गणेशजी की भविष्यवाणी, पनीरसेल्वम के लिए आगे की राह नहीं होगी आसान - GaneshaSpeaks
https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

गणेशजी की भविष्यवाणी, पनीरसेल्वम के लिए आगे की राह नहीं होगी आसान

गणेशजी की भविष्यवाणी, पनीरसेल्वम के लिए आगे की राह नहीं होगी आसान

जयललिता की मौत के बाद तमिलनाडु की राजनीति में हर दिन नए भूचाल महसूस किए जा रहे है। सीएम की कुर्सी को पाने के लिए तमिलनाडु के कार्यवाहक सीएम आे पनीरसेल्वम आैर अन्नाद्रमुक महासचिव वीके शशिकला के बीच चल रही सियासी जंग में हर दिन नाटकीय घटनाक्रम आते है। बात करें पनीरसेल्वम की तो दिवंगत सीएम जयललिता के प्रति पनीरसेल्वम की वफादारी आैर समर्पण भाव हिन्दी महाकाव्य रामायण में लिखित भरत की भगवान श्रीराम के प्रति वफादारी आैर निष्ठा की कहानी याद दिलाता है। यही कारण है कि पनीरसेल्वम के पक्ष में समर्थन लगातार बढ़ता जा रहा है। लेकिन क्या इस सियासी जंग में पनीरसेल्वम शशिकला को शिकस्त दे पाएंगे ? क्या उन्हें पार्टी सदस्यों का साथ मिल पाएगा? क्या वे एक सीएम के रूप में अपनी स्थिति को मजबूत बना पाएंगे? अगर आपके मन में भी इस तरह के सवाल चल रहे है तो चलिए जानते है गणेशजी से, जिन्होंने पनीरसेल्वम से जुड़ी अहम भविष्यवाणियां की हैः

पनीरसेल्वम सरकारशपथ ग्रहण की कुंडली
kundali

ज्योतिषीय झरोखे से पनीरसेल्वम के शपथ ग्रहण कुंडली पर गौर करें तो चंद्रमा मंगल के नक्षत्र में विराजमान है आैर छठें भाव में केतु के साथ युति में है, जो दर्शाता है कि यूं तो जयललिता की मौत के बाद तत्काल संकट अभी खत्म हो गया है, लेकिन सरकार की दीर्घायु, लोकप्रियता आैर स्थिरता से जुड़ा सवाल पनीरसेल्वम के लिए कष्टप्रद रहेगा।

अन्नाद्रमुक पार्टी अपनी सरकार बनाने की कर सकती है कल्पना इसके अलावा, शनि सूर्य के साथ विराजमान है। एेसे में अन्नाद्रमुक को प्रतिद्वंदियों से परेशानी रहेगी। द्रमुक इस माैके का फायदा उठाने का प्रयत्न करेगा। ये संकेत मिल रहे है कि निचले स्तर के राजनेता जातिवाद की भावनाएं उत्तेजित करने की कोशिश कर सकते है आैर ये पनीरसेल्वम के शासन को कमजोर बना सकता है।

बृहस्पति ग्रह होगा मददगार हालांकि, लग्न का स्वामी बुध चौथे भाव में बैठा है आैर गुरू के साथ प्रतियुति कर रहा है, जो नए मुख्यमंत्री को अपनी स्थिति मजबूत बनाने में मदद करेगा। ये सीएम को आवश्यक श्वांस लेने की जगह भी प्रदान करेगा आैर निकट भविष्य में पार्टी में किसी प्रकार का विभाजन टालने में मदद करेगा।

अपने कैरियर के मसलों का समाधान पाए हमारी कैरियर एक प्रश्न पूछें रिपोर्ट की मदद से।

बुध से मिल रहे सरकार की कमजोरियों के संकेत पनीरसेल्वम सभी पार्टी नेताआें को एक ही छत के नीचे लाने की कोशिश करेंगे आैर पार्टी के भीतर मजबूत प्रशासनिक क्षमताआें के साथ विरोधियाें के प्रति लचीला दृष्टिकोण अपनाएंगे। लेकिन कुंडली में बुध अनिष्टकारी ग्रहों से घिरा है जो सरकार की कमजोरियों को इंगित करता है। एेसे में, सरकार बाहरी तौर से स्थिर नजर आ सकती है लेकिन बाहरी आैर आंतरिक झटकों की वजह से अतिसंवदेनशील रहेगी।

क्या आप अपने बिजनेस में मार्गदर्शन तलाश रहे है ? तो अभी खरीदें हमारी बिजनेस एक प्रश्न पूछें रिपोर्ट

मध्य मार्च तक स्थिति रहेगी नाजुक गोचर के सूर्य-केतु की कुंभ राशि में युति उनकी सरकार के लिए अत्यधिक संकटमय रहेगी। इसके अलावा, 23 फरवरी 2017 से सूर्य-बुध-केतु की कुंभ में प्रतियुति उनकी सरकार के लिए प्रतिकूल रहेगी। इस संदर्भ में उनकी सरकार 14 मार्च 2017 तक खतरे में रहेगी।

वर्ष 2017 के उत्तरार्द्घ में अधिक सचेत रहने की जरूरत अगर उनकी सरकार अस्तित्व में रहती है, तो सितारें दर्शाते है कि वर्ष 2017 की दूसरी छमाही में उनकी पहली आैर प्रमुख चुनौती प्रकट होगी। लेकिन इसमें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। जून के बाद समय उनके लिए समय अच्छा नहीं होगा। एेसे में उन्हें उन्हें काफी संभलकर कदम बढ़ाने होंगे।

गणेशजी के अार्शीवाद सहित,
तन्मय के.ठाकर
गणेशास्पीक्स डाॅटकाॅम टीम

Follow Us