मंगल ग्रह का कर्क राशि में प्रवेश, जानिए किस राशि पर क्या-क्या पड़ेगा प्रभाव !

मंगल ग्रह का कर्क राशि में प्रवेश

मंगल को सामान्य रुप से कुंजा या अंगारक के रुप में भी जाना जाता है। एक दंत कथा के अनुसार मंगल का जन्म धरती माता के गर्भ से होने से इसको भूमिपुत्र भी कहा जाता है। खगोलीय दृष्टि या विज्ञान के नजरिये से देखें तो मंगल की बाहरी सतह पर आयरन ऑक्साइड यानी लौह तत्व की विपुल मात्रा होने से इसकी सतह लाल रंग की दिखाई देती है। इसीलिए इसे लाल ग्रह कहते हैं। ज्योतिष शास्त्र में भी इस अग्नि तत्व वाले ग्रह को लाल ग्रह के नाम से संबोधित किया गया है। कुंडली में यह पहले और आठवें भाव यानी मेष और वृश्चिक राशि का स्वामी बनता है। पौराणिक कथाओं में मंगल को युद्ध का देवता कहा गया है। खगोल मंडल में यह सभी ग्रहों का सेनापति है। दिनांक 11 जुलाई 2017 से मंगल कर्क राशि में अर्थात जल तत्व वाली राशि में प्रवेश करेगा जहां यह 26 अगस्त 2017 तक भमण करता रहेगा। मंगल के कर्क राशि में प्रवेश से इसका असर सभी 12 राशियों पर शीघ्र ही दिखाई देगा जिसका उल्लेख यहां विस्तार से यहां किया गया है।

(कृपया ध्यान दें: ये भविष्यवाणियां चंद्र राशि के आधार पर की गई है। पर इसका कुछ प्रभाव लग्न राशि से भी देखा जा सकेंगा। यदि आप अपनी लग्न राशि जानना चाहते हैं तो यहां क्लिक करें)

मंगल के कर्क राशि में गोचर का 12 राशियों पर असर

मेष राशि

मेष राशि के जातकों के लिए मंगल राशि चक्र के चौथे स्थान से भ्रमण करेगा। ये आपके दांपत्य जीवन में मतभेद पैदा करने स्थिति का निर्माण कर सकता है। मंगल का असर नौकरी-धंधे के स्थान पर भी होगा एेसा गणेशजी का अनुमान है। कामकाज में वृद्धि होगी। हालांकि, की कृपा दृष्टि पड़ने से मेहनत के अनुपात में योग्य फल भी देगा। इस प्रकार से मेष राशि के जातकों के लिए मंगल का भ्रमण मध्यम फलदायी होने की संभावना गणेशजी देखते हैं। क्या आप किसी उलझन में दिन-रात रहते हैं। तो हमारी सेवा कोई भी सवाल पूछें रिपोर्ट के जरिए इस समस्या का ज्योतिषीय निदान पाएं।

वृषभ राशि

वृषभ राशि के जातकों के लिए मंगल कुंडली के तीसरे स्थान से गति करेगा। मंगल वृषभ राशि वालों के साहस व पराक्रम में वृद्धि करेगा। खेलकूद के साथ जुड़े जातकों के लिए यह समय सिद्धि प्राप्त करने का कहा जाएगा। शत्रुगण परास्त होंगे। वृषभ राशि के जातकों को ससुराल पक्ष की ओर से भी लाभ होने के योग हैं। समग्र रुप से देखें तो वृषभ राशि के जातकों के लिए मंगल का गोचर शुभ व फलदायी साबित होगा। साल 2017 में अपने संबंधों का आकलन करने के लिए हमारी सेवा 2017 निजी जिंदगी और संबंध रिपोर्ट आपके लिए काफी काम की सिद्ध हो सकती है।

