बुध ग्रह करने जा रहा है धनु राशि में प्रवेश! जानिए ये आपकी राशि को कैसे प्रभावित करेगा?

बुध ग्रह करने जा रहा है धनु राशि में प्रवेश! जानिए ये आपकी राशि को कैसे प्रभावित करेगा?

बुध यानि बुद्धि, तर्क और संचार का ग्रह। यह 25 दिसंबर, 2019 को अपनी राशि बदलकर धनु राशि में प्रवेश करने जा रहा है। सप्ताह का एक दिन बुधवार इस ग्रह से संबंधित होता है। यदि किसी जातक की कुंडली में बुध अनुकूल स्थिति में होता है, तो व्यक्ति व्यक्ति लगभग हर क्षेत्र में सफलता प्राप्त करता है। बुध की अनुकूल स्थिति जातक को बेहतर तर्क शक्ति और बुद्धि का उपहार देती है। लेकिन जब बुध किसी हानिकारक ग्रह के संपर्क में आता है तो यह जातक को नकारात्मक रूप से प्रभावित करना शुरू कर देता है। बुश के कमजोर या प्रतिकूल प्रभाव को समाप्त करने के लिए आप एक कुशल ज्योतिषी विशेषज्ञ के परामर्श से पन्ना रत्न धारण कर सकते हैं। अनुकूल रत्न धारण करने के लिए हमारे ज्योतिषी विशेषज्ञ से परामर्श लें अभी!

कब करेगा बुध, धनु रही में प्रवेश?

25 दिसंबर 2019 को शाम 04:15 बजे बुध, धनु राशि में प्रवेश करने जा रहा है। यह 13 जनवरी, 2020, 00:04 बजे तक इसी राशि में गोचर करेगा।

क्या प्रभाव पड़ेगा समस्त राशियों पर बुध के धुन में गोचर का?

राशि चक्र की सभी राशियों पर बुध का स्थायी प्रभाव होगा। कुंडली में स्थिति के आधार पर कुछ राशियों  के लिए यह सकारात्मक होगा तो कुछ के लिए चुनौती पूर्ण भी हो सकता है। चलिए बुध के धनु राशि में इस गोचर के आपकी राशि पर पड़ने वाले प्रभाव को विस्तार से समझते हैं।

(कृपया ध्यान दें: नीचे की भविष्यवाणियों का उल्लेख चंद्र राशि के अनुसार किया गया है।)

मेष जातकों पर बुध के धनु में गोचर का प्रभाव

मेष जातकों की जन्म कुंडली में बुध 9 वें भाव में गोचर करेगा। यह भाव भाग्य और समृद्धि का प्रतीक होता है। इस दौरान आपको कार्यस्थल पर अच्छाई का आशीर्वाद मिलेगा। सम्मान और पुरस्कार बनाए रखने में आपको खुशी मिलेगी। करियर में वृद्धि और प्रगति देख सकेंगे। व्यापार में विस्तार करने के लिए यह अनुकूल चरण होगा। जो व्यवसाय को एक स्तर ऊपर ले जाने में मदद करेगा, जिसमें सुव्यवस्थित भी आपकी सहायता करेंगे। वित्तीय वृद्धि के संदर्भ में यह भाग्य और शुभ घटनाओं का समय होगा। जो आपको आराम और विलासिता का आनंद लेने की ओर ले जाएगा। इस दौरान प्रेम या वैवाहिक संबंधों पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। रिश्तों में चल रही किसी भी समस्या को हल करने में सक्षम होंगे। यह गोचर आपको  सामाजिक रूप से आगे बढ़ने और सम्मान अर्जित करने में मदद करेगा। उच्च शिक्षा के लिए यह एक अच्छा चरण है। वांछित परिणाम प्राप्त करने में बढ़िया तर्क आपकी सहायता करेंगे। आपकी ऊर्जा का स्तर उच्च होगा। जीवन शक्ति हासिल कर और अधिक उत्पादक होने की संभावना है।

वृषभ जातकों पर बुध के धनु में गोचर का प्रभाव

वृषभ जातकों की जन्म कुंडली में बुध का परागमन 8 वें भाव में होगा। यह घर प्रतिकूलताओं का प्रतिनिधित्व करता है। इसलिए कार्यस्थल पर अपने वरिष्ठों से संवाद करते समय शब्दों का बुद्धिमानी के साथ उपयोग करें। आक्रामक या हिंसक होने से बचें नहीं तो यह आपको परेशानी में डाल सकता है। अच्छी बात ये है कि आप धीरे-धीरे एक सकारात्मकता का भाव देखेंगे। व्यवसाय में कुछ बाधाओं का सामना करने की संभावना है। मुद्दों से बचने के लिए,व्यवसाय में सतर्क और चौकस रहें।

