मिथुन राशि में शुक्र का गोचर 2017: परिवर्तन के लिए हो जाएं तैयार..!

मिथुन राशि में शुक्र का गोचर 2017: परिवर्तन के लिए हो जाएं तैयार..!

भारतीय ज्योतिष के अनुसार सौरमण्डल में शुक्र काफी महत्वपूर्ण स्थान रखता है। शुक्र ग्रह को आकाश में खुली आंखों से देखा जा सकता है। यह शुक्रवार का स्वामी होता है। शुक्र को विशेष रुप से स्त्री तत्व वाला कारक कहा जाता है। शुक्र मनोरंजन, कला, सौंदर्य, प्रेम वासना और सांसारिक सुख साधनों से जुड़ा ग्रह है। असुरों के गुरु शुक्राचार्य का प्रतीक चिन्ह शुक्र ग्रह है। शुक्र जी को मृत संजीवनी विद्या का कारक कहते हैं। मृत अवस्था तक पहुंच व्यक्ति को जीवनदान देने का शुक्र जी सामर्थ्य रखते हैं। जहां गुरु धन व भंडार का कारक है वहींं इस धन का भोग करने की शक्ति शुक्र के हाथ में होती है। इस तरह से देखा जाए तो भौतिक सुविधाओं का यह ग्रह हर एक व्यक्ति के जीवन में काफी महत्व रखता है। 26 जुलाई 2017 की शाम से 20 अगस्त 2017 तक शुक्र का गोचर मिथुन राशि में होगा। शुक्र के पारगमन से हर एक राशि पर इसका शुभाशुभ असर दिखाई पड़ेगा। चलिए आज के इस लेख में शुक्र का 12 राशियों में फल देखें-

( कृपया ध्यान दें: ये भविष्यवाणियां चंद्र राशि के आधार पर की गई है। पर इसका कुछ प्रभाव लग्न राशि से भी देखा जा सकेंगा। यदि आप अपनी लग्न राशि जानना चाहते हैं तो यहां क्लिक करें )

मेष राशि 

मेष राशि में शुक्र तीसरे स्थान से भ्रमण करेगा। मेष राशि के जातकों को भाई – बंधुओं से समर्थन प्राप्त होगा। गणेशजी का कहना है कि जातक के आत्मविश्वास में वृद्धि होने से उसकी वीरता व साहस में भी बढ़ोतरी होगी। भाग्यवृद्धि से जुड़े अवसर मिलेंगे। किसी लघु लेकिन सुखद प्रवास का कार्यक्रम बनेगा। तीसरे स्थान को कम्युनिकेशन और मार्केटिंग का स्थान भी कहा जाने से इससे जुड़े जातकों को खासतौर से लाभ मिलेगा। कुल मिलाकर, मेष राशि के जातकों के लिए शुक्र का गोचर लाभदायी रहने की भविष्यवाणी है। हमें जीवन में खुश रहने के लिए प्रोफेशन में सफलता की ज़रूरत है क्या आप अपने कैरियर के भविष्य को जानना चाहते हैं? तो हमारी सेवा 2017 कैरियर रिपोर्ट प्राप्त करें।

वृषभ राशि

वृषभ राशि के जातकों के लिए शुक्र का गोचर दूसरे स्थान से होगा एेसा गणेशजी का कहना है। वृषभ राशि के जातकों के लिए मुख्य रुप से आर्थिक लाभ के प्रबल योग बनते हैं। आर्थिक स्थिति सुधरेगी। हर एक काम में परिवारजनों के सहयोग से प्रगति का मार्ग बनेगा। शुक्र के दूसरे भाव से भ्रमण के दौरान जातक को स्वादिष्ट और सुरुचिपूर्ण व्यंजन खाने का सौभाग्य प्राप्त होगा। परिवार में मांगलिक प्रसंग का आयोजन होगा। लोग आपकी वाणी और भाषा के कायल होकर आपकी प्रशंसा करेंगे। वृषभ राशि के जातकों के लिए शुक्र गोचर शुभदायी बीते एेसी गणेशजी की कामना है। हालांकि, आप अपनी वित्तीय स्थिति में आगे भी सुधार कर सकते हैं। हमारी सेवा 2017 वित्त रिपोर्ट के जरिए अपनी आर्थिक स्थिति को सुधारिए।

