गुरू गोचर का प्रभाव वृषभ राशि के लिए - GaneshaSpeaks
https://www.ganeshaspeaks.com/hindi/

गुरू गोचर का प्रभाव वृषभ राशि के लिए

गुरू गोचर का प्रभाव वृषभ राशि के लिए

गुरु का तुला में गोचर – संतुलन की राशि से एक आशावादी यात्रा
गुरु का तुला राशि में गोचर 12 सितंबर, 2017को होगा। जिसका प्रभाव वृषभ राशि के जातकों की कुंडली के छठें भाव पर पड़ेगा। इस गोचर के प्रभाव से आपकी जिंदगी पेशेवर मोर्चे पर प्रगति के इर्दगिर्द घूमने की संभावना है। आप अपने पेशेवर कौशल में विकसित हो सकते है आैर काम से संबंधित क्षेत्रों में सफलता प्राप्त कर सकते है। आप अपने पेशेवर कार्यों में प्रोत्साहन का अनुभव कर सकते है। तो क्या आप ये जानना चाहते है कि ये गोचर आपके कैरियर पर क्या प्रभाव ड़ाल सकता है ? तो इसके लिए हमारी एक्सक्लूजिव गुरु गोचर रिपोर्ट कैरियर के लिए का लाभ उठाए।

वृषभ राशि के लिए तुला में गुरु के गोचर के दौरान कुछ परिवर्तन निम्नानुसार दिए गए हैः

वृषभ राशि के लिए गुरु के तुला राशि में गोचर का महत्वः

गुरु तुला मेंः पेशेवर जिंदगी में बेहतर संभावनाआें का पूर्वानुमान
जानकारियों को संभालने की क्षमता जो कि जाॅब करते समय आवश्यक होती है वो गुरु के तुला राशि में गोचर के दौरान बढ़ेगी। आपकी इस क्षमता में वृद्घि को लेकर दूसरे लोग सचेत होंगे। आप उन काम की खूबियों के आधार पर आप लाभप्रद महसूस कर सकते है, जो आपने पूरे किए है या जिसके लिए आपको अपने सहकर्मियों या अधीनस्थ लोगों का सहयोग मिला है। बात का सारांश ये है कि, गुरु के राशि परिवर्तन 2017 के दौरान जो भी काम आप करेंगे वो काम अच्छे से पूरे होंगे, क्यूंकि जो काम आप कर रहे है उसमें आपको अधिक खुशी मिल रही है।

इसके अलावा, अगर आप पर कर्मचारियों के चयन की जिम्मेदारी है, तो आप अच्छे कर्मचारियों को चयनित करने में सक्षम होंगे। ये सब गुरु के तुला राशि में गोचर 2017 के दौरान आपके समग्र काम के वातावरण में सुधार आने के साथ होगा। वे जातक जो नौकरी की तलाश कर रहे है उन्हें इस मामले में सफलता अन्य समय की तुलना में अधिक आसानी से मिलेगी।

गुरु के राशि परिवर्तन के दौरान आपको बहुत ही आनंदप्रद काम मिलेंगे, इस स्थिति में आपको खुशी के ज्यादा मौके मिलेंगे। हालांकि, अतिउत्साह में आप अपने समय आैर ऊर्जा की सीमाआें को सही तरीके से पहचानने की बजाय बहुत ज्यादा काम अपने हाथ में ले सकते है। यानि आप अपनी क्षमता से अधिक काम हाथ में ले सकते है, जो आप पर भारी पड़ सकता है।

गुरु के तुला में गोचर के दौरान आप मामूली स्वास्थ्य समस्याआें का सामना कर सकते है
गुरु के राशि परिवर्तन के दौरान जब आप काम को अंजाम तक पहुंचाने के लिए अतिउत्साहित होंगे, तो ये काम के आेवरलोड का कारण बन सकता है। इससे आपके आसपास समस्याएं बढ़ने की भी संभावना है। दूसरे शब्दों में कहें तो आप अपने आसपास मंडरा रही समस्याआें को वास्तविकता से अधिक बड़ी आैर खतरनाक पाएंगे। आपको कुछ मामूली सेहत संबंधी परेशानियां भी होने की संभावना है, जो कि अनिश्चित आैर अस्पष्ट होगी। आपको खुद के लिए आैर अपने चाहने वालों के लिए समय निकालने की जरूरत महसूस हो सकती है। हालांकि, जिस तरह आप कार्यस्थल पर कर्इ महत्वपूर्ण काम अपने हाथ में लेने वाले है, एेसे में आपको अपने या अपने चाहने वालों के लिए वांछित समय निकालना मुश्किल नजर आता है।

हालांकि, अंत में ये समस्याएं बहुत ज्यादा नहीं होगी आैर गुरु के तुला राशि में गोचर के दौरान कार्यस्थल पर जो आपको पहचान आैर प्रोत्साहन मिलेगा उससे आपको अत्यधिक प्रसन्नता मिलेगी।

गुरु का तुला में गोचरः आप दूसरों की सहायता के लालायित हो सकते है
गुरु के राशि परिवर्तन 2017 के दौरान जब आप अपने काम काे अधिक विस्तार से करने पर ध्यान केन्द्रित करेंगे, तो एेसे में कर्इ बार ये नीरसता में तब्दील हो सकता है। ये समय अपने कामकाजी जिंदगी में बदलाव लाने के लिए उपयुक्त अौर आप अपने कार्यों या दिनचर्या को व्यवस्थित करने के लिए अत्यधिक प्रयास ड़ाल सकते है। इस अवधि के दौरान एक विशिष्ट चीज ये होगी कि आपका ध्यान अन्य लोगों की सहायता पर अधिक केन्द्रित हो सकता है। बल्कि गुरु के तुला राशि में गोचर के दौरान आप दूसरों की सहायता करने के लिए सेहत-संबंधी या इलाज करने वाले पेशे के प्रति अपनी उत्सुकता दिखा सकते है। यानि आपका एक मकसद होगा कि किसी ना किसी तरीके से आप दूसरों की मदद करें।

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
संघप्रिय सदानशिवकर (संगमजी)
गणेशास्पीक्स डाॅटकाॅम

बिजनेस से संबंधितः
गुरु गोचर रिपोर्ट बिजनेस के लिए का लाभ उठाए आैर जानें कि गुरु आपके बिजनेस की संभावनाआें पर क्या प्रभाव ड़ालेगाफाइनेंस से संबंधित: गुरु गोचर रिपोर्ट फाइनेंस के लिए का लाभ उठाए आैर जानें कि गुरु आपकी आर्थिक स्थिति पर क्या प्रभाव ड़ालेगा

Follow Us