शनि का मकर में गोचर, कुंभ राशि पर पड़ने वाला प्रभाव और समाधान

शनि का मकर में गोचर, कुंभ राशि पर पड़ने वाला प्रभाव और समाधान

सूर्य से दूरी के क्रम में छठे स्थान पर मौजूद शनि, राशि चक्र की परिक्रमा पूरी करने में लगभग 30 सालों का समय लेते है। जन्म कुंडली में चंद्र के स्थान से एक घर पहले से एक स्थान बाद तक शनि का गोचर राशि पर साढ़े साती का प्रभाव डालता है। शनि के प्रभाव से जातक के जीवन में कई तरह की परेशानियां पैदा होने लगती है। लेकिन कुछ राशियों के कई क्षेत्र ऐसे भी हैं, जिन पर शनि के सकारात्मक प्रभाव देखने को मिलते हैं। शनि एक विशाल ग्रह है, और उसका प्रभाव भी कुंडली या जातक पर अधिक दिखाई देता है। शनि का प्रभाव जातक को धैर्यवान, मेहनतकश और उत्तम व्यक्तित्व देने का काम करता है।

23 जनवरी 2020 से शनि में प्रवेश करने वाले हैं। शनि के मकर में प्रवेश से कुंभ राशि जातकों के जीवन पर बेहद गहरा प्रभाव पड़ने वाला है। शनि का राशि परिवर्तन कर धनु से मकर में प्रवेश, कुंभ राशि जातकों के लिए शनि साढ़े साती की शुरूआत होगी। इस गोचर के दौरान शनि कुंभ जन्म कुंडली के बारहवें भाव में भ्रमण करेगा। कुंडली के बारहवें भाव को लाभ स्थान या मोक्ष स्थान के नाम से भी जाना जाता है। इस भाव का संबंध व्यय, आर्थिक हानि, लंबी यात्रा, विदेश यात्रा, विदेशी भूमि, आध्यात्म, गुप्त विद्या, नुकसान और तलाक से होता है। चूंकि शनि, मकर और कुंभ दोनों ही राशियों का स्वामी है। इसलिए मकर में शनि गोचर 2020 का कुंभ पर व्यापक प्रभाव देखने को मिलेगा। आइए शनि गोचर 2020 का कुंभ राशि जातकों के जीवन के प्रमुख क्षेत्रों पर पड़ने वाले प्रभाव को सिलसिलेवार ढंग से समझने की कोशिश करते हैं।

बीते ढाई साल और शनि

ढाई साल पहले साल 2017 में शनि ने राशि परिवर्तन कर वृश्चिक से धनु में प्रवेश किया था। इस दौरान आपने दोस्तों और व्यवहारिक लोगों में अंतर करना सीख लिया होगा। इस दौरान आपने महसूस किया होगा कि, कुछ लोग सिर्फ अपना काम निकालने के लिए आपके संपर्क में है।संभव है कुछ लोगों ने अपना दिल बहलाने के लिए आपसे संपर्क साधा हो। कुल मिलाकर कहें तो आपने संबंधों में सकारात्मक सुधार लाने की कोशिश की होगी। हालांकि इस प्रक्रिया को पूरा करने में काफी समय लगा होगा। लेकिन इस प्रक्रिया के पूरा होने पर आपने स्वयं में कई सकारात्मक बदलाव देखें होंगे। आइए जानने की कोशिश करते है कि, शनि का मकर में गोचर 2020 आपके जीवन के किन प्रमुख क्षेत्रों को प्रभावित करने वाला है।

शनि का मकर में गोचर, कुंभ राशि पर पड़ने वाले प्रभाव

मकर में शनि गोचर 2020 का आपके निजी जीवन और करियर पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। इस दौरान नौकरी और निजी जीवन में वाद विवाद के कारण रिश्ते खराब होने की संभावना है। इस समयावधि के दौरान अपने खर्च पर नियंत्रण करना चाहिए। शनि के मकर में प्रवेश के साथ ही स्वास्थ्य से जुड़ी कुछ समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है। इस दौरान सतर्कता और सावधानी के साथ अपने खर्च और स्वास्थ्य पर नजर रखना चाहिए। शनि गोचर के दौरान आत्म विश्वास, धैर्य और कड़ी मेहनत निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने में आपकी मदद करेगी। फिलहाल हम शनि गोचर 2020 का कुंभ राशि जातकों के जीवन के प्रमुख क्षेत्रों पर पड़ने वाले प्रभावों को जानने की कोशिश करेंगे।

यह भी पढ़ें – शनि करने जा रहा है मकर राशि में प्रवेश जानिए आपके ऊपर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा?