वित्त मामलों या निवेश को सावधानी से संभालने की सलाह दी जाती है। अनावश्यक रूप से संसाधनों को बर्बाद करने की प्रवृत्ति के कारण इस दौरान कड़े अनुशासन की पालना करनी होगी। रिश्तों को मजबूत बनाने के लिए इस दौरान आपको उनमें सुधार लाने के उपाय करने होंगे। दिसंबर माह में ही मंगल और सूर्य के परागमन के साथ यह आपके पक्ष में काम कर सकता है। बेहतर स्वास्थ्य बनाये रखने के लिए अभी आपको सावधानी बरतनी होगी। ऊर्जा स्तर में कुछ उतार-चढ़ाव हो सकते हैं। इसलिए, पौष्टिक आहार लेने के साथ आपको खान-पान की आदतों में भी सुधार लाने की सलाह दी जाती है। बुध के इस धनु राशि में परागमन के दौरान अपनाये जाने वाले उपायों के बारे में जानने के लिए आप हमारे विशेषज्ञ ज्योतषियों से परामर्श कर विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

मिथुन जातकों पर बुध के धनु में गोचर का प्रभाव

मिथुन जातकों की जन्म कुंडली में बुध 7 वें भाव में गोचर करेगा। यह भाव साझेदारी और शादी के लिए उत्तरदायी होता है। इस दौरान आपको करियर में प्रगति के अच्छे अवसर प्राप्त होंगे। वास्तविक या व्यावहारिक परिणाम प्राप्त करने की इच्छा आपको सफलता की ओर ले जाएगी। इसलिए मिलने वाले अवसरों का लाभ उठायें। व्यवसाय के लिए यह अत्यंत महत्वपूर्ण होगी। इस दौरान आप कई सौदों पर बातचीत करने में व्यस्त रह सकते हैं। अच्छी मात्रा में मांग बढ़ने से बिक्री में भी वृद्धि होगी। आर्थिक वृद्धि के साथ-साथ मन की शांति भी मिलेगी। यह भाग्य और सबकुछ अच्छा होने का समय है। जो आपको अंततः विलासिता और आराम का आनंद लेने में मदद करेगा। अपने साथी के साथ भावनात्मक और मृदुभाषी होंगे। आनंद लेने वाली गतिविधियों की ओर भी आपका झुकाव होगा। इस दौरान साथी से भी आपको समर्थन मिलेगा। परागमन के दौरान आपका ऊर्जा स्तर बना रहेगा, जो थकान से बचाएगा। छात्रों को बेहतर अध्ययन में सहयोग मिलेगा। समय सारणी के अनुसार पढ़ाई कर पाएंगे और ध्यान केंद्रित रहेगा।

यह भी पढ़ें – जानिए सूर्य ग्रहण आपको किस प्रकार प्रभावित करेगा?

कर्क जातकों पर बुध के धनु में गोचर का प्रभाव

कर्क जातकों की जन्म कुंडली में बुध छठे भाव में गोचर करेगा। यह घर नौकरियों या दुश्मनों का प्रतिनिधित्व करता है। इस परागमन के दौरान आप कार्यस्थल पर काम के दबाव का अनुभव कर सकते हैं। समय पर काम करने में थोड़ी कठिनाई होगी। इसलिए तनाव करने के लिए बीच-बीच में थोड़ा आराम करने की जरुरत होगी। व्यापारियों के लिए यह बहुत ही महत्वपूर्ण समय होगा। इस दौरान व्यावसायिक उन्नति के अधिक अवसर प्राप्त होने की संभावना है। बातचीत के दौरान आप उत्पादक होंगे।

वित्त के संदर्भ में, यह अवधि काफी अस्थिर लग रही है। ख़र्चों के प्रति आपको सतर्क रहने की आवश्यकता होगी। यह परागमन आपकी वित्तीय योजना को प्रभावित कर सकता है। जीवनसाथी और पारिवारिक सदस्यों के साथ अनावश्यक बहस से बचें। इस अवधि में निजी जीवन से जुड़ी कुछ समस्याएं आ सकती हैं। इसलिए शांत रहें और छोटी-छोटी समस्याओं से पड़ने से बचें। हो सकता है आप अपने स्वास्थ्य को लेकर अधिक सजग न हों। इसलिए नियमित रूप से योग और प्राणायाम करना आवश्यक है। उचित ध्यान और एकाग्रता की कमी के कारण छात्रों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए समय पर अध्ययन करने के लिए समय सारणी बनायें।

