मीन राशि में बुध का गोचर 2018 – क्या होगा आप पर असर…पढ़ें

मीन राशि में बुध का गोचर 2018

प्राचीन ज्योतिष के अनुसार सौर मंडल के सभी ग्रहों में बुध को युवराज की उपाधि से सुशोभित किया गया है। कालपुरुष की कुंडली में बुध ग्रह बुद्धि का कारक है। सूर्य से सबसे नजदीक का ग्रह बुध है। बुध यदि आपकी कुंडली में बलवान हो आप बुद्धि, वाक्चातुर्य, सौम्यता और समझ शक्ति इत्यादि गुणों से लैस रहेंगे। बुध के शुभ रहने से आप अपनी बातों के हूनर से सामने वाले से अपनी बात मनवा सकते हैं। बुध के साथ यदि शेष ज्योतिषीय पहलू भी यदि अनुकूल हो तो फिर क्या कहने ! एेसा जातक दीर्धायु जीवन पाता है और समाज में अपनी कीर्ति छोड़ जाता है। राशि चक्र में बुध ग्रह मिथुन और कन्या राशि का स्वामी है। कुंडली में उत्तर दिशा में बलवान है। अगर आपकी कुंडली में बुध की युति या संग शुभ ग्रहों के साथ होता हो तो शुभ फल और यदि अशुभ ग्रहों के साथ मेल हो रहा हो तो अशुभ या कमजोर फलों की प्राप्ति होती है। बुध प्रधान व्यक्ति के भीतर सीखने की क्षमता बड़ी ही अच्छी ही होती है। बुध जब किसी व्यक्ति की कुंडली में राहु-केतु के नक्षत्र में या इनके साथ होता है तो उसके थायराइड समस्या के शिकार होने की संभावना अधिक होती है। किसी व्यक्ति की जन्मपत्रिका में सूर्य जब बुध के साथ रहता है तो जातक एक स्कॉलर जैसा नाम-शोहरत कमाता है। अगर यदि बुध सूर्य की जगह के साथ मेल करे तो जातक में कवि और लेखक के गुण जन्मकाल से विद्यमान रहते हैं। एेसे जातक भाग्यशाली होते हैं। गुरु और बुध के कॉम्बिनेशन वाला व्यक्ति तत्त्वज्ञानी होता है। संगीत, और नृत्य जैसी ललित कला की हाँबी रखता है। बुध-शुक्र की युति जातक को एक अच्छा वक्ता बनाती है और इसी कारण उसमें एक अच्छे नेता का गुण होता है। सामान्य रूप से ये मार्किटिंग या मीडिया से जुड़े रहते हैं। अगर बुध शनि के साथ युति या मेल करता है तो कुंडली के अनुसार एेसा जातक अकाउंट में प्रगति कर लेता है। पर इसमें कुछ नकारात्मकता का अंश आ जाने से व्यक्ति थोड़ा-थोड़ा निराशावादी हो जाता है। बुध और राहु-केतु की युति वाला व्यक्ति चित्त भ्रम का शिकार बन सकता है। बुध खुद शून्य की भांति होता है। इसलिए, कुंडली में जिसके साथ भी युति में आ जाता है उनके जैसे गुणधर्म अपना लेता है।

मीन राशि में बुध का गोचर 2018 दिनांक 3-3-2018 से मीन राशि में हो रहा है। यह बुध दिनांक 9-5-2018 की शाम को 17.28 बजे तक वहीं रहेगा। बुध दिनांक 23-3-2018 के दिन सुबह 5.48 वक्री स्थिति ( पीछे की ओर चलना) में आकर 15-4-2018 तारीख की दोपहर यानी 14:42 बजे के आसपास वापस से मार्गी यानी सीधी चाल में आ जाएगा। दिनांक 23-3ये 3-4-2018 तक वक्री बुध रेवती नक्षत्र में और दिनांक 3-4 से 15-4-2018 तक उत्तर भाद्रपद नक्षत्र में वक्री रहेगा। यह 15-4से 23-4-2018 तक उत्तर भाद्रपद नक्षत्र में मार्गी रहेगा। दिनांक 23-4से 9-5-2018 के दौरान यह रेवती नक्षत्र में चलायमान रहेगा। मीन राशि में भ्रमणशील बुध राशि चक्र की 12 राशियों में कैसा फल देने जा रहा है और इसका क्या होगा आप पर असर इसकी चर्चा हम यहां तफ्सील से करने जा रहे हैं। इनमें से आपकी जो राशि है उसके लिए बुध का फल सामान्य रूप दिए गए फलकथन के मुताबिक रहेगा एेसा समझें। इसलिए, इनमें से आपकी राशि कौन सी है उसका फलादेश यहां पढ़ लें। साथ ही आपके सही जन्म विवरण के अनुसार कुंडली भी सही बनी होनी आवश्यक है, याद रखें।