मिथुन राशि

मिथुन राशि के जातकों की बात करें तो इस मंगल का भ्रमण कुंडली के दूसरे स्थान में से होने की संभावना गणेशजी देख रहे हैं। मिथुन जातकों को धन से संबंधित समस्या होने की आशंका रहेगी। पारिवारिक मुद्दे गर्माए रहेंगे। परिवार में किसी-न-किसी बात को लेकर मतभेद रहेगा। खासकर कि इस समय में दुर्घटना होने की आशंका को देखते हुए मिथुन राशि के जातकों को वाहन चलाते समय चौकन्ने रहने की संभावना गणेशजी व्यक्त करते हैं। कुल मिलाकर, मिथुन राशि के जातकों के लिए मंगल का पारगमन अशुभ है। यदि आप साल 2017 में कामयाबी ही कामयाबी प्राप्त करने की इच्छा रखते हैं तो हमारी सेवा 2017 विस्तृत वार्षिक रिपोर्टका आज ही उपयोग करें।

कर्क राशि

कर्क राशि में मंगल इसके चंद्र पर से भ्रमण करेगा। मंगल के इस आगमन से कुंडली में चंद्र और मंगल का लक्ष्मी योग पैदा होने की स्थिति बनेगी। इससे कर्क राशि के जातकों को एकाएक धन लाभ होगा। जो कर्क राशि के जातक व्यवसाय से जुड़े हैं और किसी औद्योगिक व्यवसाय से वास्ता रखते हैं उनको विशेष रुप से लाभ मिलने की संभावना गणेशजी देखते हैं। हालांकि, चंद्र के ऊपर से मंगल का भ्रमण जातक के स्वभाव में उग्रता पैदा कर सकता है। आपके तैशपूर्ण रवैये से आपके संबंधों में तकरार के हालात पैदा नहीं होने पाए इसका ध्यान रखना चाहिए। सभी कर्क राशि के जातकों के लिए मंगल का यह गोचर शुभ होने की भविष्यवाणी है। वर्ष 2017 में आप कैसे रुपये-पैसे कमाएं इसकी जानकारी हमारी सेवा 2017 वित्त रिपोर्ट से प्राप्त करें।

सिंह राशि

सिंह राशि के जातकों पर भी मंगल के गोचर का असर साफतौर से पता चलेगा। सिहं राशि के लिए मंगल का पारगमन कुंडली के व्यय स्थान से होगा। मंगल के दुष्प्रभाव से जातक के एकाएक धन व्यय होने जैसी स्थिति पैदा होगी। नौकरीवर्ग को कार्यस्थल पर अनबन की स्थिति का सामना करना पड़ सकता है। धंधे में ग्रहों की प्रतिकूलताओं के चलते कारोबारियों में घाटे का सामना करना पड़ सकता है। वाहन चलाते समय भी चोट या दुर्घटना के चलते आपको काफी सजग रहने की आवश्यकता है। इस प्रकार से सिंह राशि के जातकों के लिए मंगल का कुंडली के बारहवें स्थान से भ्रमण ज्योतिषीय दृष्टि से अशुभ ही कहा जाएगा एेसा गणेशजी का कहना है। क्या आप अपने कारोबार में बिना रुके सफलता प्राप्त करने का रास्ता तलाश कर रहे हैं। हमारी सेवा 2017 बिजनेस रिपोर्ट आपको सही रास्ता दिखा सकती है।

कन्या राशि

कन्या राशि में मंगल कुंडली के लाभ स्थान से होकर गुजरेगा। मंगल का लाभ स्थान से गुजरना आपको धन लाभ करा सकता है। कन्या राशि के जातकों को कामों में मित्रों का सहयोग हासिल होगा। चिकित्सकीय या इंजीनियरिंग क्षेत्र की पढ़ाई कर रहे जातक ज्यादा अच्छा परफॉरमेंस दे सकेंगे। इस तमाम स्थिति को देखते हुए कहा जा सकता है कि कन्या राशि के लिए मंगल का गोचर शुभ साबित होगा। पैसे कमाने की चिंता हर कोई करता है केवल आप ही नहीं करते। पर सब अपने तरीके से पैसा कमाते है। हमारी सेवा 2017 वित्त रिपोर्ट के जरिए जन्मकुंडली के अनुसार अपने लिए विशेष राह चुनें और  कामयाबी पाएं।

