https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

Holi 2021 | राशि के अनुसार इन रंगों से खेलेंगे होली तो, दूर होंगे ग्रहों के दुष्प्रभाव

राशि के अनुसार इन रंगों से खेलेंगे होली तो, दूर होंगे ग्रहों के दुष्प्रभाव

रंग किसे पसंद नहीं आते हैं। हम अक्सर दुनिया को बहुत रंगीन बताते हैं और सच कहें तो यह दुनिया रंगों के कारण की खूबसूरत भी है। इसकी इसी खूबसूरती को और बढ़ाता है, रंगों का त्योहार होली। इस साल 2021 में रंगों का त्योहार होली (धुलैंडी) 29 मार्च को मनाया जाएगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार होली पर यदि आप अपनी राशि के स्वामी को खुश करते हैं, तो आने वाला जीवन सकारात्मकता से भर सकता है। विद्वानों ने इसका उपाय होली के रंगों में ढूंढ निकाला है। होली पर राशि के अनुसार रंगों का प्रयोग करना आपके लिए अच्छा हो सकता है। ज्योतिष शास्त्र के इन नियमों का प्रयोग करके यदि आप होली का त्योहार मनाते हैं, तो सुख-समृद्धि से आपका जीवन महक सकता है। हम आपको यहां बताने जा रहे हैं होली पर राशि के अनुसार किन रंगों का प्रयोग करें

मेष

यदि आप मेष राशि के हैं, तो आपको गुलाबी, लाल, पीला या सफेद रंग से होली खेलना शुभ रहेगा। मेष के स्वामी मंगल है, ऐसे में राशि स्वामी मंगल और उसके मित्र गुरु के रंगों का प्रयोग आपके जीवन को सुख और शांति से भर सकता है। धुलैंडी या रंगों वाली होली के दिन 29 मार्च को चंद्रमा कन्या राशि में रहेंगे। ऐसे में आपको सबसे पहले भगवान गणेश को रंगों का टिका लगाकर होली खेलना चाहिए।

वृषभ

होली पर वृषभ राशि के लिए नीला, हरा, चमकीला, सफेद रंग सबसे ज्यादा भाग्यशाली रंग रहेगा। आपको गहरे लाल रंग से होली खेलने से बचना चाहिए। वृषभ राशि का स्वामी शुक्र है और शुक्र का असर सभी चमकीले रंगों पर रहता है। ध्यान रखें वृषभ राशि के लोग फूलों से बने रंगों का प्रयोग करें। आपको सूर्य को अर्घ्य देकर होली खेलने की शुरुआत करनी चाहिए। इससे आपके जीवन में भाग्योदय होने में मदद मिलेगी।

मिथुन

मिथुन राशि के लोगों का प्रिय रंग हरा हो सकता है। मिथुन राशि पर बुध का असर रहता है। मिथुन राशि के लोग हल्का नीला या हरे रंग के और भी शेड्स का उपयोग होली खेलने में कर सकते हैं। आपको भी प्राकृतिक रंगों का प्रयोग ही होली खेलने में करना चाहिए। होली खेलने की शुरुआत आपको भगवान शिव के मंदिर में जाकर करना चाहिए। आपको वहां भगवान शिव और उनके परिवार के अन्य सदस्यों को रंग लगाकर भाग्योदय की प्रार्थना करनी चाहिए।

कर्क

कर्क राशि पर चंद्रमा का असर रहता है। चंद्रमा के असर के कारण ये लोग शांत बने रहते हैं और भावनात्मक रूप से भी कमजोर हो सकते हैं। कर्क राशि के लोग सफेद, गुलाबी, लाल और हल्के रंग से होली खेल सकते हैं। होली खेलने से पहले गुलाल, अबीर, हल्दी मिलाकर भगवान विष्णु को लगाना चाहिए। इसके बाद आपको परिवार के सदस्यों को रंग लगाना चाहिए। ये आपको परिवार के साथ जोड़े रखने में हमेशा मदद करेगा।

सिंह

सिंह राशि के लोग हमेशा तेजस्वी होते हैं। इन्हें केसरिया, लाल, गुलाबी, हरा, हल्के पीले रंग से होली खेलना चाहिए। सिंह राशि पर सूर्य का असर होता है। होली खेलने से पहले आपको भगवान सूर्य को कुमकुम मिलाकर अर्घ्य देना चाहिए। वहीं सबसे पहले आपको अपने पिता को रंग लगाना चाहिए। इससे ग्रहों का दुष्प्रभाव निश्चिततौर पर दूर होगा।