मिथुन राशि

मिथुन राशि के जातकों पर भी शुक्र ग्रह का असर दिखाई पड़ेगा। इनके लिए शुक्र का गोचर कुंडली के पहले भाव से होगा। शुक्र ग्रह इन्हें समाज में मान-सम्मान और ख्याति दिलाएगा। कार्यक्षेत्र में उपलब्धियां हासिल होने से आपको नाम और शोहरत मिलेगी। दांपत्य जीवन में मधुरता आएगी। शादी के अभिलाषी जातकों को विकास के नए अवसर मिलने की संभावना है। अगर कोई बीमारी लंबे समय से पीड़ा पहुंचा रही है तो उसमें देखते ही देखते सुधार आएगा। आर्थिक समस्या कम होने लगेगी। आर्थिक रुप से मजबूत बनेंगे। यात्रा-प्रवास का आयोजन होगा। कुल मिलाकर, मिथुन राशि के जातकों के लिए यह शुभ अवधि कहीं जाएगी। रिश्ते महत्वपूर्ण होते हैं क्योंकि वे हमे प्रेम व एकता के सूत्र में बांधे रखते हैं। क्या आप अपने रिश्ते में समस्याओं का सामना कर रहे हैं? हमारी सेवा 2017 निजी जिंदगी और संबंध रिपोर्ट खरीदकर अपने जीवन को सुखी बनाइए।

कर्क राशि

कर्क राशि के लिए शुक्र गोचर 12 वें भाव से होगा। बारहवें स्थान को ज्योतिष शास्त्र में कुंडली का व्यय स्थान कहा जाता है। अतएव, शुक्र के इस भाव से गति करने पर जातकों के खर्च में बढ़ोतरी होने का अंदेशा है। भोग-विलास की प्रवृत्तियों के पीछे खर्चों की वृद्धि होगी। जो जातक विदेश यात्रा पर जाने की योजना बना रहे हैं गणेशजी के अनुसार उस समय वे यदि जमकर मेहनत करेंगे तो अवश्य ही उनकी इच्छापूर्ति होगी। प्रियजनों के साथ मनोरंजन में समय व्यतीत होगा। यात्रा सुखदायी रहेगी। इस प्रकार से कर्क राशि वालों के लिए यह गोचर खर्चों को छोड़कर अच्छा कहा जाएगा। हालांकि, अपनी स्थिति को मजबूत बनाने के लिए आपको एक सुदृढ़ वित्तीय योजना बनाने की आवश्यकता है। यदि आप हमारी सेवा 2017 वित्त रिपोर्ट खरीदते हैं तो आप ये काम स्वयं आसानी से कर सकते हैं।

सिंह राशि

सिंह राशि के लिए शुक्र का गोचर कुंडली के लाभ स्थान से होने की संभावना गणेशजी व्यक्त कर रहे हैं। आकस्मिक धन लाभ के रूप में शुक्र का गोचर फल मिलेगा। मित्रों से मदद मिलेगी। विशेष रुप से स्त्री मित्रों की ओर से सहयोग की अपेक्षा रख सकते हैं। किसी मित्र की ओर से उपहार मिल सकता है। जीवन आर्थिक रुप से अच्छा कहा जाएगा प्रेम संबंधों में अनुकूलता रहेगी। नवयुवकों को प्रेम में सफलता मिलेगी। संतान के इच्छुक दंपत्तियों द्वारा इस दौरान किया गया प्रयत्न सफलता प्रदायक कहा जाएगा। सिंह राशि के लिए शुक्र का भ्रमण एक सौभाग्यशाली समय कहा जाएगा। यदि आप साल 2017 में अपने पसंदीदा साथी से विवाह करके जीवन को खुशियों से भर देने के आकांक्षी हैं तो हमारी सेवा 2017 विवाह की संभावनाएं रिपोर्ट आपका मार्गदर्शन कर सकती है।

कन्या राशि

कन्या राशि में शुक्र का गोचर दसवें भाव से होगा। जो लोग काफी समय से चारों ओर से काम से घिरे हैं, उनके ऊपर इस कालावधि से काम का बोझ धीरे-धीरे घटने लगेगा। कर्म स्थान यानी कार्य स्थल पर आनंद से परिपूर्ण वातावरण रहेगा। अधीनस्थ कर्मचारियों का समर्थन प्राप्त होगा। आपके कार्यों की कदर होगी। पदोन्नति की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। जो जातक मुख्य रुप से कला, नृत्य, गायकी और अभिनय के साथ जुड़े हुए हैं उनके लिए शुक्र वरदान बनकर आएगा। देश-दुनियां में आपके नाम की ख्याति फैलेगी। हमें करियर में सफल होने के लिए सतत प्रयासों की आवश्यकता है। क्या आपके कैरियर को लेकर उत्सुक व गंभीर हैं ? हमारी सेवा 2017 कैरियर रिपोर्ट के जरिए अपने कैरियर की संभावनाओं को तलाशें।

