चन्द्र राशि सिंह पर शनि के गोचर का प्रभाव

चन्द्र राशि सिंह पर शनि के गोचर का प्रभाव

आम जन-धारणा के अनुसार शनि को एक नकारात्मक ग्रह माना जाता है। लेकिन वैदिक ज्योतिष में शनि के स्वभाव के अनुरूप उसे नैतिकता और अनुशासन प्रदाता माना गया है। 23 जनवरी 2020 से शनि में प्रवेश करने वाला है। 2020 जनवरी के अंत में होने वाला यह राशि परिवर्तन आगामी ढाई सालों तक प्रभावी रहने वाला है। पृथ्वी से शनि की दूरी के कारण इसे ज्योतिष और खगोल शास्त्र में बेहद मंद गति से विचरण करने वाला ग्रह माना जाता है। लेकिन फिर भी सभी राशियों पर इसका स्थाई प्रभाव देखा जा सकता है। आगामी जनवरी में होने वाला शनि का राशि परिवर्तन घर वापसी जैसा है, क्योंकि शनि तमाम राशियों में लगभग 30 सालों के भ्रमण अंतराल के बाद मकर राशि में प्रवेश कर रहा है। इन 30 सालों के दौरान शनि ने सभी 12 राशियों को प्रभावित किया है। हालांकि इसका प्रभाव और भाव राशि के अनुसार तीव्र और मंद हो सकता है।

यदि हम सिंह राशि की जन्म कुंडली की बात करें, तो शनि छठे और सातवें घर का स्वामी है। कुंडली का छठा भाव या घर शत्रु, विरोधी, दुर्घटना, कर्ज, लोन और रुकावटों को दर्शाता है। शनि का राशि परिवर्तन सिंह राशि के जातकों के जीवन के उपरोक्त क्षेत्रों को प्रभावित करने वाला है। शनि व्यक्ति को जीवन में अनुशासन और नैतिकता के साथ अपने कार्य को सटीकता से पूरा कर अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रेरित करता है।

अपने जीवन में शनि के बुरे प्रभाव को बेअसर करने के उपाय जानें अभी!

बीते ढाई साल और शनि

संभवतः 2017 में शनि के धनु राशि में गोचर के दौरान आपने कुछ दीर्घकालिक वित्तीय निवेश की योजना बनाई होगी। यह दौर अपने पिछले निवेश की समीक्षा करने के लिए एक आदर्श समय था। इस दौरान आपने अपने पेशेवर जीवन में भी कड़ी मेहनत के बलबूते अपने कौशल को बढ़ाने की कोशिश की होगी। लेकिन फिलहाल शनि धनु राशि से मकर में गोचर करने वाला है। आईए जानने की कोशिश करते है कि आगामी समय में होने वाला शनि का यह गोचर सिंह राशि के जातकों पर कैसा प्रभाव डालेगा?

23 जनवरी 2020 से शनि राशि परिवर्तन कर मकर में प्रवेश करेगा। शनि के इस राशि परिवर्तन का असर सभी मौजूदा राशियों पर भिन्न-भिन्न प्रकार से पड़ेगा। यदि हम सिंह राशि जातकों की बात करें तो, यह समय सिंह राशि के जातकों को कड़ी मेहनत और अनुशासित जीवन शैली अपना कर अपने जीवन को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित करेगा। शनि का मकर में गोचर अप्रैल तक रहने वाला है। इस दौरान आपको धैर्य बनाए रखने की जरूरत है।

