https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

दशहरे पर इस एक उपाय से होगा पैसा ही पैसा

दशहरा

विजयादशमी यानी दशहरा हमारे देश के सबसे बड़े त्योहारों में से एक है। इस दिन भगवान राम ने रावण पर विजय पायी थी। माना जाता है दशहरे पर माता दुर्गा ने भी महिषासुर राक्षस का वध किया था। इस दिन किए गए किसी भी तरह के उपाय अक्षय फल देते हैं। हम आपको बता रहे हैं दशहरे पर किए जाने वाले कुछ खास उपाय, जो आपकी जिंदगी की परेशानी को तुरंत दूर कर देंगे।

(यदि आप किसी गहरी मुसीबत में है या आने वाले दिनों में हर तरह की परेशानी से मुक्ति पाना चाहते है, तो हमारे ज्योतिषीय सलाहकारों से सीधे बात करें।)

दशहरे के उपाय
– दशहरे के दिन शमी के पेड़ के नीचे दीपक जलाने से सभी तरह के कोर्ट केस में विजय मिलती है। शमी को अग्नि देव का रूप भी माना जाता है, इसलिए हवन में भी शमी की लकड़ियों का उपयोग किया जाता है। शमी के पेड़ के नीचे दीपक जलाने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है।
– दशहरे के दिन से शुरू करके 51 दिन तक रोजाना कुत्तों और गायों को मीठा लड्डू या बेसन की मिठाई खिलाने से सालभर धन संबंधी किसी तरह की कोई कमी नहीं रहती है।
– दशहरे पर नीलकंठ पक्षी के दर्शन करने से सभी तरह की मनोकामना पूरी होती है। नीलकंठ को देखकर मन ही मन भगवान शिव से अच्छे दिनों के लिए मनोकामना मांगे। पूरी होगी।

(यदि बहुत दिनों से आप किसी खास परेशानी से जुझ रहे हैं, अब जीवन बदलने का समय है, हमारे ज्योतिषी से संपर्क करें।)

– कहते हैं दशहरे के दिन शाम में माता लक्ष्मी का ध्यान करते हुए किसी भी मंदिर में झाड़ु का दान करने से धन संबंधी दिक्कतें दूर हो जाती है।
– दशहरे पर सुंदरकांड की कथा कराने से सभी रोग और मानसिक परेशानियां दूर हो जाती है।
– दशहरे के दिन हाथों में फिटकरी लें। किसी भी सुनसान जगह या छत पर जाकर इसे अपने ऊपर से इष्ट का स्मरण करके सात बार उबारें और फिर पीठ के पीछे की ओर फेंक दें। बिना मुड़े घर आएं और भगवान के सामने दीपक लगाएं।
इसलिए दशहरे पर करें ये उपाय, सारे काम होंगे सिद्ध

(हो सकता है आपको राहु या शनि की महादशा चल रही हो, जो आपके कामों को अटका रही हो, क्यों ना इसका उपाय हमारे ज्योतिषियों से पूछें।)

दशहरे का महत्व: दशहरा क्यों मनाया जाता है
दरअसल ज्यादातर लोग भगवान राम की रावण पर विजय के उपलक्ष्य में ही दशहरा मनाते हैं, लेकिन इसके अलावा कहा जाता है माता दुर्गा ने इसी दिन महिषासुर का वध किया था। उनके एक नाम विजया से जुड़ा है विजयादशमी पर्व, जिसे हम दशहरा कहते हैं। इस दिन शस्त्र पूजन भी किया जाता है। इस साल 2021 में 15 अक्टूबर को दशहरा पर्व मनाया जाएगा।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

Follow Us