सिंह जातकों पर बुध के धनु में गोचर का प्रभाव

सिंह जातकों की कुंडली में बुध 5 वें गोचर करेगा। यह पांचवां भाव प्रेम का भाव होता है। इस दौरान आपको प्रियजनों से ख़ुशियाँ मिलेंगी। आस-पास के लोगों के साथ बेहतर समय बिता कर व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन को संतुलित कर पाएंगे। विरोधी आपको नुकसान पहुँचाने के प्रयासों में सफल नहीं हो पाएंगे। एक शक्तिशाली व्यक्ति के रूप में उभर कर इस दौर पर हावी रहेंगे। परागगमन के समय व्यावसायिक उन्नति के लिए अपने धन का उपयोग करना अनुकूल साबित होगा। इसलिए प्रयासों को बढ़ाने के लिए इस समय का बेहतर उपयोग करें। यह भाग्यशाली समय होगा और आर्थिक लाभ मिलेंगे। वित्तीय मामलों को अधिक कुशलता से प्रबंधित करने में सक्षम होंगे। स्वास्थ्य और आराम के मामले में आनंदित रहेंगे। छात्रों को अपनी प्रतिभा दिखने के अवसर मिलेंगे। आंतरिक और रचनात्मक विचारों को व्यक्त करने से वांछित परिणाम प्राप्त करने में लाभ होगा।

कन्या जातकों पर बुध के धनु में गोचर का प्रभाव

कन्या जातकों की जन्म कुंडली में बुध का परागमन चौथे भाव में होगा। इस दौरान आपको पेशेवर मामलों में वृद्धि मिलेगी। प्रयास करने पर मान्यता और उपलब्धियाँ प्राप्त होंगी। व्यवसायीयों द्वारा पूर्व में किये गए कठिन प्रयास परिणाम देने लगेंगे। आसपास के लोगों से सहयोग मिलेगा। ग्रहों की स्थिति परिणाम उन्मुख कार्यों के लिए अनुकूल होगी। अधिकांश सुख और सांसारिक वस्तुओं का आनंद ले सकेंगे। आर्थिक इच्छाएं पूरी होंगी और अच्छे लोगों के जुड़े रहेंगे। वैवाहिक या प्रेम संबंधों में चल रही समस्याएँ हल हो जाएँगी। चाहने वाले आपका समर्थन करेंगे। परागमन के दौरान आपके जीवन में आनंद ही आनंद आएगा। शारीरिक गतिविधियों में संलग्न होकर उत्साह और मन की शांति को बनाए रखेंगे। स्वास्थ्य के स्तर में सुधार होने की संभावना है। विद्यार्थी भी अच्छा प्रदर्शन करेंगे और कठिन परिश्रम के बल पर अच्छे परिणाम प्राप्त करेंगे।

विवाह के लिए या वैवाहिक जीवन में समस्याओं का सामना कर रहे हैं, तो समाधान पाने के लिए हमारे ज्योतिषी विशेषज्ञों से विवाह कुंडली प्राप्त करें और समस्याओं से छुटकारा पाएं अभी!

तुला जातकों पर बुध के धनु में गोचर का प्रभाव

तुला जातकों की कुंडली में बुध का परागमन तीसरे भाव में होगा। यह भाव संचार और साहस का प्रतीक है। इसलिए परागमन के दौरान आप साहस के साथ सभी मुद्दों का सामना कर पाएंगे। साथ ही कार्यस्थल पर पुरस्कार भी प्राप्त कर पाएंगे। आपकी दृढ़ता पेशेवर जीवन में आगे बढ़ने में मदद करेगी। व्यावसायिक व्यक्तियों को प्रयासों में उच्च वृद्धि हासिल करने की एक मजबूत संभावना है। अपने अनुभव की मदद से काम करने का अवसर प्राप्त करेंगे। आपकी वित्तीय योजना बाधित होने की संभावना है। इसलिए कोई भी वित्तीय योजना बनाने से पहले अच्छी तरह से सोच विचार करें। प्रेम और वैवाहिक संबंधों में खुशी और आनंद की अनुभूति होगी। अपने साथी के प्रति भावनाएं व्यक्त करने में सक्षम होंगे। अंतत: यह अवधि सकारात्मक प्रभाव डालेगी। सकारात्मक मानसिकता आपको अच्छे स्वास्थ्य की ओर ले जाएगी। गोचर की अवधि में आप स्वस्थ और तंदुरुस्त रहेंगे। विद्यार्थी वर्ग को जीवन के विभिन्न क्षेत्रों की खोज करके सीखना होगा। उच्च शिक्षा पाठ्यक्रमों में अनुसंधान या परियोजना से संबंधित कार्यों के लिए यात्रा या छोटी यात्राओं की उच्च संभावनाएं हैं।

