शनि का मकर में गोचर, जातकों पर प्रभाव और समाधान

शनि का मकर में गोचर, मकर राशि जातकों पर प्रभाव और समाधान

धीमी गति से राशि चक्र का भ्रमण करने वाले शनि 30 साल लंबे भ्रमण के बाद अपनी स्वराशि मकर में गोचर करने वाले है। 23 जनवरी 2020 से शनि राशि परिवर्तन कर मकर में गोचर करेंगे। इस गोचर के दौरान शनि अप्रैल तक मकर में भ्रमण करेंगे। वैदिक ज्योतिष में शनि को कर्म फलदाता माना गया है। कुंडली में प्रभाव के अनुसार शनि की तुलना किसी सख्त शिक्षक से की जा सकती है। किसी राशि पर अपने प्रभाव के रूप में शनि जातक को अनुशासित, धैर्यवान और मेहनतकश बनाने का काम करता है। जन भ्रांतियों के अनुसार शनि को पापी ग्रह माना जाता है, लेकिन जिस तरह मटका ठंडा पानी देने से पहले कुम्हार के भट्टे की भीषण आग में तपता है। उसी प्रकार शनि भी व्यक्ति को तपाने का काम करता है। शनि की भट्टी में पका व्यक्ति जीवन के सभी क्षेत्रों में सफलता की ओर अग्रसर होता है।

शनि का मकर गोचर 2020 का पर पड़ने वाला प्रभाव जानने के लिए हमने मकर लग्न कुंडली का अध्ययन किया। मकर लग्न कुंडली के पहले और दूसरे भाव का स्वामी शनि है, और मौजूदा स्थिति में शनि की घर वापसी हो रही है। इस भाव को लग्न भाव, तनुभाव या देहभवन के नाम से भी जाना जाता है। इस भाव का संबंध मनुष्य के शरीर, कद-काठी, आकार, रंग, संरचना, चरित्र, मनोबल, मनोवृत्ति, बल, कीर्ति और संतोष से होता है। शनि का प्रभाव जातक के व्यक्तित्व को निखारने का कार्य करता है। हालांकि इस दौरान जातक को जीवन के सभी क्षेत्रों में सावधानी व सजगता से नजर रखने की हिदायत भी है। इस दौरान आपको अपने व्यापारिक सौदों, आर्थिक और निजी जीवन में विशेष सावधानी बरतनी चाहिए।

बीते ढाई साल और शनि

साल 2017 में शनि ने वृश्चिक से धनु में गोचर किया था, शनि के इस गोचर के साथ ही मकर राशि पर शनि की साढ़े साती का प्रभाव शुरू हो गया था। शनि का धनु में गोचर 2017 के दौरान आपके खर्चे बढ़े होंगे, लेकिन इस दौरान आपने खुद को आर्थिक रूप से स्वतंत्र भी पाया होगा। बीते ढाई साल पर साढ़े साती प्रभाव का प्रथम दौर था। धनु राशि में शनि गोचर 2017 के दौरान आपने राहत के लिए अलग-अलग स्थानों की यात्राएं भी की होंगी। लेकिन फिलहाल 23 जनवरी 2020 से शनि का मकर में गोचर होने वाला है। आइए जानने की कोशिश करते है कि, मकर राशि जातकों के जीवन के प्रमुख क्षेत्रों पर इसका क्या प्रभाव पड़ने वाला है।

शनि गोचर का मकर पर प्रभाव

शनि का मकर में गोचर मकर राशि जातकों पर सकारात्मक और नकारात्मक दोनों ही तरह के प्रभाव डालने वाला है। यह आपके दृष्टिकोण पर निर्भर करता है कि आप शनि के इन प्रभावों को कैसे देखते है। आपको इस दौरान घटने वाली घटनाओं के लिए पहले से तैयार रहने की जरूरत है । यदि आप इस शनि गोचर के लिए पहले से तैयार रहेंगे तो आप शनि गोचर के सकारात्मक परिणाम प्राप्त कर पाएंगे। शनि गोचर के दौरान घटने वाली घटनाएं आपको धैर्य, अनुशासन और आगामी जीवन का साहस से सामना करने की क्षमता प्रदान करेगी।

शनि गोचर का करियर पर प्रभाव

इस दौरान आपको कड़ी मेहनत और प्रयासों के बाद भी लक्षित परिणाम प्राप्त करने में परेशानी होगी।

मकर में शनि गोचर जीवन में कुछ अनोखा और नया घटने के भी संकेत देता है। हालांकि इसके लिए सकारात्मक प्रयास बेहद जरूरी है।

शनि गोचर के दौरान अपनी ग़लतियों और असफलताओं के सीखने की जरूरत होगी। इस बीच कई बार अपने कार्यस्थल पर परेशानियों के कारण आत्मविश्वास खो सकते हैं।

शनि का मकर में गोचर 2020 कार्यस्थल पर कड़ी मेहनत करवाने वाला है। आपको करियर ढलान पर दिखाई देगा, इस दौरान जीवन में संतुलन बनाए रखने की जरूरत होगी।

इस दौरान वरिष्ठ और उच्च अधिकारी आपकी कड़ी मेहनत को नज़रअंदाज़ करेंगे, जिससे उनका ध्यान आकर्षित करने के लिए अधिक प्रयास करने होंगे। इस दौरान आप नौकरी भी बदल सकते है।

शनि गोचर का व्यापार-व्यवसाय पर प्रभाव

परागमन के दौरान व्यापारिक साझेदारों के साथ आपकी असहमतियां बढ़ सकती है।

इस दौरान आपको व्यापारिक साथियों के साथ संतुलन बिठाने में भी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।

