कुंडली के छठे भाव में सूर्य की महत्ता जातक को सकुशलता और सुरक्षा प्रदान करती है

कुंडली के छठे भाव में सूर्य की महत्ता जातक को सकुशलता और सुरक्षा प्रदान करती है

वैदिक ज्योतिष में कुंडली का छठा भाव व्यक्ति के स्वास्थ्य और कल्याण से जुड़ा होता है। जिसमे स्वास्थ्य के व्यापक रूप में जीवन की प्रतिकूलताओं का सामना करने और लड़ने की क्षमता का निर्माण भी शामिल है। हम सभी ग़लतियाँ करते हैं, चुनौतियों और कमियों का सामना करते हैं। हम कठिनाइयों और चुनौतियों से कैसे निपटते हैं, यह हमारे व्यक्तित्व के रूप में परिभाषित होता है। खैर, छठे भाव में यही सब शामिल होता है, जो उन कठिनाइयों और चुनौतियों से निपटने में सहायक होता है। अनिवार्य रूप से, छठा भाव आपके डर के बारे में है, और आप इसे कैसे दूर कर पाते हैं। तो, एक व्यक्ति जिसकी कुंडली के छठे भाव में सूर्य स्थित है, वह दिन प्रतिदिन में जीवन की गतिविधियों में अधिक शामिल होगा, अधिकांश अन्य लोगों की तुलना में।

छठे भाव में सूर्य के कारण प्रभावित क्षेत्र

रिश्ते
व्यवसाय
वित्त और धन
लोगों के प्रति रवैया
स्वास्थ्य और भलाई

सकारात्मक लक्षण/प्रभाव

चूँकि छठा भाव संकटों को दूर करने और सकुशलता और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उत्तरदायी होता है। इस प्रकार, छठे भाव में सूर्य की उपस्थिति जातक को बहुत सतर्क बनाती है। वे अपने स्वास्थ्य के बारे में बहुत सतर्क होते हैं, यही कारण है कि वे किसी भी बड़ी स्वास्थ्य बीमारी से पीड़ित नहीं होते।

इसके अलावा, छठा भाव लगातार प्रयासों के बाद स्थिति के उच्च या अधिक जिम्मेदार स्तर तक बड़ी संख्या में वृद्धि या उन्नति के संकेत भी देता है। ऐसे जातक अपने कार्य में बहुत दृढ़ और समर्पित होते हैं। जिन लोगों की कुंडली में सूर्य छठे भाव में है, वे कौशल को विकसित करने की बहुत कोशिश करते हैं, जो उन्हें रोज़गार क्षेत्र में आगे बढ़ने में मदद कर सकता है। वे अपने व्यक्तिगत मूल्य और अहमियत बढ़ाने में सक्षम होते हैं। वे बाकी सहयोगियों से स्वयं की अलग पहचान बनाते हैं, और उनसे बेहतर प्रदर्शन करना चाहते हैं, जिससे उन्हें बहुत अधिक स्वीकार्यता और प्रशंसा मिलती है। क्या आप आने वाले वर्ष में अपने पेशेवर प्रतिद्वंद्वियों से आगे निकल जाएंगे? अपना भविष्य जानने के लिए प्राप्त करें 2020 विस्तृत वार्षिक राशिफल।

इसके साथ ही आम तौर पर छठे भाव में सूर्य के मूल निवासी अहंकारी नहीं होते हैं। वे लोगों के साथ आसानी से घुलमिल जाते हैं। उनका समग्र स्वभाव आक्रामक नहीं होता और वे हर किसी के साथ काफी अच्छी तरह से मिलते हैं।

यह भी पढ़ें – कुंडली के पांचवें भाव में सूर्य की महत्ता

नकारात्मक लक्षण/प्रभाव

छठे भाव में सूर्य की उपस्थिति जातक में ऐसे व्यक्तित्व का निर्माण करती है, जो दैनिक क्रियाकलापों में स्वास्थ्य के प्रति केंद्रित होती है। हालाँकि उन्हें इन सब बातों के बारे में जुनूनी न होकर आत्म-सुधर पर ध्यान देना चाहिए। उन्हें शारीरिक और मानसिक रूप से स्वयं का विश्लेषण करना चाहिए और अपनी कमियों और कमजोरियों को दूर कर सम्पूर्णता की और बढ़ाना चाहिए। वे दूसरों को प्रेम और उनकी सेवा करने के गुणों का अभ्यास कर स्वयं की खोज करेंगे।

छठे भाव में सूर्य की उपस्थिति वाले जातक एक नियोक्ता के रूप में काफी कठोर हो सकते हैं। वे बहुत की शासकीय और मांग करने वाले हो सकते हैं। उनके अधीनस्थ उनके साथ काम करना पसंद नहीं करेंगे। जिन लोगों की कुंडली में सूर्य छठे भाव में स्थित होता है कैरियर ज्योतिष के अनुसार वे एक कर्मचारी के रूप में भी मांग करने वाले और अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होते हैं।

इसके अलावा कुंडली में सूर्य की छठे भाव में स्थिति वाले लोग एक संपूर्ण कार्य स्थिति चाहते हैं। इसलिए वे आशा करते हैं कि उनका बॉस भी एक अच्छे पिता की तरह समझदार और सराहनीय हो। लेकिन ऐसा हमेशा नहीं होता और यह बात जातकों को परेशान कर सकती हैं। अपनी जन्मपत्री प्राप्त करें और जाने आपकी सफलता में क्या अड़चनें आ रही हैं।

इसके साथ ही कुंडली के छठे भाव में सूर्य की उपस्थिति वाले जातक अपने कर्तव्य के प्रति बहुत सजग रहते हैं। लेकिन उन्हें इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि वे अपने कर्तव्य का पालन करते हुए अत्यधिक हावी या शोषित न हों। उन्हें अपनी स्वतंत्रता बनाये रखनी चाहिए तथा अपने विचारों और सुझावों को प्रभावी और स्पष्ट रखना चाहिए। उन्हें पारस्परिक मुद्दों पर ध्यान देने के बजाय अपने काम को पूरा करने की दिशा में मन लगाना चाहिए।

निष्कर्ष

कुंडली के छठे भाव में सूर्य की उपस्थिति वाले जातक हमेशा भयभीत और असुविधाजनक स्थितियों से लड़ते रहते हैं और अपने जीवन में सकुशलता और सुरक्षा पाने की कोशिश करते रहते हैं। वे अपने स्वास्थ्य और कल्याण को बहुत महत्व देते हैं। वे एक बहादुर सेनानी और गतिशील नायक की तरह जो अपने और अपने प्रियजनों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए सब कुछ कर सकते हैं।

अपने व्यक्तिगत समाधान प्राप्त करने के लिए, एक ज्योतिषी विशेषज्ञ से बात करें अभी!

गणेशजी के आशीर्वाद सहित,
गणेशास्पीक्स डाॅट काॅम