जानिए! तीसरी बार वैवाहिक बंधन में बझेंगे या नहीं करण ग्रोवर ?

जानिए! तीसरी बार वैवाहिक बंधन में बझेंगे या नहीं करण ग्रोवर ?

भारतीय टेलीविजन उद्योग में सबसे महंगे सितारों में शुमार करण सिंह ग्रोवर अब तीसरी शादी करने की सोच रहे हैं। ख़बर है कि ‘हेट स्टोरी 3’ अभिनेता करण ग्रोवर अपनी फिल्म अलोन की को-स्टार बिपाशा बसु के साथ अगले महीने सगार्इ करने जा रहे हैं। इससे पहले करण ग्रोवर श्रद्धा निगम एवं जेनिफर विंगेट से विवाह करके तलाक ले चुके हैं। ज्ञात रहे कि करण ग्रोवर ने ‘अलोन’ से बड़े पर्दे पर जबरदस्त डेब्यु किया। उनकी दूसरी फिल्म ‘हेट स्टोरी 3’ ने भी बाॅक्स आॅफिस पर अच्छा बिजनेस किया। यदि वैवाहिक जीवन को अलग कर दिया जाए तो करण ग्रोवर के साथ चमक रहे हैं। उनका करियर दिन प्रति दिन आगे बढ़ रहा है। गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम के ज्योतिषविद ने उनकी सूर्य कुंडली का निर्माण करते हुए उनके भविष्य को जानने का प्रयास करते हुए पाया कि – :

करण सिंह ग्रोवर – हिन्दी अभिनेता

जन्म तिथि : 23 फरवरी 1982

जन्म समय : अज्ञात

जन्म स्थल : नर्इ दिल्ली, भारत

सूर्य कुंडली

kundali

करण ग्रोवर का जन्म मकर में शुक्र एवं बुध की युति के दौरान हुआ है। यह युति कला एवं मनोरंजन के क्षेत्र में धीमी गति से प्रगति का संकेत देती है। मकर में शुक्र का होना संकेत देता है कि उनको कला क्षेत्र में सफलता प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। हालांकि, इस क्षेत्र में उनको जबरदस्त सफलता मिलने की संभावना है। शुक्र एवं बुध की युति उम्दा संवाद अदायगी एवं हावभाव प्रदान करेगी। किंतु,  अन्यो अन्य नीच शुक्र के कारण उनको अधिक मेहनत करने की जरूरत रहेगी।

शुक्र बुध के साथ उपस्थित है, गणेशजी महसूस कर रहे हैं कि करण ग्रोवर बड़े पर्दे की बजाय छोटे पर्दे पर अधिक लोकप्रियता बटोरेंगे। उनकी फिल्मी यात्रा इतनी यादगार नहीं रहेगी।

कुंभ राशि में सूर्य का होना उन्हें मानवीय और स्वतंत्र बनाता है। करण ग्रोवर का दृष्टिकोण अपरंपरागत हो सकता है। करण अपने कार्यों को लेकर काफी र्इमानदार होंगे, जो उनको पेशेवर जीवन में सफलता प्रदान करेगा। अपने जोश आैर जुनून को प्रगति हासिल करने की दिशा में प्रवाहित करने में सक्षम होंगे। उनकी जन्म कुंडली में प्रतिगामी है, इसलिए करण एक समय पर बहुत सारे प्रोजेक्ट हाथ में नहीं लेंगे।

प्रतिागमी मंगल के प्रभाव में करण ग्रोवर नए आॅफरों को लेकर अधिक लोभी नहीं होंगे। करण धीमी गति का आनंद लेते हुए आगे बढ़ेंगे एवं कला क्षेत्र में अपनी धीरे धीरे पैठ बनाएंगे। हालांकि, उनको बड़े बैनर के प्रोजेक्ट पाने में थोड़ी सी मुश्किल हो सकती है।

शुक्र एवं बुध की युति जीवन में एक से अधिक रूमानी संबंध बनने की सूचक है। शुक्र शनि की स्वामित्व वाली राशि में है एवं शनि शुक्र की नीचत्व राशि में है। यह तथ्य प्रेम जीवन में बहुत सारी समस्याएं होने का संकेत दे रहा है। जब उनके जीवन में कोर्इ महिला आए तो उनको अपनी सार्वजनिक छवि को लेकर विशेष रूप से सतर्क रहना होगा। हालांकि, करण ग्रोवर एक भावुक एवं र्इमानदार प्रेमी भी हो सकते हैं। अपने संबंधों को लेकर अधिक गंभीर एवं संवेदनशील होंगे।

करण ग्रोवर का जन्म विवरण काफी पेचीदा है। उनके विवाह के संबंध में कुछ कहना काफी मुश्किल है। बिपाशा बसु के जन्म समय शुक्र वृश्चिक में है। करण ग्रोवर के जन्म समय शुक्र में है। सूर्य कुंडली के अनुसार, करण का जन्म का केतु धनु में है जबकि इस राशि में बिपाशा के सूर्य, मंगल एवं बुध हैं। दोनों की जन्म कुंडली में यह कमजोर पक्ष है। दोनों की कुंडली में शुक्र की स्थिति को देखते हुए गणेशजी की दृष्टि से करण एवं बिपाशा अच्छे दोस्त हो सकते हैं। हालांकि, दोनों के वैवाहिक जीवन में बंधने की चांस बहुत कम हैं।

करण ग्रोवर को अफसोस हो सकता है कि वे अपने दो वैवाहिक जीवनों को अच्छे से आगे नहीं बढ़ा पाया। किंतु, करण ग्रोवर इस मामले में स्वयं की गलती स्वीकार नहीं करेंगे। गणेशजी देख रहे हैं कि अक्टूबर 2017 के बाद उनके निजी संबंधों में सुखद स्थिति आएगी। उनके जन्म का गुरू तुला में है एवं सार्वभौम राशिचक्र के अनुसार सातवीं राशि संबंधों की है। साथ ही, गुरू उनके जन्म के गुरू पर से पारगमन करेगा, उपरोक्त दी समय अवधि से अगले वर्ष तक।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित

भावेश एन. पट्टनी

गणेशास्पीक्स.काॅम टीम

18 Feb 2016

View All blogs

Follow Us