https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

चन्द्र राशि मेष पर शनि के मकर राशि में गोचर का प्रभाव

चन्द्र राशि मेष पर शनि के मकर राशि में गोचर का प्रभाव

वैदिक ज्योतिष में, शनि को अनुशासन का शिक्षक और सुव्यवस्थित कार्यपालक के रूप में जाना जाता है। शनि सभी 12 राशियों से गुजरने में लगभग 30 साल लगते हैं। अब ये समय है जब शक्तिशाली शनि मकर राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं, जो कि इनकी अपनी राशि है। यह वैसा ही होगा जैसे अन्य सभी राशियों की यात्रा करने के बाद घर वापस लौटना। शनि का यह परागमन 23 जनवरी, 2020 से शुरू होगा और ढाई साल तक जारी रहेगा। मेष राशि वालों पर शनि का प्रभाव कैसा होगा यह उस भाव पर निर्भर करेगा जिसमें वह प्रवेश करेगा।

शनि अग्नि तत्व की राशि मेष के दसवें भाव में परागमन करने जा रहे हैं। यह भाव कैरियर, व्यवसाय की स्थिति, प्रसिद्धि और आजीविका के लिए उत्तरदायी होता है। इसलिए मेष राशि जातकों के लिए यह परागमन अत्यंत महत्वपूर्ण रहेगा। मेष जातकों के लिए ये वो समय होगा जब उन्हें जीवन में धैर्य बनाए रखना होगा और धन ख़र्च में अनुशासन का पालन करना होगा।

पिछले 2.5 वर्षों में क्या हुआ?

आप 2017 से 2020 तक शनि के धनु राशि में परागमन के दौरान जीवन में बेहतर स्थिति का अनुभव कर रहें होंगे। कई क्षेत्रों में जीवन परेशानी रहा होगा। आपने अपनी ऊर्जा को बेहतर प्रयासों के लिए निर्देशित करना शुरू कर दिया होगा। पिछले ढाई साल लोगों के करीब आने और अनुकूल परिणाम हासिल करने के लिहाज से फलदायी और सकारात्मक रहे होंगे। अब देखते हैं कि आने वाला शनि का मकर राशि में परागमन आपके लिए कैसा रहता है?

चन्द्र राशि मेष पर शनि गोचर का प्रभाव 23 जनवरी, 2020 से अप्रैल 2022 तक रहेगा।

(कृपया ध्यान दें: यह भविष्यवाणी चन्द्र राशि के अनुसार की गयी है।)
शनि के इस परागमन के दौरान आने वाले ढाई सालों में आप जीवन के लगभग हर पहलू में मंदी और परेशानी का सामना कर सकते हैं। इस दौरान आपको धैर्य रखना होगा और बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए वास्तव में कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी। शनि की शिक्षा आपके आने जीवन के लिए फ़ायदेमंद साबित हो सकती हैं, इसलिए बिना पीछे मुड़े अपने लक्ष्य की दिशा में काम करना सफलता का मार्ग प्रशस्त करेगा।

करियर जीवन पर शनि के परागमन का प्रभाव

  • पेशेवर कार्यों में आपको कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है।
  • लम्बे समय से नियोजित कार्य को पूरा करने में चुनौतियों और बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है।
  • परागमन के दौरान हतोत्साहित होने के बजाय समस्याओं से निपटने के लिए अपने विचारों को नई दिशा दें।
  • गणेशजी कहते हैं कि परागमन के दौरान आप अपनी योजनाओं को लागू करने की कोशिश करते समय गति की कमी का अहसास करेंगे।
  • दिए गए कार्य को समय पर पूरा न कर पाने के कारण आपको जल्दबाज़ी में काम करना पड़ सकता है। जिससे कार्य भार बढ़ने की संभावना है।
  • ये आपको सफलता और कार्यस्थल पर वांछित परिणाम प्राप्त करने में देरी बाधक हो सकता है। यहाँ तक की आपको नौकरी भी छोड़नी पड़ सकती है।

