नौ देवियों के शक्तिशाली मंत्र, जो जीवन में लाएंगे आशा की किरण 

नौ देवियों के शक्तिशाली मंत्र

हमारे वैदिक आैर पौराणिक ग्रंथों में विभिन्न मंत्र विभिन्न देवी-देवताआें के लिए निर्धारित किए गए है। यहां हम अापके सामने वो मंत्र पेश कर रहे है जो देवी के नौ रूपों के लिए है।

1) मां शैलपुत्री 

– नवरात्रि के पहले दिन आधिपत्य रखने वाली

स्व-जागरण आैर कायाकल्प के लिए इस मंत्र का उच्चारण करें:

वंदे वाद्द्रिछतलाभाय चंद्रार्धकृतशेखराम |

वृषारूढां शूलधरां शैलपुत्री यशस्विनीम्‌ ||

2) मां ब्रह्मचारिणी 

– नवरात्रि के दूसरे दिन आधिपत्य रखने वाली

ज्ञान आैर भावनात्मक शक्ति के लिए इस मंत्र का जाप करें:

या देवी सर्वभूतेषु माँ ब्रह्मचारिणी रूपेण संस्थिता।

नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

दधाना कर पद्माभ्याम अक्षमाला कमण्डलू।

देवी प्रसीदतु मई ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा।।

3)  मां चंद्रघंटा 

– नवरात्रि के तीसरे दिन आधिपत्य रखने वाली

प्रसिद्घि आैर सम्मान के लिए इस मंत्र का जाप करें:

पिण्डज प्रवरारुढ़ा चण्डकोपास्त्र कैर्युता |

प्रसादं तनुते मह्यं चंद्र घंष्टेति विश्रुता || 

4) मां कुष्मांडा 

– नवरात्रि के चाैथे दिन आधिपत्य रखने वाली

मुश्किलों से बाहर आने, अच्छे स्वास्थ्य आैर समृद्घि के लिए इस मंत्र का जाप करें:

सुरासम्पूर्णकलशं रुधिराप्लुतमेव च ।

दधाना हस्तपद्माभ्यां कूष्माण्डा शुभदास्तु मे ॥

5) मां स्कंदमाता 

–  नवरात्रि के पांचवें दिन आधिपत्य रखने वाली

इच्छाअों की पूर्ति के लिए इस मंत्र का जाप करें:

सिंघासनगता नित्यम पद्माश्रितकरद्वया |

शुभदास्तु सदा देवी स्कन्द माता यशश्विनी ||

6)  मां कात्यायनी 

– नवरात्रि के छठे दिन आधिपत्य रखने वाली

वैवाहिक जीवन में आनंद के लिए इस मंत्र का जाप करें:

कात्यायनि महामाये महायोगिन्यधीश्वरि । 

नन्द गोपसुतं देविपतिं मे कुरु ते नमः ॥

7) मां कालरात्रि

– नवरात्रि के सातवें दिन आधिपत्य रखने वाली

साहस आैर दुश्मनों पर विजय प्राप्त करने के लिए इस मंत्र का जाप करें :

वाम पादोल्ल सल्लोहलता कण्टक भूषणा |

वर्धन मूर्ध ध्वजा कृष्णा कालरात्रि भर्यङ्करी || 

8)  मां महागौरी

– नवरात्रि के आठवें दिन आधिपत्य रखने वाली

पूर्णरूप से संतोष आैर खुशी प्राप्त करने के लिए इस मंत्र का जाप करें:

श्वेते वृषे समारूढा श्वेताम्बरधरा शुचिः |

महागौरी शुभं दद्यान्त्र महादेव प्रमोददा ||

9) मां सिद्घिदात्री

– नवरात्रि के नाैवें दिन आधिपत्य रखने वाली

सफलता आैर विजय प्राप्त करने के लिए इस मंत्र का जाप करें:

सिद्धगधर्व यक्षाद्यैरसुरैरमरैरपि।

सेव्यमाना सदा भूयात सिद्धिदा सिद्धिदायिनी।।

गणेशजी के आर्शीवाद सहित 

गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम टीम

27 Sep 2019

View All blogs

Follow Us