शनि का मकर में गोचर, करियर पर पड़ने वाले प्रभाव

कार्यस्थल पर सहकर्मी आपका सहयोग करने में असमर्थ रहेंगे। वे आपके काम में हस्तक्षेप करने की कोशिश करेंगे और प्रगति में बाधा डालने का काम करेंगे।

शनि का मकर गोचर 2020 करियर में बाधा डालने का प्रयास करता है। इस गोचर के प्रभाव के कारण वरिष्ठ या उच्च अधिकारी आपके विचार और कार्यशैली को समझने में नाकाम रहेंगे। जिसके कारण उनसे लगातार वाद-विवाद हो सकते हैं, फलस्वरूप मन मुटाव या रिश्तों के खत्म होने की नौबत तक आ सकती है।

कड़ी मेहनत के बावजूद मनचाही सफलता हासिल करने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने के बावजूद भी मनचाहा परिणाम प्राप्त करने में असफल रहेंगे।

इस दौरान यदि मन में नौकरी बदलने का विचार आता है, तो अपने निर्धारित लक्ष्यों के प्रति स्पष्ट रहते हुए धैर्य और सावधानी के साथ उस ओर बढ़ना चाहिए।

मकर में शनि गोचर 2020 के दौरान आपको कार्य के प्रमुख क्षेत्रों को पहचानना होगा और उसे अपनी कंपनी के लक्ष्यों के अनुसार उपयोग करते हुए कंपनी और अपने विकास के लिए उपयोग करना होगा।

शनि का मकर गोचर, व्यापार-व्यवसाय पर प्रभाव

आपके गंभीर प्रयास आयात-निर्यात से जुड़े व्यापार में वृद्धि प्रदान कर सकते हैं।

शनि का मकर गोचर 2020 आपके व्यापारिक उत्पादों के बाजार में प्रवेश करने को प्रभावित कर सकता है। इस स्थिति से निपटने के लिए उचित योजना और धैर्य की जरूरत होगी।

शनि गोचर 2020 के दौरान साझेदारों व कर्मचारियों से बहस या वैचारिक मतभेद रह सकते हैं।

सहकर्मियों और साझीदारों के साथ तनावपूर्ण संबंधों से बचने के लिए आपको सार्थक विचार-विमर्श और बीच का रास्ता निकालने की कोशिश करनी चाहिए।

शनि गोचर के दौरान साझीदारों व कर्मचारियों के साथ संतुलन बनाने की सलाह है। एक विस्तृत योजना तैयार करें, अपने दृष्टिकोण से सहकर्मियों को भी अवगत करवाए। इस तरह के माहौल से आपको व्यापार बढ़ाने में मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ें – बुध ग्रह करने जा रहा है धनु राशि में प्रवेश! जानिए ये आपकी राशि को कैसे प्रभावित करेगा?

मकर में शनि गोचर, आर्थिक स्थिति पर प्रभाव

शनि का मकर गोचर 2020 कुंभ राशि जातकों के जीवन में आर्थिक समस्याएं उत्पन्न कर सकता है।

इस दौरान खर्चे और खासकर अनियोजित ख़र्चों पर कड़ी निगरानी रखनी चाहिए और व्यर्थ के ख़र्चों से बचने की कोशिश करनी चाहिए।

शनि गोचर 2020 के दौरान अपने लिए एक आर्थिक योजना तैयार करनी चाहिए और अपनी आय-व्यय का पूरा लेखा-जोखा तैयार करना चाहिए।

इस समयावधि के दौरान परिवार से भी आर्थिक सहायता मिलने की उम्मीद कम है। इस दौरान घर के किसी सदस्य पर खर्च करने की स्थिति पैदा हो सकती है।

इस दौरान आपको कड़ी मेहनत करने और उन चीजों पर ध्यान देने की जरूरत है, जहां से अतिरिक्त वित्तीय लाभ मिल सके।