वर्ष 2020 की वार्षिक रिपोर्ट प्राप्त करें और अपनी वैवाहिक समस्याओं से निपटें।

करियर जीवन पर शनि के परागमन का प्रभाव

  • शनि के मकर में गोचर करने की समयावधि के दौरान आपके विरोधी वरीयता प्राप्त करेंगे और आपको दबाने की कोशिश करेंगे। इस कारण आप अपने बॉस की ओर से भी कुछ परेशानियों का सामना करेंगे। इस दौरान आप अपनी नौकरी छोड़ने पर भी विचार कर सकते हैं।
  • आपको अपने कार्य-क्षेत्र में कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ेगा। इस कारण आपको नौकरी से निकाले जाने का डर बना रहेगा, क्योंकि इस दौरान आपका उच्च प्रबंधन भी आपका सहयोग नहीं करेगा।
  • इस दौरान आप ऑफ़िस से जुड़ी परेशानियों के कारण अपना धैर्य खोने लगेंगे।
  • हालांकि इस दौरान आपको वह सुनने और करने की कोशिश करनी चाहिए जो शनि आपसे कहना और करवाना चाहता है। इससे आपको कठिन परिस्थितियों से बेहतर ढंग से निपटने में मदद मिलेगी।
  • इस दौरान यदि आप धैर्य और बुद्धि का उपयोग करते है, तो आप मुश्किल और कठिनाइयों को पार करते हुए अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकते है।

हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों की मदद से व्यक्तिगत रिपोर्ट प्राप्त कर कैरियर में सफलता पाएं।

व्यावसायिक जीवन पर शनि के परागमन का प्रभाव

  • शनि गोचर व्यापारी वर्ग के लिए उम्मीद और औसत से कम प्रति फल देने वाला रहेगा।
  • आप ग्राहकों को अपना उत्पाद बेचने में कठिनाइयों का सामना करेंगे। जिससे आपका व्यापार घटने की संभावना है। आपके लक्षित ग्राहक भी उत्पाद खरीदने या उसमें निवेश करने से बचेंगे।
  • आपको अपने व्यापार का स्तर बनाए रखने के लिए नये रास्तों से उत्पाद को लोगों तक पहुंचाने की कोशिश करनी होगी। धैर्य के साथ व्यापार विकास के लिए कार्य करने से आप इस मुश्किल दौर का सामना कर पाएंगे।
  • अपने व्यापारिक साथियों से लगातार मुलाकात, मौजूदा मुश्किल व्यापारिक परिस्थिति और व्यापार के उन बिंदुओं पर चर्चा कर सकते हैं, जहां से आपके लगातार बढ़ते वित्तीय नुकसान की भरपाई की जा सके।
  • इस मुश्किल परिस्थिति से निपटने और अपने ग्राहकों तक पहुंचने के लिए आपको एक नई योजना के साथ बाजार में उतरने की सलाह है। जिससे आप स्थिरता और वित्तीय लाभ प्राप्त कर सकें।

वित्तीय जीवन पर शनि के परागमन का प्रभाव

  • शनि गोचर के दौरान आप कुछ वित्तीय घाटों के तनाव से गुजरने वाले है। इस दौरान आपको सतर्कता और सावधानी बरतने की जरूरत होगी, अन्यथा आपको कुछ बड़े वित्तीय घाटों का सामना करना पड़ सकता है।
  • शनि गोचर 2020 के दौरान आपको अपने योजनाबद्ध और अनियोजित ख़र्चों के बीच समन्वय बिठाने की सलाह दी जाती है। वित्तीय अस्थिरता से बचने के लिए आपको आज से ही बचत की शुरूआत कर देना चाहिए। जिससे आप अपनी वित्तीय स्थिति पर पड़ने वाले शनि गोचर 2020 के नकारात्मक प्रभाव से खुद को सुरक्षित रख सकें।
  • शनि गोचर के दौरान अपनी वित्तीय परिस्थिति को अस्थिर होने से बचाने के लिए आपको अभी से वित्तीय योजना तैयार कर लेना चाहिए।
  • अपनी सभी वित्तीय जिम्मेदारियों को ध्यान में रखते हुए अपने ख़र्चों पर लगाम लगाने से आपको शनि गोचर 2020 के दुष्प्रभावों से निपटने में मदद मिल सकती है।

वित्त, करियर या जीवन में समस्याओं का सामना कर रहे हैं, तो जानिए विशेषज्ञ ज्योतिषियों से कि कौन सा यंत्र लाभ देगा।