वृश्चिक जातकों पर बुध के धनु में गोचर का प्रभाव

वृश्चिक जातकों की जन्म कुंडली में बुध का परागमन में दूसरे भाव में होगा। यह भाव वित्त और परिवार का प्रतीक है। इस दौरान कार्यस्थल पर ग़लतफ़हमी के कारण कुछ मुद्दों और बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए, कार्यों को पूरा करने के लिए अपने स्वभाव पर नियंत्रण रखें और समझदारी से काम लें। व्यावसायिक गतिविधियों की गति बढ़ाने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। व्यवसाय चलाने के लिए एक स्पष्ट और परिभाषित रास्ता अपनाएं नहीं तो दिशाहीन हो सकते हैं। परागमन के दौरान आर्थिक रूप से दबाव पड़ सकता है। इसलिए सावधानीपूर्वक विचार और मार्गदर्शन के बाद ही निवेश की योजना बनायें। भौतिक वस्तुओं पर धन खर्च होने की संभावना है। इसलिए ग़ैर ज़रूरी साधनों में शामिल होने से बचें। प्रेम और वैवाहिक जीवन में अशांति हो सकती है। घर में बैचेनी महसूस कर सकते हैं, इसलिए कुछ समय अकेले में बिताने की कोशिश करनी चाहिए। यह आपको भावनाओं को शांत करने और चिंतन करने में मदद करेगा। स्वास्थ्य संबंधी पुराने मुद्दों से आपको सावधान रहने की आवश्यकता है। अपनी दिनचर्या के दौरान आराम करने से स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद मिलेगी। विद्यार्थी अपनी पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित कर पाएंगे और परीक्षा में अनुकूल परिणाम प्राप्त कर पाएंगे।

धनु जातकों पर बुध के धनु में गोचर का प्रभाव

चूँकि बुध का परागमन धनु राशि में ही हो रहा है। इसलिए धनु जातकों की जन्म कुंडली में बुध प्रथम भाव में गोचर करेगा। यह परागमन कई सकारात्मक पहलुओं से रूबरू कराएगा। कार्यालय में वरिष्ठ व्यक्तियों का साथ मिलेगा। करियर में वृद्धि के लिए कुछ अच्छे अवसर मिलने की संभावना है।  व्यावसायिक गतिविधियों में तेजी लाने में सक्षम होंगे। नई परियोजना शुरू करने और दूसरों पर अपनी छाप छोड़ने का अच्छा समय है। कमाई के कुछ बेहतरीन अवसर मिलने की संभावना है। आप विभिन्न वित्तीय गतिविधियों में शामिल हो पाएंगे। जो आपकी वित्तीय शक्तियों को और बढ़ाएंगे। इस अवधि में परिवार में शांति की कमी होगी। कई मामलों पर साथी के साथ मतभेद भी हो सकते हैं। इसलिए, एक शांत और संयोजित तरीके से मुद्दों से निपटने की आवश्यकता है। आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत रहेगी। ग्रहों की स्थिति शारीरिक गति विधि के माध्यम से दिमाग को केंद्रित करने के लिए प्रेरित कर सकती है। छात्रों में संचार कौशल और तर्क शक्ति बढ़ने दूसरों के साथ जुड़ने में मदद मिलेगी। साथ ही अपनी शंकाओं को दूर करने और अवधारणाओं को समझने में सक्षम होंगे।

हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों द्वारा अपना व्यक्तिगत राशिफल प्राप्त करें और अपने करियर में सफ़लता पाएं।

मकर जातकों पर बुध के धनु में गोचर का प्रभाव

जातकों की जन्म कुंडली में बुध 12 वें भाव में गोचर करेगा। यह व्यय और ख़र्च का भाव है। इस दौरान कार्यालय में आपकी प्रतिस्पर्धा में वृद्धि होगी। यह थोड़ा मुश्किल समय होगा। सफलता प्राप्त करने के लिए आपको रास्ते में आने वाली बाधाओं को पार करना होगा। व्यापारी लोग इस दौरान अनावश्यक सौदे न करें, और किसी भी प्रकार के अप्रत्याशित मुद्दे  प्रति सावधान और तैयार रहें। प्रतिबद्धताओं को पूरा करने के लिए समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि धन की आमद कम हो सकती है। इस दौरान लाभ के लिए अति-महत्वाकांक्षी होने से बचें। प्रेम और वैवाहिक जीवन में धीरे-धीरे बेहतरी महसूस करेंगे। वाक्पटुता की मदद से अपने संबंधों का आनंद उठा पाएंगे। इस दौरान अपने तनाव स्तर को नियंत्रित रखने का सुझाव दिया जाता है। व्यस्तता के कारण नियमित व्यायाम और कार्य प्रभावित हो सकते हैं। छात्र, उच्च शिक्षा के लिए विदेश जाने की सोच सकते हैं।