आपको आने वाली परिस्थिति का सामना करने के लिए आज से ही बचत पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है, ताकि जरूरत के समय मुश्किलों का सामना ना करना पड़े।

शनि गोचर का प्रेम व वैवाहिक जीवन पर प्रभाव

शनि गोचर 2020 आपको प्रेम संबंध से जुड़ी कुछ खास बातें सिखाने वाला है।

इस दौरान आपका साथी उतना सहयोग नहीं करेगा, जितनी आप उम्मीद रखते हैं।

शनि का मकर गोचर 2020 आपको साथी से वांछित सहयोग प्राप्त करने के लिए ईमानदारी से प्रयास करने की मांग करता है। अपने साथी से साथ मधुर क्षण बिताना, उपहार देना या उसके लिए ऐसी छोटी-छोटी चीजें करना जिससे उन्हें खुशी मिले। अपने साथी के साथ इस तरह के व्यवहार से प्रेम या वैवाहिक जीवन में ख़ुशियाँ बनाए रख सकते हैं।

मकर में शनि गोचर 2020 के दौरान साथी पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। इस दौरान साथी को अधिक से अधिक समय देने की जरूरत है।

साथी के साथ समय बिताने के दौरान उन्हें अपनी स्थिति से अवगत करवाना चाहिए और उनकी अपेक्षाओं को सीमित करने की कोशिश करनी चाहिए। इससे आपको प्रेम या वैवाहिक जीवन में खुशी और निरंतरता बनाए रखने में मदद मिलेगी।

शनि का गोचर स्वास्थ्य पर प्रभाव

शनि का मकर गोचर 2020 कुंभ राशि जातकों के स्वास्थ्य पर बुरा असर डाल सकता है। इसलिए आपको स्वास्थ्य पर नजर बनाए रखने के साथ समय-समय पर स्वास्थ्य जांच करवाते रहना चाहिए।

इस दौरान संक्रमण से फैलने वाली बीमारों का भी खतरा बना रहेगा। इसलिए स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें।

मकर में शनि गोचर 2020 वृद्ध लोगों के स्वास्थ्य पर बेहद विपरीत प्रभाव डालने वाला है। इस दौरान उनके अस्पताल में भर्ती होने से तनाव की स्थिति पैदा हो सकती है। इसलिए अपने परिवार के सदस्यों पर ध्यान देने की जरूरत है।

इस दौरान आपको नियमित रूप से स्वच्छता और स्वास्थ्य का ध्यान रखने की जरूरत है।

कैसा रहेगा आने वाले साल में आपका स्वास्थ्य, जानने के लिए बात करें हमारे ज्योतिषी विशेषज्ञों से अभी!

निष्कर्ष

वैदिक ज्योतिष के साथ ही धर्म ग्रन्थों में भी शनि को कर्म फलदाता माना गया है। शनि को अपने स्वभाव के अनुसार न्यायाधीश की उपाधि दी गई है। धार्मिक ग्रंथों के अनुसार शनि कर्मों के अनुसार आपको फल देने का कार्य करते हैं। हालांकि शनि 2020 गोचर के कई नकारात्मक प्रभाव भी कुंभ राशि जातकों पर पड़ने वाले हैं, लेकिन इस समयावधि का उपयोग आप जीवन के सभी क्षेत्रों को बेहतर करने के लिए भी कर सकते हैं। शनि का में गोचर 2020 कुंभ राशि जातकों के जीवन के सभी प्रमुख क्षेत्रों में प्रभाव देखने को मिलेगा। शनि गोचर के दुष्प्रभावों को कम करते हुए सकारात्मक फल प्राप्त करने के लिए, खुद के प्रति अधिक सजग रहते हुए अपने करियर, स्वास्थ्य, वित्त, व्यापार, प्रेम और वैवाहिक जीवन में धैर्य और संतुलन बनाए रखने की जरूरत होगी। इस शनि गोचर के दौरान सकारात्मक रहें, सजग व सावधान रहें, इससे गोचर की समयावधि बीतने के बाद आप खुद को अपने लक्ष्य के और भी नज़दीक पाएंगे।

अपने व्यक्तिगत समाधान प्राप्त करने के लिए, एक ज्योतिषी विशेषज्ञ से बात करें अभी!

गणेशजी की कृपा से,

गणेशस्पीक्स.कॉम टीम

25 Dec 2019

View All blogs

Follow Us