https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

विजय माल्या के लिए वर्ष 2013

18 दिसंबर 1955 को जन्मे विजय माल्या अलग और अनोखे व्यक्तित्व के उद्योगपति हैं। माननीय संसद होने के साथ – साथ वे यूबी ग्रूप के चेयरमैन भी हैं। यूबी ग्रूप विविध प्रकार के सेक्टर जैसे उड्डयन, डिस्टिलेशन, शराब, फार्मास्युटिकल, रियर एस्टेट, इंजीनियरिंग, उर्वरक, बायो टेक्नोलीजी और इन्फोर्मेशन टेक्नोलोजी से जुड़ा है।

भारतीय बीयर बाजार के 50 % पर किंगफिशर बीयर का अधिपत्य है। यूनाइटेड स्पिरिट लिमिटेड को यूबी ग्रूप की सर्वोत्कृष्ट कंपनी कह सकते हैं।
kundali


विजय माल्या की सूर्य कुंडली
जन्मतिथि 18-12-1955,
कलकत्ता

किंगफिशर एयर्लाइन्स के कारण वे विवाद में हैं लेकिन वे 2004में टीपू सुल्तान की तलवार और 2009 में गांधीजी की 5 चीजें- चश्मा, पॉकेट घड़ी, चमड़े की चप्पल, जो गांधी जी ने खुद बनाया था और एक प्लेट और कटोरी जिसमें उन्होंने अपने अंतिम दिनों में भोजन किया था, ऐसी ऐतिहासिक कीमती चीजों की खरीददारी करके उन्होंने भारत की सांस्कृतिक विरासत को बचाए रखा। इससे विजय माल्या की कुछ अलग करने की आदत पता चलती है।

सबसे पहले यह बात करें कि विजय माल्या पिछले कुछ दिनों से क्यों विवाद में हैं? इसका कारण यह है कि 13 अप्रैल 2008 से 17 नवंबर 2009 के दौरान मकर का राहु विजय माल्या के जन्म के चन्द्र पर और उसके बाद 18 नवंबर 2009 से 6 जून 2011 के दौरान धनु का राहु विजय माल्या के जन्म के सूर्य, बुध, शुक्र पर, उसके बाद 07 जून 2011 से 23 दिसंबर 2012 के दौरान वृश्चिक का राहु विजय माल्या के जन्म के शनि, राहु पर से पारगमन करेगा। राहु का इतना लम्बा गोचर भ्रमण बड़े ग्रहों पर से होने के कारण उनका समय ठीक नहीं बीता। लेकिन आइए देखते हैं कि इसके बाद क्या है।

आनेवाले समय में ग्रह और नक्षत्र क्या कहना चाहते हैं इसकी चर्चा करें तो 31.05.2013 तक गुरु महाराज वृषभ में रहेंगे जो उनके जन्म के केतु पर और शनि राहु के सामने रहेंगे। इस कारण उन्हें अधिक फायदा नहीं होगा। उसके बाद 01 जून 2013 से वर्ष के अंत तक गुरु, मिथुन में होगा जो उनके जन्म के सूर्य- बुध -शुक्र के सामने से पार होंगा। यह उन्हें वापस योग्य स्थान पर लाकर खड़ा कर देगा।

24 दिसंबर 2012 से 2013 के अंत तक शनि – राहु की युति, तुला राशि में होगी जो उनके जन्म के मंगल पर होने के कारण उनके स्वास्थ्य पर असर डालेगी। गणेशजी को दुर्घटना का योग दिख रहा है। कुलमिलाकर चुनौतियों के साथ प्रगति का योग कह सकते हैं।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

Follow Us