यह भी पढ़े: मंगल करने जा रहा है वृश्चिक राशि में प्रवेश, क्या ये आपके लिए मंगलकारी होगा?

कुंभ जातकों पर बुध के धनु में गोचर का प्रभाव

कुंभ जातकों की जन्म कुंडली में बुध 11 वें भाव में गोचर करेगा। यह भाव लाभ और भलाई का प्रतिनिधित्व करता है। इस दौरान आप कार्यस्थल पर बेहतर कर पाएंगे और सफलता प्राप्त करेंगे, और समस्त जिम्मेदारियों को समझदारी से संभालेंगे। ग्राहकों और सहयोगियों के लिए विशेष विचार प्रस्तुत करने का यह एक आदर्श समय है। आत्मविश्वास में वृद्धि और नए उत्साह से लाभ मिलेगा। बिक्री के लिए नए क्षेत्र का पता लगाने के लिए यह सहायक समय है। इस दौरान धन और भौतिक लाभ प्राप्त मिलने से वित्तीय स्थिति संतोषजनक रहेगी। प्रेम जीवन बेहतरीन रहेगा। कुछ पुरानी समस्याओं का समाधान। इस दौरान सकल रूप से आपके व्यक्तिगत जीवन को बढ़ावा मिलेगा। कुछ असहजता से सिरदर्द हो सकता है। स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए नियंत्रित और पौष्टिक आहार लेने का सुझाव दिया जाता है। छात्रों को पढ़ाई में उत्कृष्टता प्राप्त करने की बहुत इच्छा होगी। आपके परिणाम भी आपको सम्मान दिलाने में मदद करेंगे।

नव वर्ष राशिफल 2020 की सहायता से करियर, धन के संदर्भ में बेहतर बनाएं।

मीन जातकों पर बुध के धनु में गोचर का प्रभाव

मीन जातकों की जन्म कुंडली में बुध का गोचर 10 वें घर में होगा। यह घर कैरियर या पेशे का प्रतिनिधित्व करता है। इस दौरान आपको जल्दबाजी में कैरियर सम्बन्धी कोई भी निर्णय लेने से बचना चाहिए। वरिष्ठों को आपसे अधिक मेहनत की उम्मीद रहेगी। व्यवसाय में सफलता पाने के लिए अधिक प्रयास करने होंगे। कुछ परिस्थितियों में चीजों के अनुचित तरीके से बढ़ने का एहसास कर सकते हैं। उद्देश्य प्राप्ति के लिए सतर्क रहने और कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता है। नए व्यावसायिक सौदे वित्त में वृद्धि करेंगे। विभिन्न माध्यमों से धन प्राप्ति की संभावना है। इस दौरान पैसे की बेहतर आवक की उम्मीद कर सकते हैं। अपने प्रियजनों को पर्याप्त समय नहीं दे पाएंगे। लालचों पर धैर्य-पूर्वक नियंत्रण में रखने और सामाजिक और पारिवारिक जिम्मेदारियों पर अधिक ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है। अपने जीवन में फिर से नियमितता हासिल करेंगे। खुद को स्वस्थ रखने के लिए अधिक ऊर्जा और प्रेरणा की भावना होगी।  यह अवधि छात्रों को अकादमिक उम्मीदों पर खरा उतरने में मदद करेगी। सभी प्रयासों में काफी सफलता मिलेगी।

ग्रहों का गोचर या परागमन प्रत्येक व्यक्ति पर बहुत प्रभाव डाल सकता है। वृश्चिक राशि में मंगल का गोचर आपकी राशि को कैसे प्रभावित करेगा? और जीवन की सभी समस्याओं से निपटने के लिए हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषियों की मदद लें।

अपने व्यक्तिगत समाधान प्राप्त करने के लिए, एक ज्योतिषी विशेषज्ञ से बात करें अभी!

गणेश की कृपा से,

गणेशस्पीक्स.कॉम टीम

24 Dec 2019

View All blogs

Follow Us