सचिन पायलट को मिला अपनों का साथ, अब आगे क्या बदलाव लाएंगे उनके ग्रह?

सचिन पायलट

राजस्थान मंत्रीमंडल में फेरबदल की कई दिनों से खबरें आ रही थी कि वरिष्ठ नेता सचिन पायलट के समर्थकों को मंत्रीमंडल में जगह दिलाने के लिए मशक्क़त जारी है। आखिरकार मंत्रीमंडल में हुए फेरबदल के बाद ऐसा माना जा रहा है कि कांग्रेस एक साथ कई लक्ष्य साधने में सफल रही है। क्योंकि इस बार सचिन पायलट के समर्थकों को भी जगह दी गई है। इसके अलावा दलितों और महिलाओं को खास तवज्जो दी गई है। इसी के साथ करीब एक साल के बाद अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच बढ़ी नाराजगियाँ भी खत्म हुई है, जिससे पायलट खुश हैं। चलिए देंखे सचिन पायलट की कुंडली…

सचिन पायलट की कुंडली चंद्र-मंगल का लक्ष्मी योग 

7 सितंबर 1977 को जन्मे सचिन पायलट की कुंडली के अनुसार उनकी कुंडली में स्वग्रही सूर्य, चंद्र- और चंद्र मंगल का लक्ष्मी योग है। हालांकि, कुंडली में काल सर्प योग भी है, जो कई बार अचानक से उन्हें बहुत कुछ दे देता है, तो कई बार उनसे बहुत कुछ छीन भी लेता है। उनके आने वाले समय में उनकी कुंडली में -बुध के सामने से सकारात्मक गुरु ग्रह का गोचर शुरु हुआ है, जो उनके लिए सकारात्मक समय लेकर आएगा।

2023 में मुख्यमंत्री का चेहरा हो सकते हैं सचिन पायलट

सूत्रों की मानें तो सचिन को राष्ट्रीय महासचिव का पद देकर किसी चुनावी राज्य में प्रभारी की जिम्मेदारी दी जा सकती है। सचिन पायलट को 2023 के विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री का चेहरा बनाया जाएगा। हालांकि, इससे पहले उन्हें किसी राज्य का प्रभारी मंत्री भी बनाया जा सकता है, लेकिन वह राजस्थान में लगातार सक्रिय रहेंगे। सचिन पायलट को प्रियंका गांधी की मदद के लिए भी राजी किया गया है।

प्रसिद्धि, अपयश या धन : आपके लिए भविष्य क्या लेकर आने वाला है? – अभी हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषी से बात करें!

Follow Us