मेष में शुक्र का राशि परिवर्तन : इन राशियों का होगा भाग्योदय…

 

 

 

शुक्र ग्रह क्या है? शुक्र ग्रह आपके जीवन में संजीवनी का ग्रह है। शुक्र (वीनस) का अर्थ है जीवन की उमंग। शुक्र है जीवन जीने की जड़ीबूटी। शुक्र ज्योतिष के अनुसार मुख्य रूप से जीवन में कला, लालित्य, सौंदर्य, वैभव और विलासिता का ग्रह है। यदि कुंडली में शुक्र कमजोर है तो जीवन में नीरसता बढ़ जाती है। शुक्र अपनी यात्रा के दौरान दिनांक 23-5-2021 से मीन राशि से निकलते हुए अब मेष राशि में प्रवेश (venus in aries ) करेगा। यह  (कृपया ध्यान दें: इन भविष्यवाणियों को चंद्र राशि के अनुसार समझें। परन्तु, इसके कुछ प्रभाव लग्न राशि के लिए भी लागू होंगे। यदि आप अपनी लग्न राशि/ चंद्र राशि जानना चाहते हैं तो अपनी FREE जन्म कुंडली पाइए यहां

आइए, जानते हैं मेष राशि का शुक्र (venus in aries ) 12 भाव में स्थित राशियों पर क्या प्रभाव डालने वाला है

 

मेष राशि

मेष राशि में शुक्र दूसरे और सातवें भाव का स्वामी है। इसका भ्रमण (venus in aries) आपकी राशि के पहले भाव से होगा। दिनांक 26 से 6 जून तक के बीच आपको दांपत्य जीवन, सार्वजनिक जीवन, निजी जीवन और साझेदारी के कामों में सावधान रहना होगा। जबकि 6 से 17 जून की अवधि उपरोक्त मामलों में बहुत उपयोगी होगी। इस समय आप नई भागीदारी या अनुबंध संबंधी निर्णय ले सकते हैं।

क्या आप रिश्ते के मुद्दों का सामना कर रहे हैं? 2022 निजी जिंदगी और संबंध रिपोर्ट खरीदें और इस मामले को हल करें।

 

वृषभ राशि

शुक्र वृषभ के लोगों के लिए पहले और छठे भाव का मालिक बन जाता है। आपके राशि चक्र में इसका भ्रमण (venus in aries ) बारहवें स्थान से होगा। शुरुआत और अंतिम चरण में, आप में शारीरिक और मानसिक चिंता विशेष रूप से रहेगी। बीमार से रहेंगे। नौकरी या व्यवसाय पर कम ध्यान दे पाएंगे। आपके विलासिता में वृद्धि लक्जरी खर्च के रूप में होगी। नौकरचाकर का सुख सामान्य मिलेगा। हालांकि, 6 से 17 जून के दौरान आप इन सभी चीजों में बारहवें स्थान पर शुक्र के प्रभाव के तहत अच्छे परिणाम प्राप्त करेंगे।

क्या आप किसी मुद्दे के बारे में भ्रमित हैं? हम आपकी उलझन दूर कर सकते हैं। कोई भी सवाल पूछेंऔर एक अच्छा निर्णय लें।

 

मिथुन राशि

यहां शुक्र आप के लिए पांचवें और बारहवें भाव का स्वामी बन जाता है। आपकी राशि चक्र के ग्यारहवें भाव में से इसके भ्रमण का मतलब है कि विशेष रूप से प्यार, रिश्ते, बच्चे, वित्त, शेरसट्टे, लॉटरी, वायदा या मुद्रा बाजार में लेनदेन, खेल और धार्मिक मामलों में शुरुआत के और अंतिम चरण में मध्यम फल पाए जाने की संभावना है। जबकि 6 से 17 जून के दौरान आप उत्कृष्ट फल की अपेक्षा कर सकते हैं।

क्या आप अपने वित्तीय मामलों में मार्गदर्शन चाहते हैं? 2022 वित्त रिपोर्ट का लाभ उठाकर अपने भविष्य की कुशलता से योजना बनाएं।