तुला राशि

तुला राशि के जातकों के लिए मंगल कुंडली के कर्म स्थान से होकर प्रसार करेगा। कर्म स्थान से मंगल का गतिमान होना आपके लिए फायदे का सूचक रहेगा। व्यवसाय में वृद्धि होगी। नौकरी वर्ग को अपनी नौकरी में प्रमोशन होने की उम्मीद जागेगी। दूसरी तरफ मंगल की दृष्टि जननी के स्थान पर पड़ी रही होने से आपकी अपनी माँ के साथ किसी प्रकार से अनबन या विवाद होने की स्थिति पैदा हो सकती है। जातक की आर्थिक स्थिति अधिक मजूबत बनेगी। कुल मिलाकर, मंगल का गोचर आपके लिए मिश्र फलदायी साबित होगा। आज धन ही सफलता का मापदंड है। जब धन ही कमाना जीवन में सफलता है तो क्यों न एेसी राह पकड़े जिसमें शत-प्रतिशत सफलता प्राप्त करें और समय की भी बर्बादी न हो। हमारी यह सेवा 2017 वित्त रिपोर्ट आपकी कुंडली को खास ध्यान में रखकर तैयार की जाती है। आज ही इस सेवा का उपयोग करिए।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि के जातकों के जीवन में भी मंगल के गोचर से अनेक परिवर्तन परिलक्षित होंगे। वृश्चिक लोगों के लिए मंगल कुंडली के नौवें स्थान से होकर प्रसार होगा। एक तरह से यह अवधि इनके भाग्योदय की हो सकती है। भाग्यवृद्धि से जुड़े अवसर मिलेंगे। व्यावसायिक लाभ या नौकरीकर्ताओं की नौकरी में पदोन्नति के योग बन सकते हैं। विदेश में प्रवास का आयोजन होगा। उच्च शिक्षा से जुड़े जातकों को भी अपने मकसद में कामयाबी मिलेगी। करियर संबंधित मामलों के लिए यह समय बहुत ही बढ़िया कहा जाएगा। हर मां-बाप का सपना होता है कि वह अपने संतान को अच्छी से अच्छी शिक्षा दिलाकर उसे एक सफल इंसान बनाएं। कुंडली के अनुसार अपनी संतान का फ्यूचर जानने के लिए आजकल लोग सेवा संतान की शिक्षा से जुड़ा एक प्रश्न रिपोर्ट जैसी सेवाओं का यूज करके अपनी संतान का भविष्य सुरक्षित कर रहे हैं। आप पीछे मत रहिए, आज ही इसका लाभ ले ले लीजिए।

धनु राशि

मंगल का भ्रमण धनु राशि के जातकों के जीवन में भी अपना असर डाले बिना नहीं रहेगा। धनु राशि के आठवें स्थान से मंगल का गोचर होगा। धनु राशि के लिए कुंडली के अष्टम भाव में मंगल का भ्रमण वैवाहित जीवन में कलह पैदा कर सकता है। मैरिज लाइफ के अलावा, फैमिली लाइफ में भी परिवार के लोगों के साथ किसी प्रकार की मतभेद की स्थिति बनने से इंकार नहीं किया जा सकता है। एक्सीडेंट होने के भय को देखते हुए अपना व्हीकल सावधानीपूर्वक चलाने की गणेशजी पहले से ही चेतावनी दे रहे हैं। आपके द्वारा किया गया आर्थिक आयोजन बिगड़ने के डर को देखते हुए आपको पहले से ही रुपये-पैसे से जुड़े मामलों की विवेकपूर्ण ढंग से प्लानिंग कर लेने का परामर्श है। कुल मिलाकर, धनु राशि के जातकों के लिए यह भ्रमण अशुभ कहलाने से आपको इस ओर जरा ध्यान रखने की सलाह है। दूसरों के साथ अपने संबंधों की अनुकूलता का आकलन करने के लिए हमारी सेवा 2017 निजी जिंदगी और संबंध रिपोर्टआपके संबंधों में मधुरता ला सकती है।