तुला राशि

तुला राशि में शुक्र का गोचर कुंडली के नौवें स्थान यानी भाग्य स्थान से होगा। तुला राशि का स्वामी शुक्र स्वयं भाग्य स्थान से भ्रमण करेगा। भाग्यवृद्धि होगी। आर्थिक और सामाजिक लाभ मिलेगा। समाज में यश और कीर्ति मिलेगी। पिता का सहयोग मिलेगा। धार्मिक यात्रा या विदेशगमन का आयोजन होगा। आर्थिक स्थिति पहले से सुधरेगी। पिता का सहयोग मिलेगा। धार्मिक यात्रा या विदेश यात्रा का कार्यक्रम बनेगा। आर्थिक स्थिति में पहले से सुधार आएगा। उच्च शिक्षा के अभिलाषी लोगों को पढ़ाई में सफलता मिलेगी। शुक्र का गोचर 2017, तुला राशि वालों के लिए लाभकारी रहेगा। शिक्षा महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपके लिए एक शानदार भविष्य को खोलती है। यदि आपके मन में शिक्षा को लेकर कोई प्रश्न है तो हमारी सेवा शिक्षा-एक प्रश्न पूछें रिपोर्ट आपको रास्ता दिखा सकती है।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि की कुंडली धारकों के लिए शुक्र का गोचर इनके चौथे स्थान से होगा। वृश्चिक जातकों को अपने स्वास्थ्य के प्रति काफी सचेत रहना होगा अन्यथा बीमार हो सकते हैं। एकाएक जरुरतों के सर पर आ जाने से उनके द्वारा किया गया आर्थिक आयोजन तहस-नहस हो सकता है। सितारों के संकेतों को पढ़ते हुए गणेशजी पहले से ही ठोस आर्थिक योजना बनाकर चलने की चेतावनी देते हैं। दांपत्य जीवन में किसी कारण से मतभेद पैदा होंगे। ध्यान या आध्यात्मिकता को वरीतया देने वाले व्यक्ति इस समय दौरान अपने को ईश्वर के अधिक नजदीक महसूस करेंगे। कुल मिलाकर, वृश्चिक राशि के जातकों के लिए शुक्र का गोचर मिश्र फलदायी होने की संभावना व्यक्त कर रहे हैं। क्या आप ऐसी कुछ समस्याओं का सामना कर रहे हैं ? तो हमारी सेवा संबंध – एक प्रश्न पूछें रिपोर्ट आपकी परेशानियों का निवारण कर सकती है। आज ही फायदा उठाएं।

धनु राशि 

धनु राशि में शुक्र का गोचर सातवें भाव से होगा। धनु राशि के जातकों का विवाहित जीवन अधिक सुमधुर बनेगा। दांपत्य जीवन ऊर्जा व उत्साह से लबालब भर जाएगा। पति-पत्नी के बीच विश्वास और प्रेम का संबंध रहेगा। संतान-संतति के लिए इच्छावान युगलों के लिए सफलता प्राप्ति के योग बनेंगे। शुक्र ग्रह का प्रभाव सार्वजनिक जीवन में आपके लिए एक अलग व्यक्तित्व की रचना करेगा। आपको अपने आसपास और परिचित लोगों का भी समर्थन मिलेगा। धनु राशि के लिए शुक्र का पारगमन शुभ कहा जाएगा। रिश्ते हमें जीवन में आगे बढ़ने में मदद करते हैं। क्या आप अपने संबंधों के बारे में चिंतित हैं? तो हमारी सेवा 2017 निजी जिंदगी और संबंध रिपोर्ट आज ही आर्डर करके एवं उससे मिले परामर्श से शीघ्र ही चिंताओं से मुक्ति पाएं।

