Google Horoscope: दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल की कुंडली क्या कहती है?

Google Horoscope

आज जब हम वर्ल्ड वाइड वेब और अन्य ऑनलाइन सर्च इंजन के बारे में बात करते हैं, तो Google के अलावा कोई भी नाम हमारे दिमाग में नहीं आता है। वर्ष 1996 में स्टैनफोर्ड के पीएचडी छात्र लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन ने Google (Google Horoscope) की स्थापना की थी। लैरी पेज का जन्म 26 मार्च 1973 को मिशिगन में हुआ था। उनके पिता, डॉ. कार्ल विक्टर पेज, मिशिगन स्टेट यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर साइंस के प्रोफेसर थे। लैरी को बचपन से ही कम्प्यूटर में अत्यधिक रूचि थी, और उनके पिता ने भी उन्हें प्रोत्साहित करने की पूरी कोशिश की। लैरी पेज स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में पीएचडी करने के दौरान ही सर्गेई ब्रिन से मिले। ब्रिन का जन्म 1973 के अगस्त में रुस की राजधानी मास्को में हुआ था। शुरू में Google बैकरब नाम देकर एक सबडोमेन के रूप में स्टार्ट किया गया। इसे http://google.stanford.com पर एक्सेस किया जा सकता था परन्तु 15 सितंबर, 1997 को डोमेन www.google.com रजिस्टर्ड करवा लिया गया। 7 सितंबर, 1998 को उन्होंने आधिकारिक तौर पर अपनी कंपनी को Google Inc. के रूप में लॉन्च कर दिया।

गूगल हेल्प पर मौजूद एक पोस्ट के अनुसार Google का आधिकारिक रूप से जन्म 7 सितंबर 1998 कैलिफ़ोर्निया के मेनलो पार्क में हुआ था। इसी आधार पर उसकी जन्मकुंडली बना कर गणेश ने जांच की।

गूगल की जन्म कुंडली (Google Horoscope)

वैदिक ज्योतिष प्रणाली के अनुसार, Google की स्थापना कर्क लग्न में की गई थी। Google की कुंडली में, वित्त के दूसरे घर का स्वामी यानी सूर्य कर्क राशि में स्थित है, लग्न का स्वामी यानि चंद्रमा मकर राशि में है, साझेदारी के सातवें घर का स्वामी है और अनुसंधान के आठवें घर का स्वामी यानी शनि मेष राशि में स्थित है। कॅरियर के दसवें घर का स्वामी यानि मंगल मिथुन राशि में स्थित है, तीसरे भाव का स्वामी यानी बुध सिंह राशि में स्थित है। इसलिए, ये एक एक्सचेंज का चक्र बना रहे हैं, जो स्पष्ट रूप से बताता है कि Google का कार्य खोज, विश्लेषण, आदेश और छंटाई से संबंधित है। इस प्रकार बनने वाले चार्ट ने Google की परियोजनाओं और सेवा में अन्य मूल गतिविधियों के बारे में भी जानकारी दी है। गणेश को लगता है कि कॅरियर के दसवें घर के स्वामी यानी मंगल को विदेश के बारहवें घर में शुक्र के साथ बुध (प्रकाशन, विज्ञापन, बुद्धि, प्रकाशन, ज्ञान, बुद्धि अंतर्ज्ञान, स्मृति, तर्क और लेखन का प्रतीक) के साथ होना बताता है कि Google एक परियोजना आधारित कंपनी है जो आने वाले समय में बहुत सी नई पहल करेगी।

आपके जीवन में आने वाली समस्याओं को लेकर पहले से सतर्क रहें, अभी कुंडली का विश्लेषण करवाएं…

गणेश को लगता है कि बृहस्पति (धार्मिकता, ज्ञान, सलाहकार, आशावाद, स्थापित संहिताओं की निरंतरता, विश्वास और ज्ञान का कारक) नौवें घर (भाग्य, विदेशी मामलों, अनुसंधान और मन की पवित्रता) में अपनी ही राशि में बैठा है। केतु कुंडली के आठवें घर (छिपे हुए स्वभाव और गोपनीयता का घर) में स्थापित है जो सर्च इंजन से संबंधित व्यवसाय को इंगित करता है। Google हर त्योहार के साथ अपने होमपेज की इमेज भी बदलता है। गणेश को लगता है कि शुक्र (चीजों, प्रेम, परिष्कृत और पॉलिश चीजों से लगाव का कारक) का बारहवें घर में दसवें घर के स्वामी मंगल के साथ होना इसे यूजर फ्रेंडली, रूचिकर स्वभाव वाला और जानकारी के पीछे भाग-दौड़ करने वाला बनाता है।

गणेशजी को लगता है कि गूगल की कुंडली में चंद्रमा (मानसिक स्थिति, मूल, पोषण और सोच का कारक) 7वें घर में मकर राशि में नेपच्यून के साथ स्थित है (कड़ी मेहनत और आगे बढ़ने का प्रतीक), जो इंगित करता है कि यह हर छोटी से छोटी चीज पर भी ध्यान देता है और विस्तृत जानकारी और अच्छी गुणवत्ता वाले सर्च रिजल्ट देता है। गणेश के अनुसार कॅरियर के दसवें घर का स्वामी मंगल (साहस और ऊर्जा का कारक) अपने चौथे घर की दृष्टि से तीसरे घर को देख रहा है और जन्म के चंद्रमा के साथ युति बना रहा है। यह बताता है कि Google हमेशा नई चुनौतियों के लिए पूरी तरह से तैयार रहता है। हम देखते भी हैं कि गूगल हमेशा नए क्रिएटिव विचारों तथा आइडियाज के साथ आता है जैसे जीमेल, गूगल एडसेंस, गूगल डॉक्स और स्प्रैडशीट्स, ऐडवर्ड्स, गूगल लैब्स, गूगल एप्स प्रीमियर एडिशन, गूगल वीडियो, गूगल ग्रुप्स, गूगल मैप्स और गूगल अर्थ।