प्रेम-संबंध और वैवाहिक जीवन पर शनि के परागमन का प्रभाव

  • शनि 2020 गोचर के दौरान आपको अपने प्रेम या वैवाहिक जीवन में कुछ कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है।
  • इस गोचर के दौरान आपका प्रेम संबंध और रोमांस औसत रहेगा। इस समायावधि में आपको अपने रिश्ते में गर्म जोशी की अनुपस्थिति का स्पष्ट अहसास होगा।
  • शनि गोचर की इस मुश्किल परिस्थिति से निपटने के लिए आपको खुद को अधिक आकर्षक बनने की कोशिश करनी चाहिए। जिससे आप इस उदासीन दौर से स्वयं को और अपने रिश्ते को उबार सकें। इस गोचर के दौरान आपको अपने साथी के साथ अधिक से अधिक समय बिताने और उन्हे खास महसूस करने की जरूरत होगी। इससे आपके रिश्ते में गर्म जोशी बनी रहेगी।
  • विवाहित लोगों के लिए यह दौर अधिक मुश्किलों भरा रहने वाला है। इस दौरान काम के सिलसिले में लगातार बाहर रहने से आप अपने साथी के साथ अधिक समय नहीं बिता पाएंगे। जिससे आपके वैवाहिक जीवन में खींच-तान बनी रहेगी।
  • परिस्थिति जो भी हो, चाहे आप इसे इसे विधि का विधान कहें या समय की जरूरत, लेकिन समय के साथ शनि गोचर के नकारात्मक प्रभाव भी खत्म हो जाएंगे। इस दौरान घटने वाली घटनाओं और परिस्थितियों का आपको सकारात्मक सोच के साथ सामना करना चाहिए।

यह भी पढ़े: चन्द्र राशि मिथुन पर शनि के गोचर का प्रभाव

स्वास्थ्य जीवन पर शनि के परागमन का प्रभाव

  • शनि गोचर 2020 का आपके स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ने की पूरी संभावना है। इस गोचर के दौरान आपको अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होगी। इसे हल्के में लेने की भूल ना करें।
  • आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग रहते हुए, उपयुक्त सावधानी बरतनी चाहिए।
  • शनि गोचर 2020 के दौरान आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति सजग रहते हुए, अपनी दिनचर्या को अनुशासित करना होगा। इस दौरान अपनी खाने-पीने की आदतों में सकारात्मक बदलाव लाने की कोशिश करें। इस दौरान आप स्वच्छता का ध्यान रखते हुए, अपने भोजन में पौष्टिक खाद्य सामग्री शामिल करें।
  • हालांकि, 2020 शनि गोचर का सिंह राशि जातकों के स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ने की संभावना है। लेकिन यदि आप गोचर के इन दुष्प्रभावों से बचने के लिए पहले से ही सभी जरूरी सावधानियां बरतना शुरू कर देते है, तो आप बेहतर स्वास्थ्य के साथ खुशहाल जीवन बिता पाएंगे है।

निष्कर्ष – वैदिक ज्योतिष के साथ ही हिंदू पौराणिक ग्रन्थों में भी शनि को कर्मों का देवता माना गया है। ज्योतिष और वेदों में शनि को न्यायाधीश की उपाधि दी गई। इनके अनुसार शनि आपके कर्मों के अनुसार आपको फल देने का कार्य करते है। हालांकि शनि 2020 गोचर के कई नकारात्मक प्रभाव सिंह राशि के जातकों पर पड़ने वाले हैं, लेकिन इन समयावधि का उपयोग आप अपने जीवन के सभी क्षेत्रों को बेहतर बनाने के लिए भी सकते है। शनि का में गोचर 2020 का सिंह राशि जातकों के जीवन पर प्रभाव हर क्षेत्र पर पड़ने वाला है। लेकिन शनि गोचर से सकारात्मक नतीजे भी प्राप्त किये सकते हैं। शनि गोचर के दुष्प्रभावों को कम करते हुए सकारात्मक फल प्राप्त करने के लिए आपको खुद के प्रति अधिक सजग रहते हुए अपने करियर, स्वास्थ्य, वित्त, व्यापार, प्रेम और वैवाहिक जीवन में धैर्य और संतुलन बनाए रखने की जरूरत होगी। इस शनि गोचर के दौरान सकारात्मक रहें, सजग व सावधान रहे, इससे गोचर की समयावधि बीतने के बाद आप खुद को अपने लक्ष्य के और भी नज़दीक पाएंगे।

अपने व्यक्तिगत समाधान प्राप्त करने के लिए, एक ज्योतिषी विशेषज्ञ से बात करें अभी!

गणेशजी की कृपा से,

गणेशस्पीक्स.कॉम टीम

17 Dec 2019

View All blogs

Follow Us