राहु-केतु गोचर 2017 का प्रभाव तुला राशि पर - GaneshaSpeaks
https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

राहु-केतु गोचर 2017 का प्रभाव तुला राशि पर

राहु-केतु गोचर 2017 का प्रभाव तुला राशि पर

राहु गोचर का प्रभाव तुला राशि के लिए
– राहु दसवें भाव मेंराहु के मकर राशि में गोचर 2017 की अवधि में अपने जिंदगी में सबसे महत्वपूर्ण बदलाव के लिए तैयार रहें क्यूंकि ये गोचर अनिश्चितता आैर व्यवधान के रूप में आएगा। ये गोचर सबसे पहले आपके कार्यक्षेत्र पर अपना प्रभाव दिखाएगा, जिसके तहत स्थानांतरण या फिर सीनियर्स व सहकर्मियों के साथ परेशानी होने की संभावना है। बल्कि आपकी वित्तीय स्थिति पर भी नकारात्मक असर पड़ सकता है आैर इस समय आपको आकस्मिक खर्चों का सामना करना पड़ सकता है। ये सभी बदलाव आपकी सेहत पर प्रभाव ड़ाल सकते है आैर आपके आंतरिक बल को कम कर सकते है।
राहु के गोचर के दौरान, आपको अपने कैरियर से जुड़े मामलों में प्रत्येक कदम बहुत संभालकर रखना होगा आैर जल्दबाजी में निर्णय लेने से बचना होगा। आपको अपनी प्रतिष्ठा को संभालकर रखना होगा क्यूंकि केतु के प्रभाव से कुछ लोग आपके पीठ पीछे आपके खिलाफ साजिश रच सकते है। वहीं उच्चाधिकारियों से बातचीत के दौरान नम्र आैर समझदार बनें, क्यूंकि कुछ जटिलताआें के संकेत मिल रहे है। हालांकि, ये गोचर पूरी तरह से नकारात्मक नहीं होगा आैर अगर आप कड़ी मेहनत करने में सक्षम होते है, तो आप लोकप्रियता आैर पहचान हासिल करने में सक्षम होंगे। एेसे में अपने कैरियर के हर क्षेत्र पर ध्यान केन्द्रित करें आैर इसमें दक्षता प्राप्त करने का प्रयास करें। अगर आप ये अभ्यास जारी रखते है, तो आप अच्छी सफलता आैर वांछित सुरक्षा का आनंद उठाने में सक्षम होंगे।

क्या आप ये जानने को लेकर उत्सुक है कि राहु-केतु का गोचर आपके कैरियर पर क्या प्रभाव दिखाएगा। तो राहु-केतु गोचर रिपोर्ट कैरियर के लिए का लाभ उठाए।

केतु गोचर का प्रभाव तुला राशि के लिए
– केतु चौथे भाव मेंकेतु का मकर राशि में गोचर भूमि आैर संपत्ति से जुड़े मसलें ला सकता है। इस समय चाहे आपको सफलता मिलें या असफलता, लेकिन आपके मन में निरंतर असंतोष की भावना रह सकती है। केतु के चौथे भाव में गोचर के दौरान, भावनात्मक तनाव रहने की संभावना है आैर आपको दूसरों के सामने अपनी भावनाआें को बयां करने में कठिनार्इ आ सकती है।

केतु के मकर राशि में गोचर के दौरान, ननिहाल पक्ष के लोगों के साथ आपके संबंध तनावपूर्ण हो सकते है आैर उनके साथ टकराव की संभावना है। केतु के गोचर के दौरान आपको अपनी मां की सेहत का अच्छे से ख्याल रखना होगा। इस अवधि में आप कर्इ बार दूसरों की भावनाआें के प्रति थोड़ा संवेदनशील हो सकते है आैर ये खासकर आपके जीवनसाथी के साथ आपकी परेशानी का कारण बन सकता है। अगर आप अचल संपत्ति के व्यापार से जुड़े है, तो आपके लिए आगे का रास्ता आसान नहीं होगा आैर आपको किसी भी एग्रीमेंट में शामिल होने से पहले बहुत सतर्क रहना होगा। वहीं केतु के गोचर की अवधि में आपके घर का माहौल कर्इ बार अस्थिर होगा, एेसे में आपको इस पर प्रतिक्रिया देने से बचना होगा। ये अवधि प्रोपर्टी खरीदने आैर बेचने के लिए भी अनुकूल नहीं है।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित
भावेश एन पट्टनी
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

बिजनेस से जुड़े मसलों के लिएः राहु-केतु रिपोर्ट बिजनेस के लिए का लाभ उठाए आैर जानें ये गोचर आपके बिजनेस पर क्या प्रभाव ड़ालेगा ?

फाइनेंस से जुड़े मसलों के लिएः राहु-केतु रिपोर्ट फाइनेंस के लिए का लाभ उठाए आैर जानें कि ये आपके फाइनेंस को कैसे प्रभावित करेगा ?

Follow Us