आपको अपने कर्मचारियों को खुश रखने और उनकी क्षमता के अनुसार उनके लक्ष्य निर्धारित करने चाहिए।

शनि गोचर आपको व्यापार और कर्मचारियों के बीच संतुलन बनाने की सलाह देता है। इससे आपको व्यापार विस्तार में मदद मिलेगी।

समस्याओं से बचने के लिए व्यावहारिक दृष्टिकोण के साथ योजना बनाने और अपने प्रतियोगियों का उदाहरण लेते हुए अपनी मुश्किलों का डटकर सामना करना चाहिए।

शनि गोचर 2020 की समयावधि आपके व्यापार के लिए कई तरह की मुसीबतें लेकर आ सकती है। इस दौरान आपके कर्मचारी अचानक नौकरी छोड़ सकते हैं, जिससे आपकी परेशानियां बढ़ सकती हैं।

शनि गोचर का आर्थिक स्थिति पर प्रभाव

आपका आत्म विश्वास आपको इस मुश्किल दौर से निपटने में मदद करेगा।

शनि के मकर गोचर के दौरान व्यापारी वर्ग को वांछित वित्तीय परिणाम प्राप्त करने के लिए अधिक धैर्य के साथ इंतजार करना होगा।

परिवार के सदस्य पारिवारिक मामलों में वित्तीय सहायता देने में असमर्थ रहेंगे। इसलिए आपको बचत पर ध्यान केंद्रित करते हुए उसके अनुसार बजट योजना बनाना होगा।

आपको कड़ी मेहनत के बाद वित्तीय लाभ मिल पाएगा, परिणाम प्राप्त करना चुनौती पूर्ण होगा। लेकिन आपको उम्मीद बनाए रखनी चाहिए, क्योंकि इस दौरान शनि आपकी परीक्षा ले रहा होगा।

करियर, व्यवसाय और आर्थिक जीवन में आ रही समस्याओं का उपचारात्मक समाधान पाने के लिए यहाँ क्लिक करें।

शनि गोचर का प्रेम या वैवाहिक संबंधों पर प्रभाव

इस दौरान आपको अपने साथी की भावना और विचारों का सम्मान करना चाहिए।

शादीशुदा लोगों को इस दौरान अपने साथी के साथ किसी भी तरह के वाद-विवाद में धैर्य और शांति के साथ निपटने की सलाह है।

इस दौरान यदि किसी बात पर आपका साथी आपसे असहमत है तो आपको समय का उपयोग करते हुए, किसी समाधान के बारे में सोचना चाहिए।

मकर में शनि गोचर 2020 के दौरान आपको अपने प्रेम व वैवाहिक जीवन में अधिक समय देने की जरूरत है। इससे आपको अपने रिश्ते को मजबूत करने में मदद मिलेगी।

शनि का मकर गोचर 2020 आपके प्रेम संबंधों में कुछ परेशानी पैदा कर सकता है। इस दौरान आपको अपने साथी से उतना समर्थन नहीं मिलेगा, जितनी आप उनसे उम्मीद करते है।

शनि गोचर का स्वास्थ्य पर असर

इस समयावधि के दौरान आपको लगातार स्वास्थ्य जांच करवाते रहना चाहिए।

शनि गोचर का यह दौर आपको शारीरिक और मानसिक रूप से प्रभावित कर सकता है।

इस दौरान आपको अपनी पसंद की चीजें करनी चाहिए, जिससे आपको मानसिक और शारीरिक स्थिरता प्राप्त करने में मदद मिले।

मकर में शनि गोचर 2020 के दौरान आपको सक्रिय और स्वस्थ्य रहते हुए आने वाली परेशानियों को पनपने से पहले ही खत्म करने की कोशिश करना चाहिए।

जीवन में आ रही व्यक्तिगत परेशानियों का हल ढूंढने के लिए हमारे ज्योतिषी विशेषज्ञों की सलाह प्राप्त करें अभी!

निष्कर्ष

मंद गति से राशियों का भ्रमण करने वाले शनि मकर राशि के स्वामी है। शनि लगभग 30 सालों बाद अपनी स्वराशि में गोचर कर रहे है। इस गोचर का आप पर मिलाजुला असर रहने वाला है। शनि का मकर गोचर 2020 के साथ ही आप पर जारी शनि साढे साती का दूसरा चरण शुरू होने वाला है। इस गोचर से आपको जीवन के कुछ क्षेत्रों में फौरी राहत मिलने की उम्मीद है वहीं जीवन के कुछ अन्य क्षेत्रों में नई चुनौतियाँ मिलने की भी संभावना है। इसलिए आपको धैर्य, संयम और दृढ़ता से इन परिस्थितियों का सामना करना चाहिए। इस दौरान शनि बेहद प्रभावशाली रहने वाले है, इस दौरान आपको उनके प्रभावों को सकारात्मक दृष्टिकोण से देखने की जरूरत है। मानसिक और शारीरिक रूप से तैयार रहें, गोचर के प्रभाव कम होते ही आप स्वयं को अपने लक्ष्य के अधिक नज़दीक पाएंगे।

अपने व्यक्तिगत समाधान प्राप्त करने के लिए, एक ज्योतिषी विशेषज्ञ से बात करें अभी!

गणेश की कृपा से,

गणेशस्पीक्स.कॉम टीम

24 Dec 2019

View All blogs

Follow Us