(कृपया ध्यान दें: इन भविष्यवाणियों को चंद्र राशि के अनुसार समझें। परन्तु, इसके कुछ प्रभाव लगन राशि के लिए भी लागू होंगे। यदि आप अपनी लग्न राशि/ चंद्र राशि जानना चाहते हैं, तो
यहां क्लिक करें।)

आइये अब जानते हैं वे कौन-सी राशियां हैं जिन्में आने वाली है खुशियों की बहार और बाकी राशियों का क्या होगा हाल…

मेष राशि

मेष राशि के जातकों के लिए मीन का बुध तृतीयेश या षष्ठेश बनता है। बुध यहां आपकी राशि से बारहवें स्थान से प्रसार होगा। दिनांक 23-3 से 15-4-2018 के दौरान छोटे भाई-बहन, नौकर-चाकर, मित्र, लघु यात्रा, विविध प्रवृत्तियां, ननिहाल पक्ष, नौकरी, दुश्मन और रोग वगैरह के मामलों में नकारात्मक परिणाम मिलेगा। वहीं दिनांक 15-4से 9-5-2018 के दौरान आप शुभ फल की आशा कर सकते हैं।

क्या आप अपने कैरियर से असंतुष्ट महसूस कर रहे हैं? बड़े, सकारात्मक बदलाव के लिए हमारे विशेषज्ञों से सटीक मार्गदर्शन प्राप्त करें।

वृषभ राशि

वृषभ राशि वाले लोगों के लिए मीन राशि का बुध धनेश और पंचमेश बनते हुए इस राशि से ग्यारहवें भाव यानी लाभ स्थान से प्रसार होता है। आर्थिक मामलों, प्रेम संबंधों, नए संबंधों की शुरूआत, विद्याभ्यास, संतान से जुड़े मामलों, संतान प्राप्ति से संबंधित मसलों, कौटुंबिक मुद्दों, शेयर-सट्टा, और खेलकूद इत्यादि के मामलों में दिनांक 23-3 से 15-4-2018 के दौरान अधिक सावधान रहना होगा। इस समयावधि में बुध का गोचर आपके लिए मुश्किलें खड़ी करेगा। हालांकि, इसके बाद की अवधि यानी 15-4से 9-5-2018 तक की अवधि का समय आपके लिए अपेक्षाकृत फलदायी साबित होगा एेसी पूर्व-सूचना है।

क्या आप अपनी नौकरी बदलने की योजना बना रहे हैं? क्या आपने सोचा कि क्या आपका यह फैसला सही है या नहीं? विशेषज्ञों के मार्गदर्शन से अपने सभी संदेहों को समाप्त करें।

मिथुन राशि

मिथुन राशि के जातकों के लिए मीन राशि का बुध इनकी कुंडली के पहले (देह स्थान) और चौथे भाव (सुख स्थान) का स्वामी होता है। यह आपकी राशि से दसवें स्थान यानी कर्म स्थान से भ्रमण करता है। दिनांक 23-3से 15-4 -2018 के दौरान मुख्य रूप से मानसिक और शारीरिक मामलों में आप अस्थिरता का अनुभव करेंगे। बेचैनी और व्याकुलता से ग्रस्त रहेंगे। चल-अचल संपत्तियों के कार्यों में भी आपको उम्मीद से कम फल मिलेगा। माता, वाहन और उच्च शिक्षा से जुड़े मामलें आपकी चिंता की वजह बन सकते हैं। हालांकि, 15-4से 9-5-2018 के दौरान बुध के शुभ प्रभाव से आप काफी अच्छे लाभ उठा सकेंगे।

क्या आप अपनी नौकरी में प्रगति से नाखुश हैं? यहां से पता करें आप सकारात्मक परिणाम कैसे प्राप्त कर सकते हैं।

