होली के टोटके: होली के अचूक उपाय, जानिए किस रंग से खेलना है आपको होली

होली के टोटके

होलिका की पूजा करने से लाभ मिलता है और व्यक्ति को शुभ फल की प्राप्ति होती है। इसी तरह होली के दिन के कुछ टोटके हैं, जिन्हें अपनाकर नकारात्कमता को दूर करने के साथ ही बीमारियों से बचाव और अन्य शुभ फल प्राप्त कर सकते हैं। होली के दिन अपनी राशि के अनुसार रंगों का प्रयोग कर भी शुभ फल को अपने पक्ष में कर सकते हैं। यहां हम उन बातों को जानेंगे, जिसे होली के दिन करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है।

होली के आसान टोटके

– होलिका दहन के दिन घर से उतारा गया टोटका और शरीर के उबटन को होलिका में जलाने से नकारात्मक शक्तियां दूर होती हैं।

– घर, दुकान और कार्यस्थल की नजर उतारकर उसे होलिका में दहन करने से लाभ होता है।

– भय और कर्ज से निजात पाने के लिए नरसिंह स्तोत्र का पाठ करना लाभदायक होता है।

–  होलिका दहन के बाद जलती अग्नि में नारियल दहन करने से नौकरी की बाधाएं दूर होती हैं।

– लगातार बीमारी से परेशान हैं, तो होलिका दहन के बाद बची राख मरीज के सोने वाले स्थान पर छिड़कने से लाभ मिलता है।

– सफलता प्राप्ति के लिए होलिका दहन स्थल पर नारियल, पान तथा सुपारी भेंट करें।

– गृह क्लेश से निजात पाने और सुख-शांति के लिए होलिका की अग्नि में जौ-आटा चढ़ाएं।

– होलिका दहन के दूसरे दिन राख लेकर उसे लाल रुमाल में बांधकर पैसों के स्थान पर रखने से बेकार खर्च रुक जाते हैं।

– दांपत्य जीवन में शांति के लिए होली की रात उत्तर दिशा में एक पाट पर सफेद कपड़ा बिछाकर उस पर मूंग, चने की दाल, चावल, गेहूं, मसूर, काले उड़द एवं तिल के ढेर पर नवग्रह यंत्र स्थापित करें। इसके बाद केसर का तिलक कर घी का दीपक जलाकर पूजन करें।

– जल्द विवाह के लिए होली के दिन सुबह एक पान के पत्ते पर साबूत सुपारी और हल्दी की गांठ लेकर शिवलिंग पर चढ़ाएं और बिना पलटे घर आ जाएं। अगले दिन भी यही प्रयोग करें।

– बुरी नजर से बचाव के लिए गाय के गोबर में जौ, अरसी और कुश मिलाकर छोटा उपला बना कर इसे घर के मुख्य दरवाजे पर लटका दें।

– होलिका दहन की रात तगर, काकजंघा, केसर को “क्लीं कामदेवाय फट् स्वाहा” मंत्र से अभिमंत्रित कर होली के दिन इसे अबीर या गुलाल में मिलाकर किसी के सिर पर डालने से वह वश में हो जाता है।

– इसी तरह होली पूजा के समय वैजयंती माला को ॐ क्रीं कामेश्वरी वश्य प्रियाय क्रीं ॐ का जाप कर सिद्ध कर ले। इसके बाद 11 माला का जाप करने के बाद वह माला पहनकर किसी पुरूष के सामने जाने से वह धीरे-धीरे वश में हो जाएगा।

– होली की रात “ॐ नमो धनदाय स्वाहा” मंत्र के जाप से धन में वृद्धि होती है।

– 21 गोमती चक्र लेकर होलिका दहन की रात शिवलिंग पर चढ़ाने से व्यापार में लाभ होता है।

– किसी टोटके से राहत पाने के लिए होली की रात होलिका दहन स्थल पर एक गड्ढा खोदकर उसमें 11 अभिमंत्रित कौड़ियां दबा दें। अगले दिन कौड़ियों को निकालकर अपने घर की मिट्टी के साथ नीले कपड़े में बांधकर बहते जल में प्रवाहित कर दें।

– उधार की रकम वापस पाने के लिए होलिका दहन स्थल पर अनार की लकड़ी से उसका नाम लिखकर होलिका माता से अपने धन वापसी का निवेदन करते हुए उसके नाम पर हरा गुलाल छिड़कने से लाभ होगा।

– होली की रात 12 बजे किसी पीपल वृक्ष के नीचे घी का दीपक जलाने और सात परिक्रमा करने से सारी बाधाएं दूर होती हैं।

ग्रह दोष दूर करने के लिए राशि के रंगों से खेलें होली

होली के दिन अगर अपनी राशि के अनुसार रंगों से होली खेलें तो, इससे ग्रह दोष भी शांत होते हैं। आइए जानते हैं किस राशि के लोगों के लिए कौन सा रंग शुभ होता है। इस होली में आप इसे आजमा सकते हैं।

मेष राशि – मेष राशि वालों के लिए लाल और गुलाबी रंग सर्वोत्तम है।

वृषभ राशि – वृषभ राशि के लोग सफेद और क्रीम रंग से होली खेलें।

मिथुन राशि –  मिथुन राशि के लोगों के लिए हरा और पीले रंग शुभ होता है।

कर्क राशि – कर्क राशि के लोगों के लिए सफेद और क्रीम रंग का उपयोग बेहतर होगा।

सिंह राशि – सिंह राशि वालों के लिए पीला और केसरिया रंग काफी अच्छा होता है।

कन्या राशि – कन्या राशि के लोगों के लिए हरा रंग श्रेष्ठ माना जाता है।

तुला राशि –  तुला राशि के लोगों के लिए सफेद और पीला रंग शुभ होता है।

वृश्चिक राशि – वृश्चिक राशि के लोगों के लिए लाल और गुलाबी रंग श्रेष्ठ है।

धनु राशि – धनु राशि के लोगों के लिए लाल व पीला रंग सर्वोत्तम है।

मकर राशि – के लोगों के लिए नीला और हरा रंग शुभ माना गया है।

कुंभ राशि – कुंभ राशि के लोगों के लिए नीला रंग शुभ होता है।

मीन – मीन राशि वालों को हर संभव पीले और लाल रंग से ही होली खेलना चाहिए।

होली के दिन हनुमानजी की पूजा से लाभ

– इस दिन स्वच्छ होकर स्वच्छ वस्त्र खासकर लाल रंग की धोती धारण कर हनुमानजी को चोला और गुलाब फूल की माला चढ़ाएं।

– गुलाब की माला की एक पंखुड़ी लेकर उसको लाल कपड़े में बांध कर घर की तिजोरी में रखने से धन की कमी नहीं होती है।

– पूजन के लिए चमेली के तेल का उपयोग शुभ होता है।

– पूजन के वक्त श्रीराम और हनुमान का स्मरण करें।

– तुलसी माला से निम्न मंत्र का पांच माला जाप करने से लाभ होता है।

राम रामेति रामेति रमे रामे मनोरमे।

सहस्त्र नाम तत्तुल्यं राम नामं वारानने।।

श्रीगणेशजी के आशीर्वाद के साथ

श्रीगणेशास्पीक्स डॉट कॉम/ हिंदी

ये भी पढ़ें-

होलिका दहन 2021: होलिका दहन की कहानी, शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

13 Mar 2021

View All blogs

Follow Us