https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

जानिए शनि के गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव !

जानिए शनि के गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव !

शनि का भ्रमण वृश्चिक राशि वालों के लिए
वृश्चिक राशि के जातकों का जीवन नवंबर 2014से बहुत अच्छे नहीं चल रहा था। निराशाजनक समय था। आपने परिस्थितियों से जितना लड़ने की कोशिश की, परिस्थितियां उतनी ही विकट होती गई। अच्छी बात यह है कि आप अपने सिद्घातों आैर दृष्टिकोण पर अडिग रहे। आप तनाव में थे आैर इससे आपका स्वास्थ्य प्रभावित हुआ।
आप कार्यस्थल आैर परिवार में स्थितियों को काबू करने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन चीजें आपके नियंत्रण से बाहर थी। आप ये जानने की कोशिश कर रहे थे कि आपकी गलती कहां थी। आपके विश्वास का पैमाना निरंतर बदलता जा रहा था। गणेशजी के अनुसार, इस चरण में आप विभिन्न मामलों को लेकर परेशान थे। उन मामलों में भी उलझे थे जो आपसे संबंधित नहीं थे।
दूसरे लोग आपको सहयोग नहीं दे रहे थे आैर जिम्मेदारियां आपके साथ साझा नहीं कर रहे थे। आपको एेसा लग रहा था कि कार्यस्थल आैर आपके परिवार में आप अकेले ही स्थिति से जूझ रहे हैं। इसी कारण आप थोड़ा अकेलापन महसूस कर रहे थे। गणेशजी के अनुसार, आप बहुत सारी चीजों को लेकर डर रहे थे जो कि आपका केवल वहम था। आपने चीजों, लोगों आैर परिस्थितियों को लेकर काफी गलतफहमियां पाल रखी थी।

साढ़े साती का तीसरा चरण
शनि के इस पारगमन के साथ ही आप साढ़े साती के तीसरे चरण में पहुंच जाएंगे। आने वाले तीन साल आपके आपके जीवन में कैसे गुजरेंगे इसका अंदाजा हमारी प्रीमियम साढ़े साती रिपोर्ट से लगाएं।

जनवरी 2017 के बाद आप पर प्रभाव
साल 2017में शनि के धनु राशि में पारगमन के साथ आपका ध्यान अन्य मसलों की आेर भी जाएगा। आप अब अधिक गंभीरता से वित्तीय लक्ष्य निर्धारित करने की कोशिश करेंगे। आपको ये एहसास होगा कि पैसा बहुत मायने रखता है। गणेशजी का पूर्वज्ञान कहता है कि अगले ढार्इ सालों की अवधि पैसों से जुड़े मामलों को लेकर आपको अधिक अनुशासित बनाएगी आैर आप पैसों को बर्बाद नहीं करने के बारे सीखेंगे।

आप किसी भी तरह के संसाधनों के लिए दूसरों पर निर्भर नहीं होंगे, लेकिन अधिक पैसा कमाने के लिए कड़ा परिश्रम करना होगा। आपकी सोच में आकस्मिक बदलाव होगा। आप दूसरों के बारे में आैर अधिक जानने में सक्षम होंगे आैर दूसरों के साथ सहानुभूति भी रखेंगे। पारिवारिक मूल्य आपके लिए अधिक मायने रखेंगे।
आपके लिए परिवार में अपनी छवि भी अधिक मायने रखेगी। आपको इन ढार्इ सालों के दौरान अपनी भाषा पर नियंत्रण रखने की कोशिश करनी चाहिए, क्यूंकि इस समय दुष्ट ग्रहों के बली होने से आप अनजाने में दूसरों को नीचा दिखा सकते हैं। याद रखें- सम्मान प्राप्त करने के लिए आपको दूसरों का भी सम्मान करना हाेगा।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित
भावेश एन पट्टनी
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम

Follow Us