कर्क राशि

कर्क राशि के लिए बुध तीसरे (पराक्रम) और बारहवें (व्यय) का मालिक बनता है। आपकी राशि से नौवें स्थान यानी भाग्य स्थान से बुध का भ्रमण होता है। आपको विशेष तौर पर दिनांक 23-3 से 15-4-2018 अपने से कम उम्र के भाई-बहनों के साथ रिश्तों में सर्तकता बरतनी चाहिए। शार्ट ट्रैवल करते समय सचेत रहें और संभावित जोखिमों से दूरी बनाएं। अगर आप किसी धार्मिक स्थल की यात्रा करने जा रहे हैं तो ग्रहों की प्रतिकूलता उसमें अनचाहे विघ्न डाल सकती है। इसके उपरांत, आपको चीजों में आकस्मिक खर्च के लिए भी पहले से तैयार रहने की जरूरत है। हालांकि,15-4 से 9-5-2018 तक के समय में आपको इन चीजों में अच्छे नतीजे मिलने की आशा है।

क्या चाहते हैं कि नौकरी में अभी बदलाव के संकेत है या नहीं? हमारे विशेषज्ञों से पूर्ण स्पष्टता प्राप्त करने के लिए यहां क्लिक करें।

सिंह राशि

सिंह राशि अग्नि तत्व वाली राशि है जिसका स्वामी सूर्य होता है। सिंह राशि के जातकों के लिए मीन राशि का बुध दूसरे (धन स्थान) और ग्यारवहवें (लाभ स्थान) का मालिक बनता है। यहां इसका भ्रमण आठवें स्थान से होता है। सिंह राशि के जातकों को बुध ग्रह मध्यम परिणाम देगा। दिनांक 15-4से 9-5-2018 के दौरान इन मामलों में पॉजिटिव रिजल्ट मिलने के लिए आशावान रहें।

क्या जानना चाहते हैं कि आप शादी कब करेंगे? हमारे विशेषज्ञों से इसका सही समय प्राप्त करें।

कन्या राशि

जिन लोगों की कन्या राशि है उनके लिए बुध पहले (लग्न स्थान) और दसवें भाव( कर्म स्थान) का मालिक कहलाता है। इस राशि में मीन का बुध सातवें भाव से भ्रमण करेगा। यह स्थान कुंडली के चार केंद्र स्थान में से एक होता है। इस समय के दौरान शारीरिक और मानसिक स्थिति, कार्यक्षेत्र और पिता से संबंधित मामलों में शुभ परिणाम मिलेगा। दिनांक 15-4से 9-5-2018 के दौरान शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। कार्यक्षेत्र में भी पहले की तुलना में प्रगति दिखाई देगी। पिता के साथ अच्छे संबंध रहेंगे। दिनांक23-3से 15-4-2018 के दौरान इन मैटर्स में नकारात्मक परिणाम मिलने का पूर्वकथन है।

क्या आप अपने करियर में बड़ी जटिलताओं का सामना कर रहे हैं? बड़े, सकारात्मक बदलाव के लिए हमारे विशेषज्ञों से सटीक मार्गदर्शन प्राप्त करें।

तुला राशि

तुला राशि के जातकों के लिए मीन राशि का बुध ग्रह भाग्येश और व्ययेश बनते हुए इनकी कुंडली में छठें स्थान ( रोग स्थान) में से होकर गुजरेगा। बुध की चाल दिनांक 23-3 से 14-4-2018 के दौरान वक्री रहने से धार्मिक मामलों, भाग्य वृद्धि, दूर-दराज की यात्रा, आकस्मिक खर्च और बीमारियों इत्यादि में खराब परिणाम देगी। लेकिन, इसके बाद यानी 15-4से 9-5-2018 के दौरान इन सभी जगहों पर अच्छा परिणाम देना शुरू हो जाएगी।

क्या आप अपने काम में प्रगति से नाखुश हैं? यहां बताया गया है कि आप सकारात्मक परिणाम कैसे प्राप्त कर सकते हैं।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए मीन राशि का बुध ग्रह लाभेश व अष्टमेश होकर कुंडली के पांचवें भाव( त्रिकोण स्थान या लक्ष्मी स्थान) से होकर भ्रमण करता है। इस बुध का गोचर बड़े भाई-बहनों, आर्थिक मामलों, विरासत की मिल्कियतों, मित्रों के साथ सबंध और स्वास्थ्य वगैरह के मामलों दिनांक 23-3 से 15-4-2018 के मध्य नकारात्मक परिणाम और 15-4से लेकर 9-5-2018 के बीच इसके विपरीत एक अच्छा रिजल्ट देगी।

