता है।

यदि उनके निजी जीवन की बात करें तो 11 अगस्त 2016 तक शादीशुदा जीवन अस्त-व्यस्त रहने की संभावना है। गणेशजी कह रहे हैं कि मंगलमय, शांतिपूर्ण जीवन का अानंद लेने के लिए उन्हें मानसिक संतुलन बनाए रखने की जरूरत है।

गणेशजी संजय लीला भंसाली को भावी जीवन के लिए आशीर्वाद एवं शुभेच्छा देते हैं।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित रंतीदेव ए उपाध्याय एवं अादित्य सेन

गणेशजी के आशीर्वाद सहित
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

Follow Us