नक्षत्र – उत्तरा भाद्रपद

रंगः जांबली
भाग्यशाली अक्षरः ड, झ, न और य
इस नक्षत्र का प्रतीक अंतिम संस्कार के खाट के पीछे दो पैर हैं , और इष्टदेव गोरखनाथ और अहिरभैरव और कुंडलिनी शक्ति के लिए ‘नागिन’ हैं | इस नक्षत्र के प्रतीक का मतलब ‘शुभ पैर’ होता हैं | इस नक्षत्र के गुण बहुत कुछ पूर्वा भाद्रपद के तरह ही होते हैं, लेकिन इन व्यक्तियों का गुस्से पर अधिक नियंत्रण होता हैं ये क्रूर और विनाशकारी कम होते हैं | उत्तर भाद्रपद लोग अपने विचारों को संचारित करने में ज्यादा उग्र नहीं होते है क्योंकि ये आलसी होते हैं | इनमें आत्म त्याग की प्रवृत्ति पायी जाती हैं | ये बहुत संकोची होते हैं और केवल कुछ ही लोगो से मिल्ते जुलते हैं | इस नक्षत्र के प्रभु शनि होते हैं |ये त्यागी, तनहाई को प्यार करने वाले और मानसिक रुप से आवेगी हो सकते हैं | इनकी ज्ञान की गहराई और सामूहिक चेतना इन्हे अहंकार के बंधन में नहीं बांध पाती हैं | ये परम ज्ञान प्राप्त करते हैं |यह एक योद्धा सितारा भी हैं और इसलिए इस तरह के लोग अपने लेखन और भाषण के माध्यम से अपनी राय व्यक्त करते हैं | ये हंसमुख, उदार, और आत्म त्याग, और अपने प्यारो के प्रति अत्यंत रक्षात्मक होते हैं | इनका उग्र गुस्सा और यौन गतिविधियों में अधिक लिप्तता मुसीबत पैदा कर सकती हैं | ये अपने दुश्मनों का सफाया करने की ताकत रखते हैं | ये सीखने की अपार क्षमता रखते हैं और किसी भी क्षेत्र में उत्कृष्टता हासिल कर लेते हैं | उत्तर भाद्रपद में जब चंद्रमा आता हैं तो इन्हें उपहार या विरासत धन प्राप्त होता हैं | इन्हे पक्षाघात, पेट की समस्याएं, बवासीर, और हर्निया से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं | पेशे से ये दान से संबंधित काम, तंत्र, श्मशान, और पुर्वा भाद्रपद की तरह कई नौकरियां कर सकते हैं |

List of Nakshatras
अश्विनी भरणी कृतिका रोहिणी मृगशीर्ष आर्द्रा पुनर्वसु पुष्य अश्लेषा मघा मूल हस्त अनुराधा ज्येष्ठा पूर्वाषाढा उत्तरा षाढा श्रवण धनिष्ठा शतभिषा

स्टार गाइड

दैनिक गाइड

संभावित घटनाओं का संकलन, प्रति घंटा मार्गदर्शन, सटीक समय-सीमा और क्या करें और क्या न करें

लाइफ मीटर

जानिए अपनी शारीरिक और मानसिक स्थिति के विभिन्न पहलुओं का प्रतिशत

अनुकूलता

जानिए दूसरों से आपकी तरंगे कितनी मेल खाती है

Banner Title