क्या आप अपनी नौकरी बदलने की योजना बना रहे हैं? क्या आपने सोचा कि क्या यह सही फैसला है या नहीं? विशेषज्ञ की सेवा प्राप्त करके अपने सभी संदेहों को समाप्त करें।

धन राशि

धनु राशि के जातकों के लिए मीन का बुध कुंडली के सातवें और दसवें स्थान का अधिपति बनता है। इस राशि की कुंडली में यह चौथे स्थान से भ्रमण करेगा। इससे इन जातकों को दिनांक 23-3से 15-4-2018 के दौरान मैरिज लाइफ, पर्सनल लाइफ, पब्लिक लाइफ, कर्म क्षेत्र, पिता के साथ संबंध, पार्टनरशिप वगैरह के मामलों में अधिक चौकन्ना रहना होगा। हालांकि, इसके उलट 15-4से 9-5-2018 के दौरान इन मामलों में एक अच्छा फल मिलने की उम्मीद लगा सकते हैं।

जानना चाहते हैं कि आपके लिए जॉब चेंज के संकेत हैं या नहीं? हमारे विशेषज्ञों से पूर्ण स्पष्टता प्राप्त करने के लिए यहां क्लिक करें।

मकर राशि

के जातकों के लिए मीन राशि का बुध छठें और नवम स्थान का मालिक होते हुए तीसरे स्थान से भ्रमण करेगा। दिनांक 23-3 से 15-4-2018 के दौरान नौकरी, ननिहाल पक्ष, साला-साली, रोग-शत्रु, भाग्य वृद्धि के मामले, धार्मिक मामले और नौकर-चाकर इत्यादि में मध्यम व दुर्बल फल मिल सकता है। वहीं 15-4से 9-5-2018 के दौरान इन मामलों में अच्छा फल मिलने की आशा कर सकते हैं।

क्या आप अपने करियर में परेशानियों का सामना कर रहे हैं? व्यापक बदलाव के लिए हमारे विशेषज्ञों से तुरंत मार्गदर्शन प्राप्त करें।

कुंभ राशि

कुंभ राशि के जातकों के लिए मीन राशि का बुध पांचवें और आठवें स्थान का मालिक बनता है। आपकी राशि से दूसरे भाव यानी धन स्थान से इसका विचरण होता है। लव रिलेशन, संतान सुख, विद्याभ्यास, शेयर-सट्टे, खेलकूद, आर्थिक मामलों, वसीयत और सामान्य तन्दुरुस्ती में भी दिनांक 23-3 से 15-4-2018 के दौरान कमजोर परिणाम मिलने की आशंका है। दिनांक15-4से 9-5-2018 के दौरान उज्जवल परिणाम मिलने की अपेक्षा है।

क्या आप अपनी नौकरी बदलने की योजना बना रहे हैं? क्या आपने सोचा कि क्या यह सही फैसला है या नहीं? विशेषज्ञों की मदद से अपनी सभी अनिश्चितता का अंत करें।

मीन राशि

अब बात करते हैं खुद मीन राशि में बुध का गोचर 2018 का प्रभाव कैसा रहेगा। बुध मीन राशि की कुण्डली में चौथे और सप्तम स्थान का स्वामी होता है। यह आपकी राशि के ही पहले स्थान यानी मीन लग्न के ऊपर से प्रसार होगा। इस समय दौरान आपको 23-3से 15-4 के दौरान स्थायी मिल्कियतों, माता, बहन, उच्च शिक्षा, विवाहित जीवन, व्यक्तिगत और सार्वजनिक जीवन, भागीदारी वगैरह में सामान्य या नकारात्मक परिणाम मिल सकते हैं। दिनांक15-4से 5-9-2018 के दौरान इन सारे मामलों में एक अच्छा फल मिलने की संभावना है।

क्या आप अपनी कुंडली के अनुसार जानना चाहते हैं कि आपके लिए अभी नौकरी में बदलाव का योग है कि नहीं ? हमारे विशेषज्ञों का परामर्श प्राप्त करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें।

गणेश जी के आशीर्वाद से,

बिंदुबेन पंड्या

गणेशास्पीक्स.कॉमटीम

अपनी परेशानियों के समाधान के लिए! अब हमारे ज्योतिषी से बात करें।

03 Mar 2018

View All blogs

Follow Us