व्यावसायिक जीवन पर शनि के परागमन का प्रभाव

  • आप वांछित विकास दर प्राप्त करने में असमर्थ हो सकते हैं।
  • व्यावसायिक परियोजनाओं में आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है।
  • व्यवसाय में प्रतिस्पर्धा मिल सकती है क्योंकि क्योंकि आपके प्रतिद्वंद्वियों आपसे एक क़दम आगे होंगे।
  • व्यावसायिक यात्राओं पर किया गया खर्च लाभकारी साबित नहीं होगा। जिससे निराशा का भाव आ सकता है।
  • आपकी संस्था के कर्मचारी या कार्यकर्ता सहयोग नहीं करेंगे, जिससे वांछित परिणाम प्राप्त करने में देरी होगी।
  • समस्त पहलुओं पर विचार करने के बाद ही कोई व्यावसायिक योजना बनायें। किसी काम में कोई जल्दबाजी न करें।

यह भी पढ़े – सूर्य करने जा रहा है धनु राशि में प्रवेश! आपकी राशि पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा?

वित्तीय जीवन पर शनि के परागमन का प्रभाव

  • आपका मासिक बजट गड़बड़ा सकता है।
  • वांछित वित्तीय लाभ नहीं मिलने से हताशा होंगे।
  • शनि के परागमन से आपकी वित्तीय स्थिति पर प्रतिकूल प्रभाव पद सकते हैं।
  • वित्तीय मामलों पर नजर रखने की आवश्यकता होगी क्योंकि अज्ञात कारणों से धन खर्च हो सकता है।
  • एक मजबूत वित्तीय योजना बनाकर उसका अनुशासन से पालन करें, जो लम्बे में आपके लिए फ़ायदेमंद साबित होगा।
  • अपने कार्य से पार्यप्त पैसे नहीं कमा पाएंगे। किसी से लिए गए ऋण को चुकाने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है।

प्रेम-संबंध और वैवाहिक जीवन पर शनि के परागमन का प्रभाव

  • किसी भी अनबन की स्थिति में शांत रहें और साथी की अतिरिक्त देखभाल करें।
  • व्यक्तिगत जीवन की समस्याओं के कारण मानसिक अशांति भी हो सकती है। वैवाहिक जीवन को सुचारु रूप से चलाने के तालमेल बनाकर रखें।
  • शनि परागमन आपके प्रेम संबंधों में कष्ट पैदा कर सकता है। आपके प्रेमी के साथ मतभेद हो सकते हैं। प्रेमी से साथ विवाद की स्थिति एक बहस का कारण बन सकती है।
  • आपको रिश्तों में समझ और सावधानी रखने की सलाह दी जाती है। यदि ऐसा नहीं किया गया तो आपके साथी का दिल टूट सकता सही जिससे रिश्ता भी ख़त्म होने की संभावना है।
  • शादीशुदा लोगों को रिश्ते में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। जिससे पति-पत्नी के बीच दूरियाँ आ सकती हैं। हो सकता है आपकी और साथी की पसंद मेल न खाएं, जिसके कारण आपको साथी के समर्थन की कमी का अहसास हो सकता है।

अगर आप भी वैवाहिक जीवन में समस्याओं का सामना कर रहें है तो हमारे उपचारात्मक प्राप्त करें अभी!

स्वास्थ्य पर जीवन पर शनि के परागमन का प्रभाव

  • आप जलवायु परिवर्तन के प्रति भी संवेदनशील हो सकते हैं।
  • अत्यधिक काम की वजह से आपका ऊर्जा स्तर नीचे जा सकता है।
  • संतुलित खानपान की आदतें अपनायें जिससे बेहतर स्वास्थ्य रखने में आपको मदद मिलेगी।
  • परागमन के दौरान नियमित व्यायाम और योग के की सहायता से अपना स्वास्थ्य बनायें रखें।
  • यह भी सुझाव दिया जाता है कि आप नियमित व्यायाम और योग के साथ अपनी फिटनेस बनाए रखें।
  • व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन में गड़बड़ी के चलते स्वास्थ्य जीवन में भी समस्याएं आ सकती हैं।

निसंकोच शनि का यह परागमन आपके जीवन का बेहद कठिन समय हो सकता है, लेकिन इस दौरान आप जो अनुभव और सबक सीखेंगे उनको सकारात्मक रूप से ग्रहण करने पर आप एक मजबूत व्यक्तित्व के रूप उभरकर सामने आएंगे। फिर भविष्य में आने वाली प्रत्येक चुनौती का आप डटकर सामना करेंगे और सफल होंगे।

अपने व्यक्तिगत समाधान प्राप्त करने के लिए, हमारे ज्योतिषी विशेषज्ञ से बात करें अभी!

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

Follow Us