पारंपरिक  ज्योतिष प्रणाली के अनुसार, छठे घर (कार्यकर्ता, कर्मचारियों और कामकाजी वर्गों का घर) का स्वामी यानि बृहस्पति को 9वें घर में बैठा हुआ है और बृहस्पति शनि से प्रभावित भी है, जो दर्शाता है कि Google के पास दुनिया भर में ऑफिस हैं जिनमें लाखों कर्मचारी काम कर रहे हैं। छठे भाव पर मंगल की दृष्टि सातवें भाव में होने के कारण Google के कर्मचारी बहुत ऊर्जावान, स्वस्थ और रचनात्मक हैं। कॅरियर के दसवें घर में शनि होने के कारण कभी-कभी, कर्मचारी को भारी काम का बोझ महसूस हो सकता है और वह ओवरटाइम काम कर सकता है।

गणेश को लगता है कि लग्न का स्वामी यानी चंद्रमा अपने नक्षत्र में है और सातवें भाव से लग्न को देख रहा है, जिसके कारण गूगल को लोकप्रियता दी है। गणेश को लगता है कि यह इतना लोकप्रिय सर्च इंजन है, इसे संचालित करना बहुत आसान है और यह अपने ग्राहकों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहता है। ग्रहों की ताकत को देखते हुए गणेश को लगता है कि Google न केवल एक बेहतर खोज इंजन है, बल्कि यह अन्य सर्च इंजन्स जैसे याहू और एमएसएन तथा कई अन्य की तुलना में ज्यादा अच्छा और बेहतर सिद्ध होगा।

गणेश को लगता है कि कॅरियर के दसवें घर का स्वामी यानी मंगल अपने आठवें घर से सातवें घर की साझेदारी के भाव में है और सातवें घर का स्वामी यानी शनि मंगल के साथ युति बना रहा है, ग्रहों की इसी स्थिति के कारण वर्ष 2005 में Google ने नासा के अनुसंधान केंद्र के साथ पार्टनरशिप की। 4 अक्टूबर 2005 को, Google ने सन माइक्रोसिस्टम्स के साथ पार्टनरशिप की, इस अवधि के दौरान बृहस्पति तीसरे घर से गोचर कर रहा था और सातवें घर में स्थित था। इसके अलावा, गोचर का शनि, जो सप्तम भाव का भी स्वामी है, लग्न भाव से गुजर रहा था और सप्तम भाव पर अपनी दृष्टि प्रदान कर रहा था। 2006 में, Google और समाचार कॉर्प के फॉक्स इंटरएक्टिव मीडिया ने लोकप्रिय सोशल नेटवर्किंग साइट, माइस्पेस पर खोज और विज्ञापन प्रदान करने के लिए $900 मिलियन का समझौता किया, इस अवधि के दौरान गोचर का बृहस्पति कुंडली के चौथे घर से गुजर रहा था और सातवें भाव के स्वामी को देख रहा था। इसी समय दसवें घर का स्वामी शनि सातवीं दृष्टि से देख रहा था।

विज्ञापनदाताओं द्वारा कई बार गूगल की आलोचना की गई है, ऐसा इसलिए हुआ कि कुछ लोगों ने बिना गूगल के विज्ञापन पर क्लिक किए ही पैसा उठा लिया था। वर्ष 2006 में जारी एक रिपोर्ट का दावा है कि लगभग 14 से 20 प्रतिशत क्लिक वास्तव में धोखाधड़ी या अमान्य थे, इस अवधि के दौरान घोटाले के 8 वें घर का स्वामी यानी शनि लग्न भाव से गुजर रहा था।

गणेश को लगता है कि गूगल की कुण्डली में गुरु का गोचर छठे भाव से गुजर रहा है और कॅरियर के दसवें भाव से पांचवें भाव पर दृष्टि कर रहा है और साथ ही साथ साझेदारी के सातवें भाव का स्वामी यानी शनि, बारहवें भाव के साथ-साथ अपने सातवें भाव पर भी दृष्टि डाल रहा है। कॅरियर के दसवें घर का स्वामी यानी मंगल, लाभ के ग्यारहवें घर का स्वामी और संपत्ति के चौथे घर का स्वामी यानी शुक्र आपस में युति कर रहे हैं। इन्हें ध्यान में रखते हुए, गणेश को लगता है कि Google कंपनी अपने व्यवसाय का विस्तार कर सकती है और नए कार्यालय या वाणिज्यिक संपत्ति खरीद सकती है और Google 2008 और 2009 के दौरान एक विशाल कॉर्पोरेट कंपनी के साथ साझेदारी कर सकता है। गणेश देखते हैं कि आने वाले वर्षों में Google का भविष्य बहुत उज्ज्वल है।

Follow Us