कन्या

कन्या राशि के लोग बुध प्रधान होते हैं। कन्या राशि के लिए प्रकृति से जुड़े रंग जैसे हरा, हल्का हरा, आसमानी, समुद्री नीला रंग होली खेलने के लिए सबसे अधिक सौभाग्यशाली होगा। कन्या राशि के लोगों को होली खेलने की शुरुआत भगवान गणेश को रंग लगाकर करना चाहिए। वहीं सबसे पहले आप अपने गुरु या मेंटर को रंग लगाकर आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं।

तुला

तुला राशि के लोगों को सभी तरह के रंगों से प्यार होता है। उन पर शुक्र का असर होता है। तुला राशि के लोगों के लिए गुलाबी, सफेद, नीला या किसी भी तरह का चमकीला रंग होली खेलने के लिए अत्यंत शुभ होता है। तुला राशि के लोगों को होली खेलने की शुरुआत अपने जीवनसाथी को रंग लगाकर करनी चाहिए। इससे दोनों में सामंजस्य बना रहता है। यदि आप अविवाहित हैं, तो आपको छोटी कन्या को देवी स्वरूप मानकर उसके पैरों में रंग लगाना चाहिए। इससे आपको सौभाग्य मिलता है।

वृश्चिक

वृश्चिक राशि जल तत्व की राशि जरूर है, लेकिन वृश्चिक राशि के लोगों को अच्छा सौभाग्य प्राप्त करने के लिए पानी से होली खेलने से बचना चाहिए। वृश्चिक राशि के लोगों के लिए लाल, गहरा लाल, गुलाबी, सफेद जैसे रंग होली खेलने के लिए अत्यंत शुभ रहते हैं। वृश्चिक राशि के लोगों को होली खेलने की शुरुआत हनुमानजी को सिंदुरी या केसरिया रंग लगाकर करनी चाहिए।

धनु

धनु राशि के लोगों पर गुरु का असर होता है। धनु राशि के लोगों को पीले, हल्के पीले, हल्के लाल, सिंदुरी, केसरिया जैसे रंगों से होली खेलना शुभ रहता है। धनु राशि के लोगों को सबसे पहले अपने गुरु को पीला रंग लगाकर होली खेलने की शुरुआत करनी चाहिए। यदि आपके आपके गुरु आपके पास नहीं है, तो आप भगवान शिव को गुरु स्वरूप मानकर उन्हें रंग समर्पित करके होली खेलने की शुरुआत कर सकते हैं।

मकर

मकर राशि के लोगों पर शनि का असर रहता है। शनि प्रधान लोगों को काले रंग से होली खेलने से बचना चाहिए। इसलिए मकर राशि के लोगों को नीला, सफेद, हल्का नीला, आसमानी और हरे रंग का उपयोग होली खेलने के लिए करना चाहिए। मकर राशि के लोगों को होली खेलने से पहले भगवान कृष्ण के मंदिर में रंग समर्पित करने के बाद करनी चाहिए। इससे शनि ग्रह के दुष्प्रभाव दूर होते हैं।

कुंभ

कुंभ राशि के राशि स्वामी भी शनि है। मकर राशि की तरह इन्हें भी काले रंग से होली खेलने से बचना चाहिए। होली खेलने के लिए कुंभ राशि के लोगों को नीला, सफेद, बैंगनी, जामुनी जैसे रंगों का प्रयोग करना चाहिए। आप भगवान शनि के मंदिर में नीला रंग समर्पित करके होली खेलने की शुरुआत कर सकते हैं। यदि ऐसा संभव नहीं हो, तो भगवान शिव को नीला रंग समर्पित करके भी होली खेली जा सकती है।

मीन

मीन राशि का स्वामी गुरु है। मीन राशि के लोगों को गुरु ग्रह और उसके मित्रों के पसंदीदा रंगों से होली खेलनी चाहिए। मीन राशि के लिए होली में पीला, गहरा पीला, गुलाबी, हल्का लाल और सफेद रंग का उपयोग उनके जीवन में सकारात्मकता बढ़ाता है। मीन राशि के लोगों को भगवान विष्णु को हल्दी समर्पित करके होली खेलने की शुरुआत करनी चाहिए।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित
भावेश एन पट्टनी
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

ये भी पढ़ें-

होलिका दहन 2021: होलिका दहन की कहानी, शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Follow Us