मकर राशि

मकर राशि के लिए मंगल का गोचर कुंडली के सातवें स्थान से होने की पूर्व सूचना गणेशजी देते हैं। यहां पर आकर मंगल के नीच के हो जाने से दांपत्य जीवन में किसी प्रकार की समस्या का सृजन हो एेसी संभावना नहीं के बराबर है। गणेशजी के अनुसार चंद्र और मंगल की प्रतियुति बन रही होने से मकर राशि के व्यक्तियों को आशातीत लाभ होंगे। इसकी वजह से आपकी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी। पति-पत्नी की आपस में नहीं बनेगी। दूसरी ओर मंगल की पाप दृष्टि चंद्र पर होने से मन में अशांति बनी रहेगी। वैसे देखा जाए तो आपकी राशि पर से मंगल का गुजरना आपके लिए सुखदायी रहेगा। आज सभी इंसान की सबसे बड़ी चिंता अपने आर्थिक भविष्य को मजबूत बनाने की होती है। हमारी सेवा 2017 वित्त रिपोर्ट द्वारा आज ही इस चिंता का अंत कीजिए।

कुंभ राशि

वालों, मंगल का गोचर आपके मामले में कुंडली के छठें स्थान से होगा। पराक्रमी मंगल आपको हौसला देते हुए अपने शत्रुओं पर विजय दिलाएगा। वे कुंभ जातक जिन पर  काफी समय से किसी प्रकार का कोर्च केस चलता हो उनको इसके गोचर के मध्य ज्यारा सतर्क रहना होगा। आपके खर्च सहसा बढ़ जाएंगे। सुरक्षादलों के साथ जुड़े लोगों की प्रगति के योग बनेंगे। छठे स्थान को ज्योतिष में रोग का स्थान भी कहते हैं, इसलिए तबीयत बिगड़ने नहीं पाएं इसका ध्यान रखें। सामान्य रुप से कुंभ राशि के जातकों के लिए मंगल का गोचर मध्यम फलदायी गुजरने की संभावना है। अगर आप किसी समस्या का समाधान नहीं कर पा रहे हैं तो वैदिक ज्योतिष के पास उसका समाधान उपलब्ध है। हमारी सेवा कोई भी सवाल पूछें रिपोर्ट से आज ही परेशानियों से छुटकारा पाएं।

मीन राशि

मीन राशि में मंगल का गोचर कुंडली के पांचवें स्थान से होने वाला है। आर्थिक दृष्टि से मीन राशि के जातकों के धन लाभ होने के प्रबल योग हैं। व्यापारियों को धंधे में आर्थिक लाभों की प्राप्ति होगी। इंजीनियरिंग या चिकित्सकीय क्षेत्र में पढ़ाई कर रहे जातकों को पढ़ाई में सफलता हाथ लगेगी। पांचवें स्थान में मंगल आदमी को पेट से संबंधित गड़बड़ियां देता है, ध्यान रहें ! खान-पान में संयम रखिए। सब मिलाकर यदि देखें तो मीन राशि के जातकों के लिए यह गोचर अवधि सावधानी रखने की कहीं जाएगी। गर्भवती महिलाओं को इस समय दौरान अपना विशेष ख्याल रखना चाहिए। क्या आप अपने धंधे-कारोबार में दोराहे की स्थिति महसूस कर रहे हैं? धंधे में बदलाव करने से उसकी सफलता को लेकर आशंकित हैं? तो आज ही हमारी सेवा 2017 बिजनेस रिपोर्ट की मदद से इससे जुड़ी आशंकाओं को दूर करते हुए उन्नति की सीढ़ी पर चढ़ें।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
जैमिन व्यास
गणेशास्पीक्स डाॅटकाॅम टीम

अपनी परेशानियों के त्वरित समाधान हेतु हमारे ज्योतिषी से बात कीजिए

07 Jul 2017

View All blogs

Follow Us