 

कर्क राशि

शुक्र गोचर 2022 (venus in aries ) की चर्चा को आगे बढ़ाते हुए अब हम कर्क राशि की बात करते हैं। कर्क राशि के लोगों के लिए शुक्र चौथे और ग्यारहवें भाव का स्वामी बन जाता है। आपका राशि से इसका भ्रमण दसवें स्थान से होगा। रियल एस्टेट या चल संपत्ति, मां, वाहन, उच्च शिक्षा, आर्थिक मामलों, दोस्तों के साथ संबंध, बड़े भाइयों के साथ संबंध आदि में 6 से 17 जून के बीच आपको अच्छे फल मिलेंगे। लेकिन, विशेषकर शुरुआत में 26 मई  से 6 जून तक और पिछले तीन दिनों में आप ग्रहों की प्रतिकूलता आपको अपेक्षा से कम फल भी दिला सकती है।

यदि आप अपना धन कमाने में असमर्थ हैं, तो हमारे पास आपकी समस्या के समाधान का जरिया है। धनसंपत्तिएक प्रश्न पूछें सेवा की मदद लें और जीवन में आगे बढ़ें।

 

सिंह राशि

आपकी राशि के लिए शुक्र पंचमेश व कर्मेश बनता है। आपकी राशि से नौवें स्थान में इसका भ्रमण आपके भाग्य पर असर डालेगा। विशेष रूप से आपके द्वारा किए गए कार्यों के आधार पर नियति की दृष्टि से शुक्र का गोचर (venus in aries ) आपके लिए महत्वपूर्ण हो जाएगा। 26 मई से 6 जून तक ये छोटे भाईबहनों के साथ संबंधों, विविध प्रवृत्तियों में आपकी रुचि और सहभागिता, पिता के साथ संबंधों और प्रोफेशनल कार्यों में मध्यम परिणाम देगा।

अपने रिश्ते के मुद्दों का निपटारा करें। 2022 निजी जिंदगी और संबंध रिपोर्ट खरीदें और चिंता को मिटाएं।

 

कन्या राशि

कन्या राशि के लिए शुक्र कुंडली (venus in aries) के दूसरे और नौवें भाव का मालिक बन जाता है। आपकी राशि से आठवें भाव से इसका भ्रमण होता है। आर्थिक और पारिवारिक मामलों, आपसे छोटे सालासाली, ननददेवर, भाग्यवृद्धि के अवसर, धार्मिक व्यय आदि के मामलों में 6 जून 2022 तक मध्यम फल मिलेगा। इसके बाद का समय बहुत ही फलदायी रहेगा। हालांकि, पिछले तीन दिनों में आपकी स्थिति पहले की तुलना में थोड़ा कमजोर हो जाएगी। आपको इन मामलों में अच्छे परिणाम मिलेंगे और रिश्तों में भी समाधान निकलेगा। विवाहित लोग अपने साथी के बारे में थोड़ा चिंतित होंगे।

 

तुला राशि

तुला राशि के जातकों के लिए शुक्र ग्रह  पहले और आठवें भाव का स्वामी बन जाता है। यह आपकी राशि से सातवें स्थान से भ्रमण (venus in aries ) करता है। संपत्ति से संबंधित मामले, विपरीत लिंग के प्रति आकर्षण, साथी, स्वास्थ्य कल्याण, मानसिक और शारीरिक स्थिति, विरासत की मिल्कियतों आदि के मामले में शुक्र का गोचर मध्यम फलदायी होगा। आप ऊपर दर्शायी गई चीजों में एक अच्छे फल की उम्मीद कर सकते हैं।

 