मकर राशि 

में शुक्र का गोचर कुंडली के छठे भाव से होगा। पराशर ज्योतिष के अनुसार कुंडली का छठा स्थान रोग व शत्रु का स्थान है। मकर राशि के जातकों को खासतौर से स्वास्थ्य के प्रति सावधानी रखनी होगी। शत्रु आपको किसी-न-किसी तरह से नुकसान पहुंचाने की चेष्टा करेंगे। इसलिए, सतर्क व सावधान रहें। आप अपने कठोर व्यवहार से किसी को अपना शत्रु नहीं बना बैठे इसका खास ध्यान रखें। दांपत्य जीवन और प्रेम संबंधों में संघर्षमय वातावरण रहेगा। आर्थिक रुप से बेकार के खर्च मत करिए अन्यथा धन के व्यय होने की अाशंका रहेगी। मकर राशि के जातकों के लिए शुक्र का गोचर अशुभ कहा जाएगा। अपनी वित्तीय स्थिति को मजबूत करना इंसान के लिए बेहद जरुरी होता है। इससे हमारी रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा करने में मदद मिलती है। क्या आप अपने वित्त के बारे में चिंतित हैं? तो हमारी सेवा 2017 वित्त रिपोर्ट आपको इस झमेले से बाहर निकालने में मदद कर सकती है।

कुंभ राशि 

शुक्र के गोचर का बुरा असर कुंभ राशि के जातकों पर भी दिखाई देगा। कुंभ राशि वालों के लिए शुक्र कुंडली के पांचवें भाव से प्रसार करेगा। वैदिक ज्योतिष में पांचवें भाव को संतान और विद्या का स्थान भी कहा जाता है। शुक्र गोचर की अवधि में कुंभ राशि के जातकों का विपरीत लिंगी जातकों के प्रति विशेष रुप से खिंचाव रहेगा। प्रेम में सफलता मिलेगी। नवदंपत्तियों को संतान-संतति के प्रयासों में सफलता मिलेगी। संतान की ओर से शुभ समाचार मिलेगा जिससे परिवार में  सभी खुश रहेंगे। शुक्र ग्रह आपको आनंदायी यात्रा करवाएगा। आर्थिक रुप से धन लाभ होगा। अभिनय, नृत्य, गायक जैसे कला के क्षेत्रों से जुड़े विद्यार्थियों के लिए यह समय विशेष रुप से लाभदायी होने की संभावना है। शिक्षा मात्र एक सिद्धांत नहीं होती, इसमें अन्य गतिवधियां भी शामिल होती हैं। यदि आप अपनी शिक्षा के किसी भी क्षेत्र में समस्याओं का सामना कर रहे हैं, तो हमारी सेवा शिक्षा प्रश्न पूछें: विस्तृत सलाह रिपोर्ट के जरिए आप आवश्यक ज्योतिषीय परामर्श प्राप्त कर सकते हैं।

मीन राशि

मीन राशि के जातकों के लिए शुक्र चौथे स्थान से गोचर करेगा। ग्रहों की कृपादृष्टि की वजह से हर प्रकार की सुख-समृद्धि प्राप्त होगी। शुक्र का गोचर फल आपके घर में सुख-सुविधाओं की वस्तुएं इकट्ठा करवाएगा। आपके ऊपर माँ का प्रेम व वात्सल्य रहेगा। अपने सभी कामों में कर्मचारियों की ओर से पूरी-पूरी मदद मिलेगी। घर में मांगलिक प्रसंग संपन्न होने से खुशी व उत्साह का माहौल व्याप्त होगा। नए घर का सपना देख रहे जातकों के सपने साकार होने के प्रबल योग बन रहे हैं। कुल मिलाकर, मीन राशि के शुक्र का गोचर सुखद होने की सूचना गणेशजी दे रहे हैं। अपने सपनों को पूरा करने के लिए हमें धन की ज़रूरत है और धन बनाने के लिए हमें उचित नियोजन की आवश्यकता होती है। यदि आपको धन-संपत्ति प्राप्त करने को लेकर कोई सवाल पूछना है तो हमारी सेवा धन-संपत्ति से जुडा एक प्रश्न पूछें रिपोर्ट आपके मन में चल रही सभी समस्याओं का समाधान आपकी जन्मकुंडली के अनुसार दे सकती है।

गणेशजी के आशीर्वाद से,

जैमिन व्यास और धर्मेश जोषी

गणेशास्पीक्स डाॅटकाॅम टीम

जीवन की समस्याओं के निवारण हेतु ज्योतिषी से बात कीजिए

22 Jul 2017

View All blogs

Follow Us