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि के लोगों के लिए, शुक्र सातवें और बारहवें भाव का मालिक बन जाता है। आपके राशि से छठे स्थान से इसका भ्रमण हो रहा है। दांपत्य जीवन और सार्वजनिक जीवन, भागीदारी के कार्यों, टीमवर्क के कार्यों कामकाज में सृजन शक्ति और कल्पना शक्ति, आकस्मिक खर्च वगैरह में सामान्य परिणाम मिलेंगे। लेकिन, 6 जून  के बाद आपकी रचनात्मकता बढ़ेगी। आप धीरेधीरे करके बीमारी से बाहर निकल आएंगे। सार्वजनिक जीवन में आपकी गतिविधियां बढ़ेंगी। हालांकि, गणेश जी चेतावनी देते हुए कहते हैं कि आपको अंतिम तीन दिनों में काफी संभालना पड़ेगा। आपको अपनी देखरेख करने की जरूरत रहेगी।

क्या आप किसी चीज को लेकर बहुत दुविधा में हैं? यदि आप कोई भी सवाल पूछें रिपोर्ट का लाभ उठाते हैं तो आप सही समाधान प्राप्त करके अपनी इस दुविधा का हमेशा के लिए अंत कर सकते हैं।

 

धनु राशि

धनु राशि की कुंडली में शुक्र षष्ठेश और लाभेश बनता है। यह आपकी राशि से पंचम भाव यानी त्रिकोण स्थान से भ्रमण करता है। इन दिनों में आपमें रोमांटिक विचार बढ़ेंगे। बड़े भाईबहन, शत्रु, आर्थिक मामलों, दोस्तों के साथ रिश्ते, नौकरचाकर का सुख, ननिहाल के साथ संबंध, नौकरियों आदि में 26 मई 6 जून  तक का समय मध्यम है। लेकिन, उसके बाद आप सर्वश्रेष्ठ परिणाम प्राप्त करने में सक्षम होंगे।

अपने भविष्य की योजना बनाएं। 2022 विस्तृत वार्षिक रिपोर्ट खरीदें और जीवन में आगे बढ़ें।

 

मकर राशि

शुक्र मकर राशि की कुंडली में पांचवें और दसवें भाव का मालिक है। यह आपकी राशि से चौथे यानी सुख स्थान (venus in aries ) से होकर गुजर रहा है। यह समय आपके कर्म क्षेत्र, पिता के साथ संबंध, सत्ता, संतान, लॉटरी, सट्टे, शेयर बाजार, प्रेम संबंध और विद्या वगैरह के मामलों में शुरू और अंत के चरण में मध्यम फल देगा। लेकिन, 6 से 17 जून  तक बेहतर रूप से फलदायी रहेगा।

 

कुंभ राशि

कुंभ राशि में शुक्र लिए चौथे और आठवें भाव का मालिक बन जाता है। वर्तमान में तीसरे यानी पराक्रम के स्थान से यह गुजर रहा है। शुक्र के इस गोचर के कारण आप छोटे भाई बहन, नए साहस, दोस्तों, विभिन्न गतिविधियों, स्वास्थ्य, पुश्तैनी संपत्तियों आदि जैसे मामलों में मध्यम फल प्राप्त कर सकते हैं। शेष समय में आप एक उत्तम पुरस्कार की उम्मीद कर सकते हैं।

 

मीन राशि

मेष राशि में शुक्र राशि परिवर्तन 2022 के तहत मीन राशि में शुक्र तीसरे और आठवें भाव का मालिक है। शुक्र आपकी राशि से दूसरे स्थान यानी धन स्थान (venus in aries ) से निकल रहा है। इस वजह से, आपके वित्त पर इसका प्रभाव विशेष रूप से देखने को मिलेगा। आप 26 मई से 6 जून 2022 तक विभिन्न गतिविधियों में सामान्य रूचि लेंगे। छोटे भाइयों व बहनों के साथ रिश्ते मध्यम होंगे। स्वास्थ्य की थोड़ी बहुत ख्याल रखने की जरूरत है। वसीयत की संपत्ति के मुद्दों में कुछ बाधाएं भी हैं। 

गणेश जी के आशीर्वाद से,

गणेशास्पीक्स.कॉम टीम

अपनी परेशानियों के समाधान के लिए!अब हमारे ज्योतिषी से बात करें।

 

Follow Us